* अलीराजपुर~ रविवार को पुलिस ने 5 आरोपियों को किया गिरफ्तार उनसे 4 बच्चें बरामद किये है।*~~

*चाइल्ड ट्रैफिकिंग बच्चो की तस्करी के मामले मे अलीराजपुर का सबसे बडा केश पुरे शहर सहित पुरी दुनिया की नजर इसी केस पर*~~

*अलीराजपुर पुलिस की कार्यवाही मे तेजी आरोपियों को पकड़ने मे दिन रात कर रहे है कडी मेहनत* ~~

✍जुबेर निज़ामी की रिपोर्ट✍
अलीराजपुर📲9993116518~~



लीराजपुर जिले में मानवता को शर्मशार कर देने वाली बच्चा (मानव) तस्करी कांड को लेकर रविवार को पुलिस ने 5 आरोपियों को गिरफ्तार कर उनसे 4 बच्चें बरामद किये है। आलीराजपुर थाना प्रभारी दिनेश सोलंकी ने बताया कि आज रविवार को फिर से पुलिस द्वारा जिले के 2 थाना क्षेत्र से 4 एवं गुजरात के धनपुर थाना क्षेत्र से 1 कुल मिलाकर 5 आरोपियों को गिरफ्तार कर उनसे 4 बच्चें बरामद किये गये है। जिले के नानपुर थाना क्षेत्र से विजय पिता कृष्णचन्द्र वाणी, पुष्पेन्द्र पिता कृष्णचन्द्र वाणी, दोनों निवासी ग्राम नानपुर को पुलिस द्वारा गिरफ्तार कर उनके पास से माह की एक लड़की बरामद की है। इसी प्रकार से जिले के नानपुर थाना क्षेत्र के अंतर्गत जयंति पिता बंशीलाला वाणी निवासी नानपुर को गिरफ्तार कर उससे डेढ़ वर्ष का लड़का बरामद किया है।

 इसी प्रकार से जिले के आजाद नगर थाना क्षेत्र के अंतर्गत कैलाश पिता देवा गौरी निवासी ग्राम रिंगोल को पुलिस द्वारा गिरफ्तार कर लिया गया है। साथ ही जिले से सटे गुजरात राज्य के दाहोद जिले के थाना धनपुर के ग्राम मण्डोर से पुरूषौतम पिता कालू राठौड निवासी मण्डोर जिला दाहोद को गिरफ्तार कर उसके पास से डेढ़ वर्ष का एक लड़का एवं एक लड़की बरामद की है। इन पांचों आरोपियों को जिला जेल में भेज दिया गया है। आलीराजपुर थाना प्रभारी ने यह भी बताया कि आज दिनांक 18.11.2018 तक हमारे द्वारा कुल 19 आरोपियों को गिरफ्तार कर उनके कब्जे से 09 बच्चे बरामद किये है

। शनिवार को कोर्ट ने शैलू और बाईसिंह की पुलिस रिमांड 21 नवंबर तक बढ़ा दी, जबकि दिनेश और देसिंह को जेल भेज दिया गया। वहीं मामले में आरोपितों की धड़पकड़ में जुटी पुलिस की टीम नानपुर से एक और आरोपित दिलीप पिता मांगीलाल वाणी को गिरफ्तार कर आलीराजपुर लेकर आई। नानपुर से एक नौ माह की बच्चों को भी लाया गया है। बताया जा रहा है कि बच्चों को एक माह से भी कम उम्र के दौरान महज तीस हजार रुपए में बेच दिया गया था। मामले में अब पुलिस आरोपितों से पूछताछ कर रही है। डॉ.राजू और मैनेजर शाह और भी नाम उगल सकते हैं। साथ ही जो पांच आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है उन्होने केसर चिकित्सालय एवं उसके चिकित्सक डाॅक्टर राजू के माध्यम से बच्चें खरीदे थे। छोटाउदयपुर पहुंची पुलिस की टीम ने जब्त किए दस्तावेज

वहीं मामले में जांच पड़ताल कर रही एएसपी सीमा अलावा टीम के साथ छोटा उदयपुर स्थित आरोपित डॉ.राजू के केसर अस्पताल पहुंची। टीम में एक दर्जन पुलिसकर्मी थे। डॉ.राजू के साथ आरोपित मैनेजर परेश शाह को भी पुलिस साथ लेकर गई थी। अस्पताल में जांच पड़ताल के साथ ही पुलिस ने दस्तावेज खंगाले। टीम कुछ फाइल और एक कम्प्यूटर अपने साथ लेकर आलीराजपुर की ओर लौट गई। टीम के अस्पताल पहुंचने पर गहमागहमी का मौहाल बन गया।
*संगम अस्पताल से भी जुड़ सकते हैं तार*
सूत्रों के मुताबिक बच्चों की तस्करी मामले में आलीराजपुर के निजी संगम अस्पताल में कार्यरत एक कर्मचारी को पुलिस ने पूछताछ के लिए पकड़ा है। हालांकि पुलिस ने फिलहाल आरोपित के नाम का खुलासा नहीं है, यदि ऐसा होता है, तो यह दूसरा निजी अस्पताल होगा जिसकी बच्चों की तस्करी के मामले में भूमिका पर सवाल खड़े होंगे। *ब्यूरो रिपोट बब्बू मकरानी के साथ जुबेर निज़ामी की रिपोर्ट अलीराजपुर मध्य प्रदेश से*


Post A Comment:

0 comments: