अलीराजपुर/जोबट~ युवक के जहर खाने के बाद परिजनो ने दिया थाने पर आवेदन~~

जिला कांग्रेस प्रवक्ता पर थाने की दलाली के 50 हजार रू की मांग का आरोप~~

दिनेश उपाध्याय जोबट ~~

जोबट - जानकारी अनुसार वागदी निवासी जुवानसिंह पिता लालसिंह डुडवे ने गत शनिवार रात्रि स्थानिय थाना जोबट पर एक आवेदन दिया जिसमें कहा गया की जुवानसिंह के पुत्र माधुसिंह ने अपने घर वागदी आकर चुपके से जहर खा लिया था जिसे जोबट स्वास्थ्य केन्द्र पर उपचार हेतु आया गया था जहा उपचार के चलते उसकी जान बच गई । आवेदन में कहा गया की कांग्रेस का जिलाप्रवक्ता सुनिल खेडे जुवानसिंह के पुत्र माधुसिंह पर थाने में दर्ज व जिलाबदर की कार्यवाही का निपटारा करवाने के नाम पर 50 हजार की मांग कर रहा था बार बार मांग करने व धमकी देने पर परेशान होकर माधुसिंह ने जहर खाकर आत्महत्या का प्रयास किया । आवदेन प्राप्ती के बाद पुलिस ने जुवानसिंह को अगले दिन 11 बजे थाने बुलाया था जब जुवानसिंह अगले दिन 11 से 12 बजे के बीच थाने पर पहुचा तो वहा उसे 3 घण्टे बैठा रखा और फिर घर जाने का बोल दिया अब इन तीन घण्टो में पुलिस ने क्या कार्यवाही की ये भगवान जाने । यहा यह बता देना उचित होगा की आवेदक जुवानसिंह डुडवे के साथ सहयोग हेतु गये दुर्गाशंकर चौबे को थाना प्रभारी जनकसिंह रावत ने धिक्कार कर अपने चेम्बर से बाहर कर दिया उक्त बांते स्वंय आवेदक जुवानसिंह ने हमारे संवाददाता को बताई है । 

जानकारी अनुसार आत्महत्या का प्रयास करने वाले माधुसिंह ने गत शनिवार को पुलिस अधिक्षक आलीराजपुर के नाम एक शपथ पत्र दिया गया जिसमें सुनिल खेडे द्वारा 50 हजार की मांग कर मानसीक रूप से परेशान करने की बात कही गई है जिसके चलते उसने जहर खाकर आत्महत्या का प्रयास किया था । उक्त आवेदन पुलिस अधिक्षक की गैरमोजुदगी में ए0एस0पी0 सीमा अलावा को देकर पुरी घटना से रूबरू करवाया गया है जहा ए0एस0पी0 सीमा अलावा ने तत्काल थाना प्रभारी फोन लगाकर इस पर कार्यवाही को बोला है वही इस प्रकार थाने की दलाली करने वालो को थाना परीसर में न घुसने देने की सलाह भी दी । 

वर्तमान में जोबट थाना पुरी तरह दलाली का अड्डा बनता जा रहा है आये दिन कई मामले में जनचर्चा होती रहती की जोबट थाने पर दलाली जम के चल रही है फिर वह शराब की हो या फिर सट्टा-जुआ की । लगभग 12-13 दिन पुर्व भी एक आवेदन दिपक शर्मा द्वारा दिया गया था जिसमें 10 लोगो द्वारा उसके मामा के साथ मारपीट करने वालो पर कार्यवाही की मांग की गई थी व इस संबध में ब्राहम्ण समाज ने भी एस0डी0एम0 अखिल राठौर को आवेदन देकर मारपीट करने वालो के खिलाफ कार्यवाही की मांग की थी लेकिन आज तक इस पर काई बडी कार्यवाही नही हो सकी । जनचर्चा है की यहा भी दलाल के माध्यम से मामलो को दबाने का प्रयास किया जा रहा है । थाना प्रभारी जनकसिंह रावत के जोबट थाने पर पदस्थ होने से 2 से 3 दिन पुर्व ही सभी सट्टा-जुआ व शराब व्यापारी भुमीगत हो गये थे लेकिन पीछले दो माह से पुनः उक्त अवैध व्यापारी सक्रिय हो गये है । क्या उक्त अवैध व्यापारीयों के मन से थाना प्रभारी का खौफ खत्म हो गया है या काई बडी साटगाठ हो चुकी है ? वही आये दिन वाहन चोरी की घटनाए भी बढती जा रही है ।

Post A Comment:

0 comments: