धार \सरदारपुर~ भाजपा के जनसंपर्क के विरुद्ध लगे "भाजपा मुर्दाबाद", "भू-माफिया मुर्दाबाद" के नारे~~

शैलेन्द्र पँवार धार ~~

      धार जिले कि सरदारपुर विधानसभा क्षैत्र क्रमांक 196 मे भाजपा, कांग्रेस, आप आदि विधायक प्रत्याशियों के सघन जनसम्पर्क जारी है जिसमें समस्त  प्रत्याशियों को जनताजनार्दन का अपार स्नेह भी मिल रहा है! जनताजनार्दन भी प्रत्याशियों के प्रति अपना मन बना चुके है! जनता का मत 28 नवम्बर को किसे मिलता है और किसे जीत का सहरा बाँधा जायेगा, ये तो परिणाम हि तय करेंगे! सघन जनसम्पर्क के चलते अभी तक कि स्थिति के अनुसार भाजपा-कांग्रेस मे "काँटे कि टक्कर" मानी जा रही है!

       यूँ तो भाजपा का जनसंपर्क अभी तक ठिकठिका ही चल रहा था लेकिन बुधवार को जब भाजपा प्रत्याशी संजय बघेल अपने सौ से अधिक समर्थकों के साथ ग्राम पंचायत गोलपुरा जनसमर्थन के लिये पहुँचे तो कुछ जनसम्पर्क के बाद गोलपुरा के मैन चौराहे पर भाजपा व एक भाजपा पदाधिकारी के विरुद्ध मुर्दाबाद के नारे लगाये गये ! ग्रामीणों का कहना है कि भाजपा सत्ता कि आड़ मे एक भाजपा पदाधिकारी ने गाँव के आदिवासियों के कब्जे वाली भुमि को हड़पने के लिये फर्जी तरीके से पट्टा बनवाया है जिस पर कई वर्षों से आदिवासी समाज के लोगों का कब्जा है, यह भी बताया कि इस भुमि को लेकर मामला न्यायालय मे विचाराधीन है! इसीके साथ ग्रामीणों ने यह भी बताया कि ग्रामीण पेयजल कि अव्यवस्था से जूझ रहे है और  गाँव का ही एक गामड़ परिवार स्वयं के पानी टेन्कर से कूछ ग्रामीणों को पेयजल उपलब्ध करवा रहा है! कुछ ग्रामीणों ने यह भी बताया कि विगत वर्षों मे गाँव के लिये होस्टल स्वीकृत हुआ था जिसे स्कूल से लगभग एक किलोमीटर दूर मवड़ीपाड़ा मे बनाया जा रहा था जिससे स्कुली बच्चों को एक नदी पार करके दूर जाना पड़ता जिसके लिये तत्कालीन भाजपा विधायक से स्कूल के पास ही होस्टल को बनाने कि माँग कि गई थी लेकिन विधायक जी ने ग्रामीणों कि सुनवाई नही कि थी हालाँकि गाँव के कुछ वरीष्ठ ग्रामीणों ने एसडीएम, कलेक्टर को अवगत करवा कर सही स्थान पर निर्माण तो करवा दिये लेकिन तत्कालीन भाजपा विधायक से उचित सहयोग नही मिल सका! गाँव मे आदिवासी समाज के लिये धर्मशाला का भी भाजपा विधायक वेलसिग भुरीया ने आश्वासन दिया था, लेकिन आश्वासन को मुर्तरूप नही मिल सका! 

       ग्रामीणों का कहना है कि उक्त समस्याओं से परेशानी के दौरान तत्कालीन क्षैत्रिय भाजपा विधायक वेलसिग भुरीया को बार बार अवगत करवाया गया था लेकिन श्री भुरीया ने ग्रामीणों कि उपेक्षा कि ओर सत्ताधारी विधायक होते हुए भी समस्याओं का निराकरण नही किया! इसीलिए बुधवार को भाजपा प्रत्याशी एवं समर्थकों को ग्रामीणों के गुस्से का सामना करना पड़ा ! विरोध स्वरूप ग्रामीणों ने "भाजपा मुर्दाबाद", "भु-माफिया मुर्दाबाद" और "कांग्रेस पार्टी जिन्दाबाद" जैसे नारे लगाये! ग्रामीणों मे विरोध देखते हुए संजय बघेल अपने समर्थकों के साथ "उलटे पैर लौटे"! इस पुरे मामले को लेकर संजय बघेल से सम्पर्क करना चाहा तो सम्पर्क नही हो पाया!

Post A Comment:

0 comments: