मुरैना~~पति ने पत्नी की गोली मारकर हत्या की~~
   
मुरैना~~(चम्बल संभाग ब्यूरो चीफ संजय दीक्षित)

मुरैना~~माता बसैया थाना क्षेत्र में पति ने पत्नी की गोली मारकर हत्या कर दी और लूट की कहानी बनाकर पुलिस को गुमराह कर दिया।लेकिन पुलिस ने कुछ ही घण्टों में हत्या का परदाफाश कर दिया। केशव कॉलोनी में रहने वाले देवकी नंदन उपाध्याय बुधवार को बाइक पर सवार होकर अपनी ससुराल मेहगांव जिला भिंड से वापस शाम 5:00 बजे के बाद अपनी पत्नी मनोरमा को साथ लेकर मुरैना के लिए चला। इसके बाद तकरीबन 10:45 बजे उसने पुलिस को सूचना दी की जिगनी के पास नहर के किनारे कच्ची रोड पर दो बदमाशों ने उसकी पत्नी को गोली मारकर हत्या कर दी और जेवरात लूट कर ले गए। देवकीनंदन ने बताया कि बदमाशों ने उस पर भी फायर किया है ।जिससे वह घायल हुआ है। सूचना मिलते ही मौके पर सबसे पहले डीएसपी हेडक्वार्टर मानवेन्द्र सिंह पहुंचे और देवकिंनन्दन को उपचार के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कराया। इसके बाद एसपी यादव ने मौका मुआयना किया। रात में ही पुलिस ने नाकाबंदी करा दी और साइबर सेल की टीम को सक्रिय कर दिया। इस दौरान कुछ ऐसे तथ्य सामने आए इसे पुलिस को शक होने लगा। लिहाजा पुलिस ने पूछताछ की।जब कुछ बातें संदिग्ध लगी तो पुलिस को पक्का हो गया। पुलिस ने कुछ कड़ाई से काम लिया तो देवकीनंदन ने अपनी पत्नी की हत्या करना कबूल कर लिया। घटना को लूट की तरह प्रदर्शित करने के लिए देवकीनंदन ने अपनी पत्नी मनोरमा के जेवरात गायब कर दिए। हालांकि यहां वह एक चूक कर गया। पुलिस के मुताबिक उसने सिर्फ सोने के जेवरात चुराए थे नकली जेवरात तथा कुछ पैसे घटना के बाद मौके पर छोड़ दिए। इसलिए पुलिस के शक की सुई देवकीनंदन पर घूम गई। हालांकि उसने घटना को इस तरह अंजाम दिया की लूट की वारदात लग सके लेकिन  पड़ताल में जुटी पुलिस कुछ ही घंटों में मामले की तह तक पहुंच गई। पुलिस ने कट्टा भी  जप्त कर लिया जिससे युवक ने पत्नी की हत्या की थी और जेवरात भी जप्त कर लिए जो उसने पॉलिथीन में बंद करके घटनास्थल पर ही जमीन में गाड़ दिए थे। पुलिस अधीक्षक असित यादव ने बताया कि देवकीनंदन और मनोरमा का विवाह 3 वर्ष पूर्व हुआ था दोनों के बीच संबंध सामान्य नहीं थे। उस ने मनोरमा की हत्या का प्लान 10 दिन पहले ही बना लिया था। इसके लिए उसने कट्टा व कारतूस खरीदे। बुधवार को दोपहर के समय ससुराल के लिए निकला। इसके बाद शाम को 5:00 बजे मनोरमा को साथ लेकर मुरैना लौटने लगा तभी रास्ते में उसने दो जगह शराब भी पी थी। एसपी के मुताबिक रास्ते मे  किसी बात को लेकर उनका झगड़ा हो गया। इसी दौरान देवकी नंदन  ने मनोरमा को गोली मार दी और खुद के  पेट में कट्टे से फायर कर दिया ताकि मामला लूट का लग सके। फिलहाल आरोपी पुलिस की गिरफ्त में है।


Post A Comment:

0 comments: