मुरैना~~पुजारी के अंधे कत्ल का पर्दाफाश,चार आरोपी गिरफ्तार~~

मुरैना~~(चम्बल संभाग ब्यूरो चीफ संजय दीक्षित)

मुरैना~~पहाड़गढ़ थाना क्षेत्र में बाबू का ढांडा जंगल में सौरा वाले हनुमान मंदिर के पुजारी द्वारिका प्रसाद पुत्र राम नारायण शुक्ला उम्र 75 वर्ष निवासी पहागढ़ की 31.10. 18 को अज्ञात आरोपियों द्वारा हत्या कर शव को जंगल में फेंक कर आग लगा दी गई थी। जिसके कारण क्षेत्र में तनाव की स्थिति उत्पन्न हो गयी। उक्त घटना को पुलिस अधीक्षक व अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक द्वारा विशेष रूप से रूचि लेकर अज्ञात आरोपियों की गिरफ्तारी हेतु निर्देश दिए गए थे। जिसमें अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक द्वारा साइबर सेल के माध्यम से आरोपियों की गिरफ्तारी हेतु प्रयास किए जा रहे थे ।एसडीओपी कैलारस द्वारा भी लगातार प्रयास किए जा रहे थे और उक्त मुखबिरों को सक्रिय किया गया। मुखबिर द्वारा  जानकारी मिली की घटना में अमित भरद्वाज  निवासी पहाड़गढ़ सोने राम कुशवाहा पुत्र बऊ कुशवाह निवासी पहाड़गढ़, अंजनीश शर्मा पुत्र नरेश चंद शर्मा निवासी जाजूपुरा थाना निरार, हरगोविंद पुत्र गणपति आदिवासी निवासी पहाड़गढ़ तथा जितेंद्र पुत्र ठिना तोमर पुत्र बदन सिंह तोमर का हाथ होना बताया है। उक्त सूचना पर आरोपी सोने राम कुशवाहा, अंजनीश शर्मा, हरगोविंद आदिवासी तथा जितेंद्र तोमर को दिनांक 01/12/18 को गिरफ्तार कर प्रकरण के संबंध में पूछताछ करने पर पता चला के आरोपी अमित भरद्वाज को सूचना मिली कि बाबा द्वारका के पास बहुत पैसे और सोना चांदी है। जिसको छीनने की योजना सभी आरोपियों द्वारा बनाई गई थी। दिनांक 30/10/18 को सभी आरोपी एक राय होकर सौरा वाले हनुमान मंदिर पहुंचे तथा आरोपी अमित भारद्वाज द्वारा बाबा को कट्टा दिखाकर पैसे देने को कहा बाबा द्वारा मना करने पर सभी लोगों द्वारा  लाए डंडों से बाबा को मारा तो बाबा जंगल की तरफ भाग गया। सभी आरोपियों द्वारा पीछा करके बाबा के साथ डंडों से मारपीट की गई तथा पैसे के बारे में पूछने पर बाबा द्वारा बताया गया कि पैसे मंदिर के पास बने कमरे में रखे हुए हैं तो आरोपी द्वारा रुपए निकाल लिए गए। उक्त आरोपी द्वारा अपने पास रख लिए गए थे ।मृतक बाबा पहाड़ गढ़ का निवासी था तथा सभी आरोपियों को पहचानता था। जिससे पहचान होने के डर से आरोपी द्वारा पहले हाथ से गला दबाया बाद में साफी से बाबा का गला घोटकर बाबा की हत्या कर दी गई और शव को उठाकर जंगल में फेंककर बाबा के पंजे को सर पर रखकर पहचान छुपाने से आग लगा दी गई। आरोपी पुलिस की गिरफ्त से बाहर बताया गया है। जिसकी गिरफ्तारी हेतु लगातार प्रयास किए जा रहे हैं।फिलहाल चार आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है।पुलिस अधीक्षक के द्वारा पूरी टीम को पुरस्कृत करने की घोषणा की है।

Post A Comment:

0 comments: