करही~ स्वच्छता अभियान की उड़ रही धज्जिया,,,लाखो खर्च करने के बाद भी  नगर में लग रहा गन्दगी का अंबार~~


करही~पूरे भारत मे जहाँ एक और स्वच्छता मिशन के अन्तर्गत युद्ध स्तर पर कार्य हो रहा है वही करही नगर परिषद स्वच्छता के नाम पर रुपये बर्बादी के अलावा कुछ नही कर रही है ।नगर के हर वार्ड में गन्दगी बिसरी पड़ी हुई है,, नगर में अधिकांश जगहो पर नालियां नही है और जहाँ कुछ जगह पर है तो वहाँ की स्थिति बदतर है ।नालिया बन्द होने से  लोगे के घरों में नालियों का गन्दा पानी गुस रहा है जिससे लोग बीमारी की चपेट में आ रहे है ।निमाड़ के सबसे बड़े महापर्व और आस्था के केंद गणगौर के रथ ले जाने वाले मार्ग पर भी गंदगी व कचरे का अंबार है । साथ ही सबसे बड़ी विडंबना ये ही कि जिले में नगर परिषद स्वच्छता में भले ही नम्बर तीन पर आई हो लेकिन जमीन हकीकत कुछ और ही बयान करती है । नगर परिषद को बने लगभग साढ़े 4 वर्ष हो गए लेकिन आज तक करही पाडल्या और आखीपुरा में एक भी सुलभ शौचालय का निर्माण नही हो सका जबकि ये  वादा भी बीजेपी ने अपने घोषणा पत्र में किया था ।
नगर के वार्ड क्र 10 की रहवासी भाजपा महिला मोर्चा की मीडिया प्रभारी करिश्मा सोलंकी, बलीराम, प्रभा कोगे आदि ने बताया कि हमारे वार्ड में 5 से 7 दिन सफाई कर्ता आते है वो भी ठीक से सफाई नही करते । मोहल्ले में भी गंदगी पसरी रहती है ।अभी गणगौर माता के रथ जिस मार्ग से निकलेंगे वहाँ भी अथाह गंदगी पड़ी हुई है जिससे भक्तो की आस्था पर चोट पहुचती है । वार्ड क्र 13 के पार्षद छोटू खान ने बताया कि हमारे वार्ड में 15 दिन में एक बार सफाई होती है वो भी अधूरी । परिषद में बार बार बोलने के बाद भी कोई सुनवाई नही होती है ।वार्ड क्र 11 के वर्धमान कालोनी के रहवासी की पीड़ा तो असहनीय है । कालोनी के जैनेन्द्र जैन, राजेश मालवीय आदि ने बताया कि कालोनी की नालिया पूर्णतः बन्द पड़ी है । कई जगह नालियो को रास्ते मे ही खोल दिया जिससे मच्छर हो रहे है व डेंगू ,  मलेरिया व अन्य बीमारिया फैलने का डर हो रहा है । वार्ड क्र 12 के भावेश डाकोलिया, सुरेन्द्र पारख, ने बताया कि हमारे वार्ड में कचरे व गंदगी का अंबार लगा हुआ है । गंदगी की सड़ी बदबू से जीना दुशवार हो गया है । प्रदेश की सबसे छोटी परिषद होने के बाद भी परिषद में 1 ट्रैक्टर व 3 डोर टू डोर कचरा वाहन उपलब्ध है फिर भी सफाई के मामले में परिषद जमीनी स्तर पर फिसड्डी नजर आ रही है ।

इसके अलावा नगर में लगभग रोजाना आसपास से सैकड़ो पुरुष महिलाएं व बच्चे करही आते है लेकिन करही सहित आखीपुरा, पाडल्या में एक भी जगह पर सुलभ शौचालय का निर्माण अभी तक नगर परिषद नही करवा पाई है ।स्वच्छता के मामले में तीसरे नम्बर पर आने वाली परिषद के तीनों गावो में एक भी सुलभ शौचालय का न होना बड़ा दी दुख दायीं है ।शौचालय के आभाव में लोगो को खुले में जाना पड़ता है वही महिलाये परेशान होती रहती है ।परिषद चुनाव के समय बीजेपी ने चुनावी वादे में ये वादा की किया था कि बीजेपी की परिषद आने पर नगर को सुलभ शौचालय की सुविधा उपलब्ध कराएंगे ।पूर्ण बहुमत व पर्याप्त पार्षद होने के बावजूद 4 साल 4 महीने बीत जाने पर भी आज तक एक भी शौचालय का न होने आज भी नगर वासियो के लिए पीड़ादायी है ।

क्या कहते जिम्मेदार
सुलभ शौचालय का प्रस्ताव परिषद में पास होने के बाद कार्यवाही की जाएगी ।सफाई के लिए संसाधनों की कमी है फिर भी हम कोशिश कर रहे है ।
सीएमओ नगर परिषद करही
संजय रावल


Post A Comment:

0 comments: