ताज़ा ख़बर

LIVE TV

VICHAR NEWS

संदला~ बुथ क्रमांक 26 पर 77℅ ओर 27 पर 81℅ मतदान~~

दिपक सिंह राठौर~~


संदला-धार महु लोकसभा को लेकर सरदारपुर विधानसभा क्षेत्र के ग्राम संदला मे जनता द्वारा बडे उत्साह के साथ मतदान किया।लोकसभा चुनाव मे युवाओं मे काफी उत्साह देखा गया।जिन मतदाताओं द्वारा अपना पहला वोट डाला उन्होंने अपना फोटो फेसबुक ओर वाट्सएप पर शेयर किया।संदला बुथ क्रमांक 26 पर 77℅ ओर 27 पर 81℅जिसमे पुरुष कि 80℅ ओर महिला कि 75℅ वोटिंग हुई ।सुबह  7 से शाम 6 बजे तक वोटिंग का काम चला।जो बुजुर्ग चल फिर नहि सकते उनको उनके परिवार के द्वारा लाकर मतदान करवाया गया।


VICHAR NEWS

-:  *भविष्यवाणि*  :-

*2019 लोकसभा की नैया अपने बलबूते पर पार नहीं लगा पायेगी भाजपा*  *डाँ. अशोक शास्त्री*~~

*3 राजनेता बनेंगे 2019 में किंग मेकर  जादुई आंकड़ा छूने के लिए बीजेपी लेगी इनका शरण* डाँ. अशोक शास्त्री ~~

*3 राजनेता बनेंगे 2019 में किंग मेकर* ~~

          
          2019 के लोकसभा चुनाव में बीजेपी गठबंधन को पूर्णबहुमत के लिए आवश्यक 272 सीट न मिलने के कारण सरकार बनाने में दिक्कत होगी। मालवा के प्रसिद्ध ज्योतिषाचार्य  डाँ अशोक शास्त्री ने कहा कि ऐसे में ओड़िशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक, तेलंगाना के मुख्यमंत्री केसीआर, जगनमोहन रेड्डी जिनकी कुंडली में इन दिनों प्रबल राजयोग चल रहा है वह भाजपा की सरकार बनाने में प्रमुख भूमिका निभाएंगे।
इन तीनों राजनेताओं के सितारे प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी और भाजपा से मेल भी खा रहे हैं।
भाजपा की कुंडली मिथुन लग्न की है तो जगनमोहन रेड्डी और नवीन पटनायक की राशि मिथुन है।
प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी और भाजपा की चंद्र राशि वृश्चिक है जो कि तेलंगाना के मुख्यमंत्री केसीआर की जन्म राशि कर्क से त्रिकोण में होकर शुभ है। *डाँ. अशोकशास्त्री*

          लोकसभा चुनाव अब अपने अंतिम चरण में है और 23 मई को नतीजे घोषित होंगे। मालवा के प्रसिद्ध ज्योतिषाचार्य डाँ अशोक शास्त्री ने  ज्योतिषशास्त्र की गणना के आधार पर कहा  है  कि बीजेपी के नेतृत्व वाले गठबंधन को पूर्णबहुमत के लिए 272 के आंकड़े को पाने में अन्य दलों के सहयोग की आवश्यकता पड़ सकती है जबकि कांग्रेस मजबूत विपक्षी दल बनकर उभरेगा। ऐसी स्थिति में क्षेत्रीय दलों की भूमिका महत्वपूर्ण होगी इस बात का संकेत वृषभ लग्न की आज़ाद भारत की कुंडली भी दे रही है। गोचर में धनु राशि में चल रहे शनि आजाद भारत की कुंडली के दशम (राजसत्ता) भाव के स्वामी होकर अष्टम भाव में केतु के साथ चल रहे हैं। डाँ. अशोक शास्त्री ने कहा कि शनि और केतु की इस युति पर मिथुन राशि से पड़ रही राहु और मंगल की सम्मलित दृष्टि चुनाव परिणामों के तुरंत बाद बड़ी राजनीतिक उठापठक, सांसदों की खरीद-फरोख्त, दल-बदल और नए राजनीतिक समीकरणों के बल पर बेहद चौकाने वाले ढंग से वर्तमान सत्ताधारी दल बीजेपी की वापसी के संकेत दे रहे हैं। आइए अब कुछ बड़े क्षेत्रीय दलों के नेताओं की कुंडलियों पर नजर डालते हैं जो आने वाले दिनों में नाटकीय ढंग से बड़े राजनीतिक परिवर्तन में महत्वपूर्ण किरदार निभा सकते हैं।

*लोकसभा के बाद चमकेंगे माया के सितारे*
 
           ज्योतिषाचार्य डाँ अशोक शास्त्री ने स्पष्ट कहा कि 15 जनवरी 1956 को दिल्ली में सायं 7 बजकर 50 मिनट पर कर्क लग्न में जन्मी मायावती के सितारे अब सकारात्मक और आश्चर्यजनक रुख लेने वाले हैं। पिछले चुनावों में हानि भाव के स्वामी बुध की महादशा में 2014 में मोदी लहर के चलते मायावती की पार्टी लोकसभा चुनाव में एक भी सीट नहीं जीत पाई थी। किन्तु अब बुध में लाभ भाव के स्वामी शुक्र की अन्तर्दशा मायावती की कुंडली में शुरू हो चुकी है। लाभ भाव का स्वामी शुक्र उनकी कुंडली में भाग्य भाव के स्वामी गुरु से दृष्ट है जिससे इन्हें कोई बड़ा पद मिलने का योग बन रहा है।

*चंद्रबाबू की कुर्सी पर संकट*

           ज्योतिषाचार्य डाँ. अशोक शास्त्री ने कहा कि  दक्षिण भारत की ओर चलते हुए वहां के बड़े क्षत्रप आंध्रप्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू की कुंडली पर नजर डालते हैं। 20 अप्रैल 1950 को सुबह 6 बजकर 43 मिनट पर आंध्रप्रदेश के चित्तूर में जन्मे चंद्रबाबू नायडू की कुंडली मेष लग्न की है। शनि में राहु की बुरी दशा में चल रहे नायडू की पार्टी टीडीपी को आंध्रप्रदेश में लोकसभा और विधानसभा के चुनावों में बुरी हार का सामना करना पड़ सकता है। शनि उनकी कुंडली में अपनी शत्रु राशि सिंह में पंचम भाव में वक्री होकर बैठा है और राहु हानि के 12वें घर में पड़ा है। चंद्रबाबू नायडू की पार्टी की बुरी हार के बाद उनके मुखयमंत्री की कुर्सी जाने के ज्योतिषीय संकेत बन रहे हैं।

*2019 में किंग मेकर जगनमोहन रेड्डी निभाएंगे अहम भूमिका* डाँ. अशोक शास्त्री 

            ज्योतिर्विद डाँ. अशोक शास्त्री ने कहा कि  नायडू के विरोधी वाई एएस आर कांग्रेस के अध्यक्ष जगनमोहन रेड्डी की कुंडली कन्या लग्न की है। 21 दिसंबर 1972 को एक बजकर तीस मिनट पर पुलिवदया आंध्रप्रदेश में जन्मे जगनमोहन रेड्डी लग्नेश और दशमेश बुध की शुभ दशा में चल रहे हैं। इस शुभ दशा के प्रभाव से यह प्रदेश के मुख्यमंत्री के पद पर पहुंच सकते हैं। इसके साथ यह केंद्र में अहम भूमिका भी निभा सकते हैं।

*2019 में किंग मेकर केसीआर का जलवा रहेगा कायम* पं. अशोक शास्त्री

         पं. अशोक शास्त्री ने बताया कि  आंध्रप्रदेश से अलग हुए तेलंगाना में मुख्यमंत्री केसीआर का जलवा एक बार फिर दिखाई देगा। 17 फरवरी 1954 को सुबह 10 बजकर 30 मिनट पर सिद्धिपट आंध्रप्रदेश में मेष लग्न में जन्मे के. चंद्रशेखर राव की कुंडली (केसीआर) में राजसत्ता के दशम भाव में राहु की महादशा में लाभ भाव में बैठे शुक्र की अन्तर्दशा उनको अब केंद्र में बड़ी भूमिका रहेगी ।

*2019 में किंग मेकर नवीन पटनायक की कुंडली में यह संकेत* डाँ. अशोक शास्त्री
 
        ज्योतिषाचार्य डाँ. अशोक शास्त्री के मुताबिक उडीसा  के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक की कुंडली मकर लग्न की है। 16 अक्टूबर 1946 को दोपहर एक बजे कटक में जन्मे नवीन पटनायक इस समय शुक्र में सूर्य की विंशोत्तरी दशा में चल रहे हैं जिसे ना तो बहुत अच्छा कहा जा सकता है ना बहुत बुरा, स्थिति सामान्य रहेगी। ओडिशा में भी आंध्रप्रदेश की भांति लोकसभा और विधानसभा के चुनाव साथ-साथ हुए हैं। नवीन पटनायक की बीजू जनता दल वर्ष 2014 के चुनावों की भांति शानदार प्रदर्शन तो नहीं कर पाएगी लेकिन नवीन पटनायक एक बार फिर से मुख्यमंत्री बन पाने में कामयाब होंगे और केंद्र में वह भाजपा सरकार बनाने में एक बड़ी भूमिका निभाते दिखेंगे। लेकिन अष्टमेश सूर्य की अन्तर्दशा के कारण नवीन पटनायक के स्वास्थ्य में अगले दो वर्षों में तेजी से गिरावट आएगी जिसके कारण वह मुख्यमंत्री पद छोड़ सकते हैं ।

*तमिलनाडु में इनका बढ़ेगा प्रभाव* डाँ. शास्त्री
 
        ज्योतिषाचार्य डाँ. पं. अशोक शास्त्री ने कहा कि तमिलनाडु की राजनीति में बड़े बदलाव आनेवाले हैं। जयललिता और करुणानिधि के निधन के बाद हो रहे इस लोकसभा चुनाव में एम.के. स्टालिन अपने पिता करुणानिधि की राजनीतिक विरासत को ऊंचाई पर ले जाते दिखेंगे। 1 मार्च 1953 को रात 11 बजकर 50 मिनट पर वृश्चिक लग्न में पैदा हुए स्टालिन  शनि में शुक्र की परिवर्तनकारी दशा में चल रहे हैं। सहयोगी पार्टियों की मदद से यह तमिनाडु की राजनीति में अपना वर्चस्व बना पाएंगे। ( डाँ. अशोक शास्त्री  )

                   प्रकाशनार्थ,  जय हो


VICHAR NEWS

बड़वानी~पदीन दायित्वों के साथ-साथ फर्ज भी निभा कर प्रस्तुत किया आदर्श~~


बड़वानी /जिले में शीर्ष प्रशासनिक पद पर पदस्थ कलेक्टर श्री अमित तोमर एवं उनकी धर्मपत्नी तथा अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक के पद पर पदस्थ श्रीमती सुनीता रावत तोमर ने अपना फर्ज निभाते हुए रविवार की सुबह 7 बजे सबसे पहले अपना मताधिकार का उपयोग कर जहां आदर्श प्रस्तुत किया है वही सभी को यह संदेश भी दिया कि पदेन दायित्वों की जिम्मेदारी, फर्ज निभाने में कभी बाधा नहीं बनते। जरूरत है बस दोनों के मध्य तालमेल बिठाने की।
कलेक्टर श्री अमित तोमर एवं उनकी पत्नी तथा अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक बड़वानी श्रीमती सुनीता रावत ने लोकतंत्र के महात्यौहार में अपने मताधिकार की आहुति देने के लिए रविवार की सुबह 6.30 बजे ही सिंचाई विभाग कार्यालय में बनाए गए अपने मतदान केंद्र पर पहुंचकर जहां चल रहे मॉक पोल का निरीक्षण किया वहीं लाईन में खड़े होकर अपना वोट देकर सभी के सामने आदर्श भी प्रस्तुत किया कि प्रजातंत्र में हर मतदाता के वोट की कीमत एक समान होती है। इसलिए हर मतदाता को अपने मताधिकार का उपयोग अनिवार्य रूप से करना चाहिए।


VICHAR NEWS

बड़वानी~कानून को परिभाषित कर न्याय देने वालों ने
अपनी अंगुली पर लगवाई लोकतंत्र की अमिट स्याही~~


बड़वानी / लोकतंत्र की महत्ता क्या होती है यह देखने को मिला बड़वानी में, जहां कानून को परिभाषित कर न्याय हेतु फैसला देने वालों ने लाइन में लगकर अपना वोट दिया और अंगुली पर अमिट स्याही का निशान लगवाकर जता दिया कि भारत का लोकतंत्र क्यों इतना महान है।
       जिला सत्र न्यायाधीश श्री रामेश्वर कोठे, विशेष न्यायाधीश श्री दिनेशचन्द्र थपलियाल, अपर जिला न्यायाधीश श्री हेमन्त जोशी एवं आशुतोष अग्रवाल ने भी रविवार को उत्कृष्ट विद्यालय बड़वानी के मतदान केंद्र पर सपत्नी  पहुंचकर बारी-बारी से अपने मताधिकार का उपयोग करते हुए अपनी पसंद के उम्मीदवार को वोट दिया । मतदान केंद्र पर प्रातः 8.30 पर पहुंचे न्यायाधीशों ने पूर्व से मतदान हेतु लाइन में लगे मतदाताओं के इस आग्रह को कि वे बिना लाइन में लगे वोट डाल दे, को विनम्रतापूर्वक अस्वीकार करते हुए अपनी बारी आने पर ही वोट देकर सिद्ध कर दिया कि कानून की नजर में सभी समान है और यह समानता ही भारत के लोकतंत्र की पहचान है।


VICHAR NEWS

बड़वानी~99 साल की झूमा बाई ने अपनी बहू एवं
सहायक अधिकारी के साथ आ कर डाला वोट~~


बड़वानी /अपनी 99 साल की आयु को धता बताते हुए श्रीमती झूमा बाई ने अपनी बहू श्रीमती तुलसी मुकाती के साथ आकर अपना वोट डाला। इस दौरान जिला प्रशासन द्वारा मतदान केंद्रों पर उपलब्ध कराई गई व्हीलचेयर ने जहां वृद्धा के प्रयास को साकार करने में मदद की वही निर्वाचन आयोग के निर्देश कि वृद्ध जनों को उनकी इच्छा अनुसार वाहन सुविधा उपलब्ध कराई जाए, सहायक सिद्ध हुई है।
      बड़वानी नगर के सिर्वी मोहल्ले में रहने वाली 99 वर्षीय श्रीमती झूमा बाई पति श्री भाना ककड़ीवाले की वृद्धावस्था को देखते हुए क्षेत्र के बीएलओ श्री शिव राठौड़ ने उन्हें मतदाता पर्ची के वितरण के दौरान उनके घर दस्तक देकर पूछा था कि वे मतदान केंद्र तक पहुंचने के लिए क्या कोई मदद चाहती है। इस पर झूमा बाई एवं उनकी बहू ने बताया था कि वह अपने पुत्र के मोटरसाइकिल पर बैठकर अभी तक अपना वोट डालती आई है। किंतु अब अत्यधिक उम्र के कारण अगर उन्हें चार पहिया वाहन की सुविधा मिल जाए तो वे और निडरता और सहायता से अपना वोट कर पाएंगी।
     बीएलओ द्वारा इस जानकारी को जिला निर्वाचन अधिकारी श्री अमित तोमर के संज्ञान में लाने पर उन्होंने तत्काल जन संपर्क विभाग की संचार सहायक श्रीमती भावना कुमरावत को वृद्धा का सहायक घोषित करते हुए विभाग की शासकीय जीप से उन्हें मतदान केंद्र तक लाने एवं वापस घर छोड़ने हेतु ताकीद किया। जिसके कारण अभी तक हर चुनाव में अपने मताधिकार का उपयोग करने वाली झूमा बाई इस बार भी लोकतंत्र के महायज्ञ में अपने वोट की आहुति सहजता से कर पाई ।


VICHAR NEWS

बड़वानी~~देश के महात्यौहार के लिए अपने निजी दुःख को किया दरकिनार~


बड़वानी  /लोकसभा निर्वाचन के दौरान कई ऐसे हृदय स्पर्श पहलू भी देखने को मिले जिससे यह विश्वास और भी पुख्ता होता है कि कितनी भी बड़ी बाधाऐं आ जाऐ लोकतंत्र की विशालता के समक्ष बौनी ही साबित होगी। हम बात कर रहे हैं आशाग्राम कुष्ठ अंतःवासी श्रीमती गुलाबी बाई कि जिसके पति का विगत माह वृद्धावस्था के चलते देहान्त हो चुका है। घर में अकेली वृद्धा ही रहती है। पति जब जीवित थे दोनो एक-दूसरे की परछाई की तरह पूरा जीवन साथ जिये हैं। कुष्ठ रोग की बीमारी दोनो को एक समान होने से दोनो की निकटता एक-दूसरे को और भी करीब ला दी थी। ऐसे में पति का देहान्त हो जाना, गुलाबी बाई के रोगमुक्त जीवन को पुनः दूभर बना देने के समान था। किन्तु दिव्यंाग आदर्श मतदान केन्द्र आशाग्राम के स्वीप सहयोगी टीम जैसे ही निर्वाचन आमंत्रण पाती लेकर वृद्धा के पास पहुंची। वे ही गुलाबी बाई अपनी मतदाता पर्ची एवं पहचान का दस्तावेज हाथो में लेकर मतदान करने चल पड़ी ।
और मतदान करने के बाद बोली कि लोकतंत्र की मजबूती के लिए निजी गम मायने नहीं रखते देश सर्वापरी होता है। गुलाबी बाई के इस उद्देश्य से अभिभूत युवा उस समय और चकित रह गये जब उनकी पहनाई हुई माला को गुलाबी बाई ने युवाओं को ही पहनाते हुये उनसे प्रण करा लिया कि वे बड़े होने पर अपने मताधिकार का उपयोग अवश्य करेंगे ।


VICHAR NEWS

बड़वानी~जीवन का हर बसंत देश के महात्यौहार निर्वाचन को समर्पित~~

बड़वानी  /मेरे जीवन में ऐसा कोई आम निर्वाचन नहीं हुआ है जिसमें मैने मतदान नहीं किया है। मैं स्वयं मतदान करने के साथ-साथ अपने परिवार और मोहल्ले वालों को भी मतदान के लिए घर से निकलने की आवाज देता हूं। लोग मेरा लिहाज भी उम्र के अधिकता के कारण रखते हैं तथा मेरी दिव्यांगता के बावजूद व्हीलचेअर पर बैठकर मतदान करने जाने की स्थिति को देखकर स्वयं प्रेरित होते हैं कि जब बाबा व्हीलचेअर पर मतदान करने हेतु उत्साह से जा सकते हैं तो हम क्यों नहीं ।
ऐसा ही जज्बा लोकसभा निर्वाचन के दौरान दिव्यांग आदर्श मतदान केन्द्र आशाग्राम में देखने को मिला जब श्री कचाटिया बाबा ने अपनी उम्र के 82 बसंत के बाद भी भौर होते ही अपने मत का उपयोग सहयोगी की सहायता से कतारमुक्त बाधा रहित वातावरण में किया।