धार~ पुलिस ने किया पत्रकार दिनेश मारू की हत्या का खुलासा* ~~

*भारतवर्ष के पुराने इतिहास में जहां मित्रता की इतनी बड़ी बड़ी बातें सिखाई व बताई जाती है,~~

इस कलयुग में अपने मित्रों के साथ बड़ा ही दुर्व्यवहार करते हैं, वह समय आने पर अपने ही मित्र की हत्या कर देते हैं*  ~~

*पत्रकार मोहन पुरोहित की रिपोर्ट Mo.9977526447*~~

धार। जिले के ग्राम लाबरिया में रहने वाले पत्रकार दिनेश मारू की हत्या उनके ही एक परम मित्र ने कर दीं थी, जोकि उनके ही खेत पड़ोसी हैं।  पत्रकार साथी की हत्या पर जिले के सभी पत्रकारों ने आक्रोश जताया था, साथ ही सरदारपुर के समस्त पत्रकारगणों ने मिलकर एसडीएम व एसडीओपी को ज्ञापन देकर निवेदन किया था, कि पत्रकार साथी की हत्या के दोषी को शीघ्र अतिशीघ्र पकड़कर माननीय न्यायालय से उचित दंड दिलवाया जाए इसी के चलते धार जिला पुलिस अधीक्षक विरेंद्र कुमार सिंह ने अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सचिन शर्मा एवं रूपेश द्विवेदी के निर्देशन में एसडीओपी सरदारपुर एन.एस. कंसोटिया थाना प्रभारी राजोद सुश्री मीणा कर्णावत एवं धार क्राइम ब्रांच प्रभारी संतोष पांडे को इस मामले की जांच में लगाया था। जांच में उक्त टीम ने त्वरित कार्यवाही करते हुए आरोपी को तत्काल गिरफ्तार कर पूछताछ की गई तब आरोपी ने अपना जुर्म कबूल कर पूरा मामला विस्तृत से बतलाया।
साथ ही पोस्टमार्टम की रिपोर्ट में भी यह स्पस्ट हो गया था की हत्या पानी में डूबने से नहीं बल्कि धारदार हथियार से की गई थी और उसके बाद शव को पानी में फेंक दिया गया था।
पुलिस हिरासत में उक्त आरोपी कृष्णा पिता रतनलाल राठौर निवासी लाबरिया ने बताया कि 2  अक्टुम्बर के दिन वह अपने खेत पर बिजली वायर लगाने के लिए दिनेश मारू को बुलाया था विद्युत कनेक्शन के वायर दिनेश मारू के खेत में लगी डीपी पर लगाने के लिए दिनेश को अपने खेत पर बुलाया था। क्योंकि उसे तैरना आता था और उसने खेत पर आने में बहुत देरी कर दी उस देरी के कारण दोनों में वाद विवाद हुआ उसके बाद हाथापाई हुई, हाथापाई में कृष्णा के पास चारा काटने के लिए रखे दराते से दिनेश के सीने पर वार किया गया जिससे दिनेश की मौत हो गई कृष्णा ने इस घटना से घबराकर दिनेश को पानी में फेंक दिया और शौर मचाकर आसपास के लोगों को बुलाया जब वहां पर भीड़ इकट्ठा हुई तो कृष्णा वहां से तुरंत भाग निकला। परंतु कातिल कितना भी शातिर हो अंत में पुलिस के हत्ते चढ़ ही जाता है। ऐसा ही कृष्णा के साथ हुआ आखिरकार कृष्णा पुलिस के हाथों आया और उसने अपना जुर्म कबूल किया की मेने ही गुस्से में आकर मेरे मित्र दिनेश मारू की हत्या कर दी।

उक्त जानकारी जिला पुलिस अधीक्षक व उनकी टीम द्वारा कंट्रोल रूम पर पत्रकार वार्ता के दौरान दी गई।

Post A Comment:

0 comments: