इंदौर~ इंदौर से अजमेर के लिए 9 बसों से ज़ायरीनों का काफिला रवाना~~


इंदौर। ख़्वाजा मेरे ख़्वाजा, दिल में समा जा, शाहों का शाह तू, अली का दुलारा,
बेकासो की तक़दीर तूने है सवारी,ख़्वाजा मेरे ख़्वाजा की सदाओं के साथ इंदौर से अजमेर के लिए 9 बसों से काफिला रवाना हुआ।बम्बई बाजार चौराहे से काफिला को हरी झंडी दिखाकर मंज़ूर बेग,बंटी टापिया,अनवर देहलवी, नौशाद पाटिल, शाकिर मुन्ना ने अजमेर ज़ायरीनों को विदा किया।जैसे ही 9 बस एक साथ जवाहर मार्ग से गुज़री तो माहौल देखते ही बनता था।बंटी टापिया ने बताया कि संस्था नक्शबंदी द्वारा ये काफिला अजमेर प्रतिवर्ष निशुल्क ले जाया जाता है, ताकि हर इंसान जिसकी अजमेर ज़ियारत की ख्वाहिश रहती है पूरी हो सके।उन्होंने बताया अजमेर में सभी ज़ायरीनों द्वारा जश्ने मालिके हिन्दोस्तां मनाया जाएगा और देश की खुशहाली के लिए ख़ास दुआ मांगी जाएगी।इंदौर के अलावा कोटा,चित्तौड़गढ़,डग,शामगढ़,झालावाड़ आदि इलाक़ों से तक़रीबन 700 ज़ायरीन अजमेर पहुंचेंगे।अजमेर की शाहजहांनी मस्जिद पर में बरेली के मौलाना रफ़ीक़ आलम,मुफ़्ती हबीब यार खां, शहर काजी डॉ. सैयद इशरत अली की तक़रीर होगी।अजमेर के ख़ादिम सैय्यद अयान अली की खास मौजूदगी में ख्वाजा साहब के आस्ताने पर चादर पेश कर देश की सलामती और खुशहाली के लिए दुआ मांगी जाएगी।


Post A Comment:

0 comments: