मनावर~ गुरु सप्तमी के अवसर पर नगर भोज के लाभार्थी परिवार का उनके निवास से मंदिर होता हुआ भव्य चल समारोह निकाला गया~~

निलेश जैन मनावर ~~

मनावर~ गुरु सप्तमी के अवसर पर नगर भोज के लाभार्थी परिवार का उनके निवास से मंदिर होता हुआ भव्य चल समारोह निकाला गया। चल समारोह मुनिश्री दिव्यचंद्रविजयजी के सानिध्य में नगर के प्रमुख मार्गो से निकला। इसमें बग्गी, रथ, दादा गुरुदेव की चलित झांकी के अलावा लाभार्थी माणकबाई और संतोषकुमार डूंगरवाल भी रथ में सवार थे। डीजे और बैंड-बाजों की धुन पर रास्तेभर युवा टोली और महिलाएं नृत्य करते हुए चल रही थी। इंदौर से आए श्याम बैण्ड के रामकुमार ने गरबा गीत और भजनो से चल समारोह की शोभा बढ़ाई। पूरा नगर स्वागत द्वारो, और गुरू वंदना के बैनरों से सजा था। विधायक डॉ. हीरा अलावा, पूर्व विधायक रंजना बघेल, मोहनखेडा के मेनेजिक ट्रस्टी सुजानमल सेठ, भाजपा नेता गोपाल कन्नौज, काग्रेस नेता शिवराम पाटीदार आदि ने जुलूस में शिरकत कर मुनिश्री से आशीर्वाद लिया। चल समारोह का समापन दादावाड़ी पहुंचकर धर्म सभा में परिवर्तित हो गया। धर्म सभा के प्रारंभ में रानू, किरण, तथा दीप्ति जैन ने जीवन में मंगल अवसर आया का स्वागत गीत सुनाया। अपने उद्बोधन में मूनिश्री दिव्यचन्द्रविजयजी ने कहा कि दादा गुरुदेव प्रत्येक भक्त की भावनाओं को स्वीकार करते हैं। गुरु का प्रताप ही है कि उन्हें जो समर्पण करता है, उसकी प्रत्येक इच्छा पूरी करने की जिम्मेदारी गूरू ले लेते है। दादागुरुदेव पहले ऐसे महान संत थे, जिनका जन्म भी सप्तमी को हुआ और स्वर्गारोहण भी सप्तमी को ही हुआ था। इसीलिए हम इस तिथि को गुरु सप्तमी के रूप मे मनाते आए हैं। धर्म सभा को पूर्व विधायक रंजना बघेल, नगर पालिका अध्यक्ष संगीता शिवराम पाटीदार, जोबट के मांगीलाल पंवार, दादावाडी ट्रस्ट के रमेशचंद खटोड ने भी संबोधित किया। संचालन राहुल खटोड ने किया । दादावाड़ी ट्रस्ट और श्वेतांबरजैन संकल श्रीसंघ के सदस्यों ने लाभार्थी परिवार को अभिनंदन पत्र भेटकर उनका शाल-श्रीफल से बहुमान किया। अभिनंदन पत्र का वाचन सचिन भंडारी ने किया। इस असर पर नगरपालिका ने दादावाड़ी को हाई मास्क लाईट भेट किया। दादावाड़ी के बाहर इस वर्ष पहली बार मेला भी लगा, इसमें झूले, चकरी आदि शामिल थे। इसके पश्चात नगर भोज प्रारंभ हुआ, जिसमें शाम तक लगभग 20 हजार से ज्यादा श्रद्धालुओं ने भोजन प्रसादी ग्रहण की। नगर भोज की व्यवस्था में प्रवीण खटोड़, अभिषेक भंडारी, कैलाश राठौर, सचिन पांडे, दिनेश सारण, सुमित खटोड, अर्पित राठौर, आकेश नवलखा, अज्जु पाटीदार, मोहन चोपडिया, राजेश आवलिया, रमेश कुशवाह, राजेश पटेल, विनीत खटोड़ आदि शामिल थे। गुरु सप्तमी के पूर्व छठ की रात्रि में दादावाड़ी में मुनिश्री दिव्यचन्द्रविजयजी ने मंगल श्लोक के साथ जाजम बिछाने का मुहूर्त किया। इस अवसर पर आयोजित भजन संध्या में मंदसोर की हिना डांगी, देवेष जैन तथा हित डूंगरवाल ने भजनों की शानदार प्रस्तुति दी।

Post A Comment:

0 comments: