मुरैना~~ट्रक की टक्कर से विद्युत लाईन टूटकर बारातियों पर गिरी, दो बच्चों की मौत, दूल्हा सहित बाराती घायल~~

मुरैना~~(चम्बल संभाग ब्यूरो चीफ संजय दीक्षित)

मुरैना~~ सुमावली थाना क्षेत्र में शुक्रवार की रात परचून से भरे एक ट्रक ने बिजली खम्बों में टक्कर मारी जिससे बिजली के खम्बे व तार टूटकर वहां से गुजर रही बारात पर जा गिरे, इस जबरदस्त हादसे में दो मासूम बच्चों की मौके पर ही मौत हो गई, जब कि दूल्हे सहित एक दर्जन बाराती बुरी तरह घायल हो गए। घटना के बाद ट्रक चालक वाहन को छोडक़र फरार हो गया। इस घटना से दूल्हा दुल्हन के घर के साथ ही पूरे सुमावली क्षेत्र में मातम पसर गया। आक्रोशित जनता ने शनिवार की सुबह सुमावली चारो ओर जाम लगाकर धरना प्रदर्शन शुरू कर दिया, वहीं लोगों ने विरोध स्वरूप सुमावली के सभी बाजार बंद रखे। सूचना मिलते ही पुलिस व प्रशासन के अधिकारी मौके पर पहुंच गए और देर दोपहर बाद तमाम आश्वासन मिलने के बाद मामला शांत हुआ।
प्राप्त जानकारी के अनुसार सुमावली कस्बा निवासी गौरव जैन की 8 मार्च को शादी थी और रात को उसकी बारात कस्बे से निकल रही थी, जिसमें रिश्तेदार व परिजन, अन्य बाराती चल रहे थे। इसी दौरान एक ट्रक क्रमांक आरजे11जीबी2504 जो परचून के सामान से ओव्हर लोड भरा था, चालक ने लापरवाही पूर्वक निकाला जिससे बिजली के तार उसके साथ खिंचे चले आए और एक के बाद एक ट्रक के लोड से रोड के किनारे खड़े सात खम्बे उखडक़र बारात के ऊपर जा गिरे। जब बिजली के तार व खम्बे गिरे तब बाराती खुशी-खुशी नाच गा रहे थे और देखते ही देखते वहां चीख पुकार मचने लगी। लोग समझ ही नहीं पाये कि आखिर क्या हुआ लेकिन जब बिजली के खम्बे टूटे देखे तो लोग अपनी-अपनी जान बचाकर भागने लगे। करंट की चपेट में आने से निशू जैन पुत्र चंपालाल उम्र 15 वर्ष व चीनू 2 वर्ष की मौके पर ही मौत हो गई, जब कि इस दुर्घटना में दूल्हा गौरव जैन, शैलेन्द्र जैन, मिथलेस, अजीत कुमार सिंह एक दर्जन बाराती घायल हो गए हैं जिन्हें जिला चिकित्सालय में भर्ती कराया गया है। घटना के बाद ड्रायवर ट्रक छोडक़र फरार हो गया। रात को इस घटना के बाद दूल्हा व दुल्हन के यहां मातम पसर गया और पूरे गांव में सन्नाटा छा गया।
सुबह होते ही आक्रोशित सुमावली की जनता ने सभी बाजार बंद कर दिए और सुमावली से चारो दिशाओं में जाने वाले रास्ते पर जाम लगाकर धरना प्रदर्शन शुरू कर दिया। घटना की सूचना मिलते ही कलेक्टर श्रीमती प्रियंका दास, पुलिस अधीक्षक असित यादव, एडीएम, एसडीएम, एसडीओपी जौरा के अलावा विधायक ऐंदल सिंह कंषाना मौके पर पहुंचे और मृतक के परिवारों को सान्त्वना देते हुए हर संभव सहायता देने का आश्वासन दिया। बताया जाता है कि तमाम आश्वासन के बाद ही ग्रामीण नहीं माने और देर दोपहर तक जाम लगा रहा। इस दुर्घटना में निशू जैन अपने पिता की इकलौती संतान थी और उसके पिता भी लकवा ग्रस्त थे जिस कारण उसके परिवार की स्थिति ठीक नहीं थी। निशू के परिवार को शासन की ओर से सहायता दिलाने के लिए ग्रामीण मांग कर रहे थे। देर दोपहर को जिला प्रशासन द्वारा मृतक निशू के परिवार को पीएम आवास योजना के तहत 400 स्क्वार फीट का भू-खण्ड, बीपीएल कार्ड, परिवार के एक व्यक्ति को कोटवार की नोकरी एवं आर्थिक तत्काल सहायता का आश्वासन दिया गया, जिसके बाद ग्रामीण शांत हुए।


Post A Comment:

0 comments: