ग्वालियर~~ जेल में प्रहरी को चश्मे के कवर में स्मेक ले जाते हुए पकड़ा~~

ग्वालियर~~(चम्बल संभाग ब्यूरो चीफ संजय दीक्षित)

ग्वालियर~~जेल में तमाम पाबंदियों  के बावजूद नशे की खेप की सप्लाई जारी हो रही है। बंदियों तक नशा जेल कर्मियों के जरिए ही पहुंचाया जा रहा है। बुधवार को प्रहरी चश्मे की कवर में स्मेक की पुड़िया ले जाते हुए पकड़ा गया है। पकड़े जाने पर उसने स्मेक को भगवान की भभूत बताकर बचने की कोशिश की और झपट्टा मारकर मुख्य प्रहरी के हाथ से छीनकर जूते से मसलकर तस्करी का सबूत मिटाने की कोशिश की। नशा तस्कर प्रहरी इससे पहले बंदियों को गांजा पहुंचाने में सस्पेंड हुआ था ।करीब 1 महीने पहले ही ड्यूटी पर बहाल हुआ है। सेंट्रल जेल का प्रहरी शिवचरण शर्मा बुधवार को ड्यूटी पर जाते समय जेल के अंदर नशे की खेप ले जाते हुए पकड़ा गया है। उसे मुख्य प्रहरी लज्जाराम तोमर ने मेन गेट पर चेकिंग के दौरान पकड़ा। लज्जाराम ने बताया कि उनकी ड्यूटी जेल के अंदर जाने वालों की तलाशी लेने के लिए लगाई गई थी। प्रहरी शिवचरण की जेल में अंदर ड्यूटी थी मेन गेट पर उन्हें चेकिंग के लिए रोका और कपड़ों की तलाशी लेने पर शिवचरण की पेंट की जेब में चश्मे का कबर मिला। उसे खोल कर अंदर देखा तो पुड़िया रखी हुई थी उनसे पूछा पुड़िया में क्या है। तो शिवचरण ने चकमा देने की कोशिश की उसने बताया कि भगवान की भभूत हैं बुरी नजर से बचने के लिए रखी है। लेकिन शिवचरण इससे पहले भी जेल में नशा सप्लाई में पकड़ा चुका है। तो उसकी बात पर भरोसा नहीं किया। कवर से पुड़िया निकाल कर उसे खोलने की कोशिश की तो शिवचरण ने छीना झपटी कि इसमें पुड़िया फट गई उसमें रखा नशा फैल गया सबूत मिटाने के लिए शिवचरण ने जूते से उसे मसल दिया ।प्रहरी के साथ छीना झपटी का मामला  सीसीटीवी कैमरे में रिकॉर्ड हो गया है।

Post A Comment:

0 comments: