।। *सुप्रभातम्* ।।
                 ।। *संस्था  जय  हो* ।।
          ।। *दैनिक  राशि  -  फल* ।।
          आज दिनांक 08 अप्रैल 2019 सोमवार संवत् 2076 मास चैत्र शुक्ल पक्ष की तृतीया तिथि सायं 04:16 बजे तक रहेगी उपरांत चतुर्थी तिथि लगेगी । आज सूर्योदय प्रातः काल 06:10 बजे एवं सूर्यास्त सायं 06:44 बजे होगा । भरणी नक्षत्र प्रातः 09:40 बजे तक रहेंगा पश्चात कृतिका  नक्षत्र आरंभ होगा । आज का चंद्रमा अपराह्न 03:51 बजे तक मेष राशि में भ्रमण करते हुए वृषण राशि में प्रवेश करेंगे । आज का राहू काल प्रातः 07:47 बजे से 09:20 बजे तक रहेंगा । दिशाशूल पूर्व दिशा में रहेंगा यदि आवश्यक हो तो दर्पण देख कर यात्रा आरंभ करें । जय हो ।

                   *ज्योतिषाचार्य*
          डाँ. पं. अशोक नारायण शास्त्री
         श्री मंगलप्रद् ज्योतिष कार्याल  245, एम.जी.रोड, (आनंद चौपाटी) धार एमपी,
             मो. नं.  9425491351

                   *आज का राशि फल*

          मेष :~ शरीर और मन की स्वस्थता भी आपके इस उत्साह को दुगुना कर देगी। स्नेही मित्रों तथा स्वजनों के साथ स्नेहमिलन के समारोह में जाना हो सकता है। परंतु मध्याहन के बाद किसी कारणवश आपका स्वास्थ्य नरम रहेगा। खान-पान में ध्यान रखें । धन संबंधी विषयों पर लेन-देन में भी ध्यान रखें ।

          वृषभ :~ घर की साज-सजावट में और अन्य विषयों में परिवर्तन करने के लिए आपकी रुचि बढेगी। माता के साथ सम्बंध अच्छे रहेंगे कार्यालय में उच्च अधिकारियों के साथ सम्बंध में सुधार आएगा। मध्याहन के बाद सामाजिक कार्यों में आप अधिक रुचि लेंगे। मित्रवर्ग से लाभ होगा।

          मिथुन :~ पारिवारिक और व्यावसायिक क्षेत्र में आपका दिन बहुत अच्छी तरह से बीतेगा, दोनों स्थलों पर आवश्यक विषयों के संबंध में चर्चा के बाद निर्णायक स्थिति का निर्माण हो सकता है। कार्यभार बढ़ने से स्वास्थ्य में कुछ ढीलापन आएगा, परंतु मध्याहन के बाद आपके स्वास्थ्य में सुधार होगा।

          कर्क :~ निर्धारित किए गए कार्य को करने की प्रेरणा मिलेगी। परंतु प्रयास करने पर ऐसा अनुभव होगा कि जितने भी प्रयत्न आप कर रहे हैं वह उल्टी दिशा में जा रहे हैं। क्रोध की मात्रा भी अधिक रहेगी। परंतु मध्याहन के बाद शारीरिक स्फूर्ति तथा मानसिक निश्चितता के कारण अपने आपको प्रफुल्लित पाएँगे।

          सिंह :~ आज दिन के प्रारंभ में शारीरिक और मानसिकरुप से अस्वस्थता और व्यग्रता का अनुभव होगा। क्रोध की मात्रा अधिक रहने से किसी के साथ मनमुटाव होगा। परंतु मध्याहन के बाद आपकी शारीरिक और मानसिक स्थिति में सुधार होगा। परिवार में भी आनंद का वातावरण होगा।

          कन्या :~ प्रेम और धिक्कार की राग-द्वेष जैसी भावनाओं को छोड़कर समतापूर्वक व्यवहार करने का आज दिन है। आध्यात्मिक क्षेत्र में सिद्धियाँ प्राप्त होने का योग है। परंतु स्वास्थ्य में शिथिलता और व्यग्रता का अनुभव होगा। क्रोध की मात्रा अधिक रहेगी, जिससे आपका कार्य बिगडे़ नहीं इसका ध्यान रखें ।

          तुला :~ विचारों में उग्रता और अधिकारत्व की भावनाएँ मन में रहेंगी। आर्थिक लाभ की और प्रवास की संभावना है। परंतु मध्याहन के बाद संध्या के समय अनर्थ न हो जाए इसलिए आपकी वाणी पर संयम रखना आवश्यक होगा। हितशत्रुओं से सावधान रहें । नए कार्य को प्रारंभ आज न करें ।

          वृश्चिक :~ बौद्धिक कार्यों को करने के लिए तथा जनसंपर्क बनाए रखने के लिए और लोगों के साथ घुले-मिले रहने के लिए दिन अच्छा है। छोटे प्रवास की संभावना है। धन-सम्बंधित आयोजन करने के लिए समय शुभ है। मध्याहन तथा संध्याकाल के बाद आप मित्रों तथा सम्बंधियों के साथ प्रवास का आयोजन कर पाएँगे।

          धनु :~ शारीरिक तथा मानसिक स्वास्थ्य के लिए संभलकर चले । अधिक श्रम के बाद कार्य में सफलता मिले तो निराश न हो। प्रवास-पर्यटन को आज हो सके तो टाले। शरीर में स्फूर्ति का संचार होगा। आर्थिक लाभ के लिए समय अनुकूल रहेगा।

          मकर :~ आपकी भावना को भी ठेस पहुँच सकती है। वाहन चलाते समय ध्यान रखें । आपत्तिकर विचार, व्यवहार और आयोजन से दूर रहें । किसी भी कार्य में शीध्र निर्णय ले। परिवार जनों के साथ परस्पर मनमुटाव ना बढे़ इसका ध्यान रखें । कार्य सफलता के लिए आज अधिक परिश्रम करना होगा।

          कुंभ :~ नए कार्य का प्रारंभ करने के लिए आज दिन के प्रारंभ का समय बहुत अनुकुल है। परंतु मध्याहन के बाद आपकी मानसिक व्यग्रता में वृद्धि होगी। संपत्ति विषयक दस्तावेज करने के लिए समय अनुकूल नहीं है। आपकी भावना को ठेस भी पहुंच सकती है।

          मीन :~ आज का दिन आपके स्वार्थी व्यवहार को तिलांजलि देकर अन्यों के विषय में विचार करें । घर, कुटुंब तथा व्यावसायिक क्षेत्र में समाधानकारी व्यवहार अपनाने से वातावरण आपके पक्ष में रह सकता है। वाणी पर संयम रखने से आप विवाद तथा मनदुःख को टाल सकेंगे। ( डाँ. पं. अशोक शास्त्री )

।।  शुभम्  भवतु  ।।  जय  सिया राम  ।।
।।  जय  श्री  कृष्ण  ।।  जय  हो,,,,,,,,,,।।


Post A Comment:

0 comments: