ताज़ा ख़बर

LIVE TV

VICHAR NEWS

*बड़ी खट्टाली~घरों में रहकर परिवार के लोगों के साथ  बड़ी सादगी से मना ईद का त्योहार*~~

*नगर में आज ईद- ईद-उल-फितर   मुस्लिम समाज ने सादगी से मनाई*~~

बड़ी खट्टाली~ मुस्लिम समाज ईद-उल-फितर की नमाज शासन के निर्देशानुसार  एक इमाम और चार अन्य लोगों ने मस्जिद में पढ़ी नमाज । बाकी मुस्लिम भाइयों ने ईद उल फितर की नमाज घर पर रहकर ही पड़ी। लॉक डाउन के चलते मुस्लिम समाज ने ईद उल फितर ईद की बधाई का दौर पुरे दिन भर फोन व मोबाइल पर एक दूसरे को दी मुबारकबाद दी जैसे कि पूरे देश में दी गई।

ईद-उल-फितर-का-महत्व

रमजान के पाक माह में व्यक्ति गर्मियों में भूख-प्यास बर्दाश्त करता है, उसी प्रकार जीवन में घटने वाली सभी परिस्थितियों को बर्दाश्त करना होता है। ईद उल-फितर त्याग की भावना समझता है, यह पर्व बताता है कि इंसानियत के लिए अपनी इच्छाओं का त्याग करना चाहिए, ताकि एक बेहतर समाज को बनाया जा सके। हमेशा भाईचारे के साथ रहना चाहिए।

*जानें- ईद उल-फितर का मकसद*

पवित्र कुरान के अनुसार, रजमान के महीने में रोजे रखने के बाद अल्लाह अपने बंदों को बख्शीश और इनाम देता है।  बख्शीश और इनाम के इस दिन को ईद-उल-फितर कहा जाता है। इस दिन लोग गरीबों और जरूरतमंदों की मदद करने के लिए एक खास रकम निकालते हैं, जिसे जकात (दान) कहते हैं। इस जकात उनकी जरूरतों को पूरा किया जाता है और जिससे इस पर्व का बराबरी का मकसद पूरा हो सके।

*ईद से पहले जकात और फितरा देने का महत्व*

ईद की नमाज से पहले सभी मुसलमानों पर फर्ज है कि वे अपनी हैसियत के हिसाब से जरूरतमंदों को दान दें. रमजान के महीने में ये दान दो रूप में दिया जाता है, फितरा और जकात. रमजान के महीने में ईद से पहले फितरा और जकात देना हर हैसियतमंद मुसलमान पर फर्ज (जरूरी) होता है. दरअसल, इस्लामिक मान्यताओं के मुताबिक, अल्लाह ने ईद का त्योहार गरीब और अमीर सभी के लिए बनाया है. गरीबी की वजह से लोगों की खुशी में कमी ना आए इसलिए अल्लाह ने हर संपन्न मुसलमान पर जकात और फितरा देना फर्ज कर दिया है. हालांकि, लोग अपनी हैसियत के हिसाब से कम या ज्यादा दान गरीबों में दे सकते है, ताकि, ईद का त्योहार सभी लोग खुशी से मना सकें।
   इस मौके पर प्रशासनिक अमला पूरी तरह से मुस्तेद रहा। राजस्व विभाग से ग्राम पटवारी नितेश अलावा तथा पुलिस विभाग से चौकि प्रभारी कुलदीप सिह राठौड़,सोबरन सिह पाल,व समस्त पुलिस कर्मीयो ने ईद के मौके पर शासन के निर्देशानुसार सोशल डिस्टेंसिग का पालन कराते हुए समाज जनो को ईद त्योहार की शुभकामनाएं दी।


VICHAR NEWS

बड़वानी~वर - वधु ने समझाया मास्क एवं सेनेटाइजर का महत्व~~

बड़वानी  / ईद के दिन निवाली में एक अनोखी शादी देखने को मिली, जिसमे ना बैंड बाजा था ना ही घोडा । वही वर - वधु ने फेरे के पहले अपने परिवार के सदस्यों को मुंह पर मास्क लगाने एवं सेनेटाइजर से हाथ धोने का महत्व बताया । जिससे सभी कोरोना वायरस के महामारी से सुरक्षित रह सके ।
ईद के दिन सोमवार को निवाली निवासी डॉ जया माली एवं डॉ लोकेंद्र माली का विवाह सादगी के साथ सम्पन्न हुआ । दोनो परिवार के सीमित सदस्यो की उपस्थिति में सम्पन्न इस विवाह के दौरान जहाॅ सभी ने मुंह पर मास्क लगाकर रखा था वही सोशल डिस्टेंस का भी पालन करा । वर - वधु ने अपने इष्ट मित्रों से बधाईयाॅ भी सोशल मीडिया के माध्यम से ही प्राप्त कर उनका आभार व्यक्त किया ।


VICHAR NEWS

बड़वानी~थाना बड़वानी पुलिस ने ग्राम नानी बड़वानी में अंधेकत्ल का 24 घण्टे में किया खुलाशा,पिता ही निकला हत्यारा,~~

दिनांक 24.05.20 को फरियादी सुरेश पिता धुमसिंग भील नि. ग्राम नानी बड़वानी ने थाना हाजीर आकर रिपोट
किया की मैं वाणीयाझिरा फल्या नानी बड़वानी रहता हुँ ।आज सुबह करीब साढ़े छः बजे मेरा बाप धुमसिंग मेरे घर आया
और बताया कि दयाराम खाट पर पड़ा है और मर गया है। तो मैं तथा छोटा भाई रकमसिहं ,बहन हिरुबाई देखने गये।
देखा दयाराम खाट पर मरा पड़ा था और उसकी छाती में चोट के निशान तथा गले में गला घोटने के निशान है । किस
अज्ञात व्यक्ति ने आज रात में मेरे बिच के भाई दयाराम का गला घोट कर हत्या कर दी है। भाई दयाराम की लाश उस
घर खाट पर पड़ी है रिपोर्ट करता हुँ रिपोर्ट पर अपराध क्र. 290/20 धारा 302 भादवि का पंजीबद्ध कर विवेचना में लि-या
गया।
मामले की गंभीरता को देखते हुये पुलिस अधीक्षक श्री डी.आर. तेनीवार ने थाना प्रभारी श्री टी.आई. राजेश यादव को अज्ञात आरोपी की जल्द से जल्द पतारासी कर गिरफ्तार करने के निर्देश दिये गये जिस पर थाना बड़वानी के थाना प्रभारी
टी.आई. श्री राजेश यादव ने पुलिaस अधीक्षक बड़वानी के निर्देशन एंव अति पुलिस अधीक्षक श्रीमती सुनिता रावत, एसडीओपी
श्री अत्तरसिंह जमरा के मार्गदर्शन में एफ.एस.एल. अधिकारी बी.एस बघेल, टी.आई.राजेश यादव ने उनि शिवराम निर्वेल,उनि लखनसिंह za qa बघेल, उनि एस.एस. रघुवंशी, प्रार, 205 शिवराम चौहान, आर. जगजोध, अंतरसिंह, बलविर, सुरेन
गेंदालाल, आर. योगेश पाटील, की टीम गठीत कर स्वयं उक्त टीम के साथ घटना स्थल पहुंचकर घटना स्थल hai T बारिकी
से निरीक्षण कर वैज्ञानिक, मनोवैज्ञानिक एवं तकनिकी माध्यम से अज्ञात आरोपी की पतारासी करते एवं घटना स्थल के
आसपास भोतिक साक्ष्य तलाश करते मृतक की लाश उसके घर की खाट पर पड़ी होने से व मृतक के गले में गमछे
फांसी लगाकर तथा गले में व सिने पर दराते की चोट के निशान पाये गये तथा फांसी लगाने का गमछा भी पास में
जलाया हुआ मिलने पर टीम को अज्ञात आरोपी(हत्यारा) आसपास का ही होने की शंका होने पर आसपास के लोगों से
पुछताछ की गई तथा मृतक दयाराम की पत्नि ललिताबाई से भी पुछताछ की गई लेकिन पहले तो वह कुछ भी बताने
डर रही थी लेकिन फिर टीम ने मृतक की पत्नि से वैज्ञानिक एवं मनोवैज्ञानिक तरिके से लगातार पुछताछ करने पर मृतक
की पत्नि ने बताया की रात के समय उसके पति और ससुर धुमसिंग पिता दगड़ीया भील उम 55 वर्ष नि. ग्राम नानी बड़वानी वाणीयाझीरा फलिया का शराब के नशे झगड़ा हुआ था और धुमसिंग अपने लड़के दयाराम से शराब पीने के लियेऔर खर्च पानी के लिये पैसे मांग रहा था जो दयाराम के मना करने पर दोनो के बिच हाथापाई चालु हो गई और दयाराम
अत्यधिक शराब के नशे में था जो ठीक से चल भी नहीं पा रहा था एवं धुमसिंग ने कम शराब पी रखी थी जो झगड़े दौरान धुमसिंग ने शराब के नशे में गुस्से में आकर दयाराम के गमछे से ही उसका गला घोट दिया और गला घोटने के बाद ,दयाराम के कपड़े उतारने के बाद खटिया पर लिटा दिया एवं उसके बाद दराते से कई बार उसकी गर्दन एवं सिने पर वार किये और धुमसिंग को लगा की दयाराम मर चुका है तब वह पीछे बने अपने मकान के बाहर खटिया पर जाकर सो गया एवं सुबह जब उसको दयाराम के मरने की सुचना दी गई तो वह अनजान सा बनकर खुद ही थाने पर रिपोर्ट लिखाने पहुंच गया
मृतक की मां एवं पत्नि ने बताया की बाप - बेटे का अकसर झगड़ा हुआ करता था और तीन वर्ष पूर्व भी पिता धुमसिंग ने दयाराम को सिर में गहरी चोट पहुंचाई थी जिससे दयाराम तीन दिन अस्पताल में भर्ती रहा था ।आरोपी धुमसिंग से टीम ने
जब वैज्ञानिक एवं मनोवैजिक तरिके से पुछताछ कर घटना दिनांक की उसकी  दिनचर्या के बारे में पुछा तो उसके द्वारा  जो जानकारी
दी गई थी जिसकी टिम के द्वारा तस्दीक की गई तो पुरी जानकारी झुठी होना पाई गई। तब पुलिस का शक यकिन में
बदल गया और अततः धुमसिंग ने भी जुर्म करना स्वीकार किया। बाद उक्ट टीम द्वारा आरोपी धुमसिंग पिता दगड़ी
भील उम 55 वर्ष नि. ग्राम नानी बड़वानी वाणीयाझीरा फलिया को गिरफ्तार कर थाना लाया गया। जिसे न्यायालय बड़वानि
पेश किया जावेगा।
एसपी  ने उक्त टीम को  पुरस्कृत करने की घोषणा की है


VICHAR NEWS

*झाबुआ~खुशियो को देश के लिए किया कुर्बान*~~

*एक महीने की इबादत के बाद की विशेष नमाज, ईदगाह पर नहीं कि अदा*~~

झाबुआ से जिला ब्युरो दशरथ सिंह कट्ठा...9685952025~~

झाबुआ - दोपहर की भरी गर्मी में बड़े बुजुर्ग और महिला और बच्चों के साथ मुस्लिम समाज के द्वारा रमजान का चांद देखने के बाद एक माह तक रोजे रखकर ईद उल फितर की नमाज घरों में सादगी से अदा की ।इस दौरान स्थानीय ईदगाह पर ईद की नमाज कोरोना वायरस के कारण नहीं पढ़ी गई ।सैकड़ों की संख्या में मुस्लिम समाज ने अपने अपने घरों में देशहित और आमजन के लिए नमाज पढ़कर दुआओं का सिलसिला जारी रखा गया।मुस्लिम समाज द्वारा स्थानीय लोगों को अपने घर पर इस बीमारी से बचने के लिए व्यक्तिगत तौर पर दुआओं का आग्रह किया गया था।जिसमें मासूम बच्चों ने भी नए नए कपड़े पहनकर खुशियां मनाने के बजाय देश के लिए दुआ मांगी ।बड़ी तादाद में मासूम बच्चों और महिलाओं ने अपने घर के बुजुर्गों के साथ खुदा से दुआ मांग कर इस बीमारी को इस मुल्क से बाहर करने और हमेशा के लिए खत्म करने  के लिए विशेष प्रार्थना और दुआ की। मस्जिद अबरार के मौलाना महबूब  व मस्जिदे नूर ए मोहम्मदी के पेश इमाम हाफिज रिजवान साहब ने इस दौरान पूरे मुल्क में अमन शांति और इस बीमारी से पूरे मुल्क को निजात मिले, इसके लिए विशेष तौर पर नमाजो के बाद पूरे माह में दुआओं का सिलसिला जारी रखा । ईद की नमाज जैसा कि निर्देश दिया गया था कि 5 लोग पढ़ेंगे उसी निर्देश के के अनुसार नमाज पढ़कर दुआ मांगी गई ।
बच्चों का नए नए कपड़े पहन कर किलकारी मारना, मीठी सेवइयां का एक दूसरे के घरों पर आदान प्रदान करना, गले मिलना ,मुसाफा करना और उत्साह के साथ ईदगाह पर जाना, वहां जाकर नमाज पढ़ना ,सभी खुशियां खत्म होकर ।सादगी पुणे माहौल में ईद उल फितर का त्यौहार अपने अपने घरों में मनाया गया । वहीं दूसरी ओर सभी समाज के लोगों ने अपने अपने दोस्तों को मोबाइल पर ईद की शुभकामनाएं दी।


VICHAR NEWS

अजड़ ~तहसीलदार ने किया सेलून और ब्यूटी पार्लर का निरीक्षण~~

सतीश परिहार अजड़~~

कोरोना संक्रमण के बचाव को लेकर तहसीलदार राजेश कोचले ने नगर के हेयर कटिंग सैलून ब्यूटी पार्लर केंद्रों का औचक निरीक्षण किया। इस मौके पर तहसीलदार ने कटिंग सेलून संचालकों को सख्त हिदायत दी कि यहां आने वाले ग्राहकों से सुरक्षित शारीरिक दूरी बनाए रखे। साथ ही कार्य के दौरान मास्क का आवश्यक रूप से उपयोग करें।

तहसीलदार श्री कोचले ने निरीक्षण करते हुए कहा कि आपके प्रतिष्ठान पर जो भी ग्राहक आते है, उनसे सुरक्षित दूरी बनाए रखे। 

1- बुखार जुखाम खांसी एवं गले में खराश वाले व्यक्तियों को प्रवेश नहीं दिया जाएगा।
2-  हैंड सेनीटाइजर की प्रवेश द्वार पर उपलब्धता एवं उसका उपयोग किया जाना होगा ।
3- सभी केश शिल्पियों एवं स्टाफ के लिए फेस मास्क हैण्ड कवर एवं एप्रोन का उपयोग हर समय अनिवार्य होगा ।
4- प्रत्येक ग्राहक के लिए प्रथक से डिस्पोजेबल तोलिए/ पेपर उपयोग में लाया जाएगा ।
5- सभी औजारों एवं उपकरणों को एक बार उपयोग करने के उपरांत सैनिटाइज करना अनिवार्य होगा ।
6-प्रत्येक हेयर कट के उपरांत स्टाफ को अपने हाथ सैनिटाइज करना होंगे ।
7- सभी कामन एरिया फर्श लिफ्ट लाउंज हेंडरेल्स सीढ़ियों को डिसइंफेक्शन किया जाना अनिवार्य होगा।
इतना ही नहीं ब्यूटी पार्लर, सैलून पर भीड़भाड़ ना अन्यथा सैलून संचालकों के विरूद्व दंडात्मक कार्रवाई की जाएगी। आगामी आदेश तक के लिए बंद भी किए जाएंगे। इस मौके पर राजस्व विभाग के अन्य अधिकारी भी मौजूद रहै।


VICHAR NEWS

धार/सरदारपुर -: एजुकेट गर्ल्स संस्था ने अपने स्वयंसेवी (टीम बालिका) के साथ किया ऑनलाइन मीटिंग का आयोजन~~

मोहन पुरोहित की रिपोर्ट Mo.9977526447~~

बालिका शिक्षा के क्षेत्र में कार्यरत संस्था एजुकेट गर्ल्स धार द्वारा आज सरदारपुर ब्लॉक में अपनी  टीम बालिका के साथ ऑनलाइन मीटिंग का आयोजन किया।जिसमे 60 टीम बालिकाओ ने सहभागिता की।सभी टीम बालिका को कोविड-19 संक्रमण,शासन की विभिन्न योजनाओं की जानकारी, व इस सत्र में 6-14 वर्ष तक के बच्चो को कैसे शिक्षा की मुख्यधारा से जोड़ सकते हैं  व ग्राम स्तर पर समुदाय को कोरोना संक्रमण पर बचाव हेतु कैसे जागरूक किया जा रहा है पर विस्तृत चर्चा की। उल्लेखनीय है कि संस्था धार जिले के 1249 गावों में कार्यरत है जहां संस्था का प्रतिनिधित्व संस्था के स्वयंसेवी टीम बालिकाएं करती है। इन टीम बालिकाओं का नारा है मेरा गांव, मेरी समस्या, में ही समाधान। इसके चरितार्थ कर टीम बालिकाए इस महामारी के समय में भी जनजागरूकता हेतु कार्य कर शासन की विभिन्न योजनाओं के प्रचार-प्रसार से समुदाय को लाभांवित कर रही है।मीटिंग में जिला कार्यालय धार से डीपीओ राहुल बड़ोनिया, टीओ गौरव पांडे, इम्पैक्ट अस्सिस्टेंट अर्जुन उपस्थित थे। ब्लॉक स्तर से प्रोग्राम अस्सिस्टेंट वीरेंद्र सिंह ब्लॉक ऑफिसर विकास मारू व कमलेश निरवेल व सभी क्षेत्रीय समन्वयक उपस्थित रहे।                                              ब्यूरो रिपोर्ट मोहन पुरोहित जिला ब्यूरो धार !


VICHAR NEWS

अंजड~विश्वव्यापी कोरोना महामारी निवारण आध्यात्मिक प्रयोग~~

31 मई को होगा आयोजन~~

1 जून गायत्री जयंती महाप्रयाण दिवस~~

गायत्री परिवार घर घर यज्ञ करेगे~~

अंजड-----अखिल विश्व गायत्री परिवार शांतिकुंज के मार्गदर्शन में ग्रहे ग्रहे यज्ञ का विश्व व्यापी आयोजन 31 मई को होने जा रहा है प्रांतीय प्रतिनिधि महेंद्र भावसार ने बताया कि आयोजन में  विश्व के 100 देशों की भागीदारी हो रही है अपने अपने घरों में गायत्री यज्ञ का आयोजन कर करोड़ों परिजन महामृत्युंजय मंत्र,गायत्री मंत्र, क्रमी निवारण की विशेष आहुतियां प्रदान कर वातावरण को सेनेटाइज करेगे शांतिकुंज से आनलाईन प्रशिक्षण की व्यवस्था बनाई है हवन सामग्री  विशेष जड़ी बूटी से निर्मित की जा रही है जिससे रोगों की मुक्ति ओर वातावरण की शुद्धि होगी 1 मई को गायत्री जयंती आचार्य श्री राम शर्माजी का महाप्रयाण दिवस  साधना , आराधना, उपासना सबके कल्याण के लिए गायत्री परिजन अपने अपने घरों में करेगे उपजोन  समन्वयक के.सी. शर्मा  ने बताया कि उपजोन के चारो जिले के लक्ष्य का निर्धारण स्थानीय परिस्थिति अनुसार परिजन करेगे  वर्तमान परिस्थितियों में यज्ञ संचालन कर्मकांड गायत्री परिजन अपने अपने घर में अपने परिवार के साथ करेगे सामाजिक दूरी बनाए रखने का पालन करते हुए जिन भाइयों को मंत्रोचार नहीं आता है उनकी सुविधा में मोबाईल पण्डित , भास्कर कर्मकांड,ऑनलाइन यज्ञ पद्धति से घर में यज्ञ कर सकने की व्यवस्था शांतिकुंज से बनाई गई है ओर कोई समस्या हो तो घर में दीप प्रजवल्लित कर 24 गायत्री मंत्र, महामृत्युंजय मंत्र का उच्चारण कर यज्ञ में सम्मिलित हो सकते है हवन सामग्री के अभाव में घी शक्कर गुड़ चावल तिल गिलोय के मिश्रण युक्त सामग्री से उपयोग करने का मार्गदर्शन दिया गया है विषम परिस्थिति में सूर्य उदय पर अपने आंगन ,छत पर पूर्वमुख बैठकर सविता का ध्यान कर गायत्री मंत्र का उच्चारण कर लेना भी पर्याप्त है जहा जैसी स्थिति बने उसके अनुकूल सभी भाई बहन समाजजन इस महाअभियान में सम्मिलित होकर महामारी संक्रमण निवारण में सहयोग करे गायत्री परिवार ने उक्त आयोजन में लाक डाउन का पालन करते हुए श्रद्धालुओं से सम्मिलित होने का आव्हान किया है