मुरैना~~प्रसूति विभाग में अवैध वसूली की शिकायतों  के मामले में इंचार्ज को भी हटाया गया~~

मुरैना~~(चम्बल संभाग ब्यूरो चीफ संजय दीक्षित)

मुरैना~~जिला अस्पताल की प्रसूति विभाग में अवैध वसूली की शिकायत पर 3 नर्सों को विगत दिवस पहले हटा दिया गया था, लेकिन इंचार्ज के खिलाफ भी कलेक्टर से शिकायत की गई थी। सीएमएचओ ने प्रभारी का बचाव करते हुए 3 नर्सों को तो हटा दिया लेकिन प्रभारी को नहीं हटाया गया। उसके बाद सीएमएचओ ने 12 फरवरी को प्रसूति विभाग की प्रभारी ऊषा तोमर को भी हटा दिया गया हैं। जनवरी माह में कलेक्टर को शिकायत की गई थी कि प्रसूति गृह में 4 नर्स एक ही जगह पर करीब पांच वर्षे से ड्यूटी पर तैनात है और ये यह नियम विरुद्ध है।जिसके चलते अपनी मनमानी करते हुए पांच से आठ हज़ार रुपए तक  ले रही हैं अगर उन्हें पैसा नहीं दिया जाता है तो प्रसूताओं को धमकी देकर उसे ग्वालियर के लिए रेफर कर देती हैं। इसी शिकायत के चलते 4 एएनएम की शिकायत की गई थी। उनमें संजू तोमर, रजनी तोमर, लक्ष्मी चंदेल और ऊषा तोमर के नाम भी दिए गए थे। पूर्व में भी कई बार शिकायत की गई लेकिन सिविल सर्जन ने कोई कार्रवाई नहीं की।जाँच के बाद  कलेक्टर के निर्देश पर सीएमएचओ ने तीन एएनएम संजू तोमर,लक्ष्मी चन्देल और रजनी तोमर को विभाग से हटा दिया था लेकिन चौथे ऊषा  तोमर को नहीं हटाया गया।जब  एक ही शिकायत चारों के नाम की गई थी।सीएमएचओ का कहना था कि तीनों को  इसलिए हटाया गया है कि इनकी रहते जांच प्रभावित होगी। सीएमएचओ की कार्यशैली पर सवाल उठने के बाद उन्होंने सिविल सर्जन को निर्देश दिए कि विभाग की प्रभारी ऊषा तोमर को प्रसूति विभाग से हटाकर अन्य विभाग में पदस्थ किया जाए। जिस से होने वाली शिकायतों पर अंकुश लग सकें।


Post A Comment:

0 comments: