*टांडा ~सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र खुद पड़ा बिमार ,स्टॉफ की कमी के कारण आमजन परेशान, जिम्मेदारों का इस ओर कोई ध्यान नही*~~

आया बाई और स्विपर मिलकर कराते हैं महिलाओं की डिलेवरी ~~

कभी भी हो सकता है बड़ा हादसा महिला एवं मासूम बच्चे की जा सकती है जान इसका जिम्मेदार कोन होगा~~

दीपक जायसवाल टांडा
मो,, 9685833838~~


टांडा(धार)()-नगर के शासकीय सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर स्टाफ की कमी के कारण आम नागरिकों को काफी परेशानी उठाना पड़ रही है। ये परेशानी तब ओर बड़ी हो जाती है जब डिलीवरी का केस आता है।3 साल पहले 2016 में यहाँ 1 नर्स के रिटायर होने बाद यहाँ आज तक किसी भी स्टॉफ नर्स की पदस्थ  नही हुई है। जबकि नर्स के 6 पद स्वीकृत हैं। टांडा क्षेत्र में लगभग 50 गांव के लोग स्वास्थ सुविधा के लिए आश्ररित है  अस्पताल में महिला डॉक्टर भी नहीं है।ऐसे में तब डिलीवरी का केस आता है तब डॉक्टर,स्वीपर एवम आया  मिलकर डिलीवरी करवाते है।स्टाफ नर्स नही होने के कारण क्षेत्र की भोलिभाली जनता को  परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। समय पर महिलाओं को डिलेवरी के लिए केंद्र पर लाया जाता है, लेकिन पता चलता है कि नर्स ही नहीं है। ऐसे में उन्हें बहार जाना पड़ता है।डॉ तोमर ने बताया कि टांडा सी एच सी हॉस्पिटल में कुल 24 स्टाफ मेम्बर होना चाइये लेकिन है सिर्फ 6 स्टॉफ मेम्बर है।जनवरी माह में यहाँ  71 डिलीवरी केस आए है मतलब 2-3 डिलवरी यहाँ रोज होती है। 

टांडा व आस-पास का ग्रामीण क्षेत्र के डिलीवरी के केस इस अस्पताल में ही आते है ऐसे में यहाँ स्टॉफ नर्स की कमी कभी भी किसी बड़ी घटना को अंजाम दे सकती है।  अस्पताल में एक भी स्टाफ नर्स नही होने से ऐसा लगता है कि टांडा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र खुद बीमार पड़ गया है इसे खुद इलाज की जरूरत है।अब देखना है की कब सम्बन्धित अधिकारी की नींद खुलेगी ओर  टांडा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र का इलाज होगा ओर पूरा स्टॉफ मिलेगा।

*पिछले माह हो चुकी है 71 डिलीवरी*
डॉक्टर तोमर ने बताया जनवरी माह में टांडा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर 71 डिलीवरी हुई है।टांडा व आस-पास के डिलीवरी के केस टांडा अस्पताल में ही आते है स्टॉफ नर्स की कमी होने के कारण काफी परेशानी होती है।


*इनका कहना है*
मेने अपने से बड़े अधिकारियों को कई बार बोला है कि टांडा डिलवरी पॉइंट है यहाँ स्टॉफ नर्स चाइये लेकिन अभी तक कोई स्टॉफ नर्स पदस्थ नही की गई।
*डॉ हरेन्द्र प्रताप सिंह तोमर   मेडिकल ऑफिसर (टांडा)*


Post A Comment:

0 comments: