खंडवा~ सिंगाजी तट पर  नर्मदा में डुबकी लगाकर किए दर्शन ~~

अमावस्या पर हजारों की संख्या में पहुंचे भक्त गण ~~

बीड/खंडवा रवि कुमार ~~


निमाड़ के चमत्कारी संत सिंगाजी महाराज की समाधि स्थल पर सुबह प्रातः 6:00 बजे से चैत मास की पित्र मोक्ष अमावस्या स्नान पर्व को लेकर भक्तों की भीड़ उमड़ी हजारों की संख्या में भक्तगण सिंगाजी धाम की नर्मदा में डुबकी लगाकर गुरु सिंगा महाराज की समाधि स्थल पर पहुंच अपना माथा टेक अपनी मनोकामना पूर्ण करने की कामना मांगी साथी दूर-दराज से आए महिला पुरुष बच्चों सहित भक्तों ने सिंगाजी धाम पर ही दाल बाटी का व्यंजन बनाया जो गुरु सिंगाजी बाबा का सबसे महत्वपूर्ण व्यंजन होता है अक्सर सिंगाजी धाम पर पहुंचने वाले भक्त गण दाल और बाटी बनाते हैं और बाबा की भजन संध्या में लीन होकर दर्शन का लाभ लेते हैं  खंडवा जिले के साथ  अन्य जिले हरदा होशंगाबाद बैतूल से आए भक्तजनों ने बताया कि हम कई वर्षों से परंपरा अनुसार सिंगाजी बाबा की समाधि स्थल पर पहुंचते हैं वह दर्शन कर अपनी मनोकामना पूर्ण करते हैं यह परंपरा हमारी बुजुर्गों के समय से चली आ रही है समाधि पर पहुंचकर मन में बहुत सुकून और शांति सा महसूस होता है जैसे कि यहां पहुंच कुछ अद्भुत चमत्कार मन में विचलित होते हैं हम हमारे परिवार सहित हर त्योहार मेले में गुरु पूर्णिमा पर  पहुंचकर दर्शन का लाभ लेते हैं

कुछ पल बिताने पर मन को बहुत लगता है अछा --

बाहरी क्षेत्र से सिंगाजी के भक्तों ने बताया की हम जब भी सिंगाजी बाबा की समाधीस्थल पर पहुंच बाबा की समाधि पर जल रही अंखड ज्योत के दर्शन करते हैं तब मन को बहुत अद्भुत शांति भी मिलती है और बाबा की समाधि पर कुछ पल बिताने पर बहुत सुकून सा लगता है जैसे बहुत शांति और मन बड़ा मुग्ध हो जाता है निमाड के प्रसिद्ध व चमत्कारी बाबा के नाम से सिंगाजी महाराज का वर्णन पुरे देश मे विख्यात है ..

व्यवस्थाओं की बहुत सी कमी है अभी--
सिंगाजी पहुंचे श्रद्धालुओं ने बताया कि सुरक्षा को लेकर सिंगाजी धाम पर के नर्मदा तट पर सुरक्षा के मुकुल इंतजाम भी मौजूद नहीं है हजारों भक्त समाधि स्थल पर आकर अमावस्या पर्व स्नान तो जरूर करते हैं पर यहां स्नान के लिए पर्याप्त घाट नहीं है जिसका बनना बहुत जरूरी है होने वाली घटनाओं पर रोकथाम लगाना है तो प्रशासन को सजा कुकर इस और ध्यान देना चाहिए.

भीड़भाड़ को संतुलित संभालती हुई बीड़ मुंदी पुलिस --


सिंगाजी धाम पर दोपहिया वाहनों वह चार पहिया वाहनों से दर्शन को पहुंच रहे भक्तगणों की यातायात व्यवस्था बीड़ पुलिस चौकी चौकी से एस आई शिव राम पाटीदार ,कमल सिंह दसोधी,जितेंद्र डोडे,लक्ष्मी नारायण चौरे सहित स्टाफ ने वयवस्था संभाली जानकारी देते हुए बताया की हम सुबह छ बजे से सिंगाजी घाम पहुंच आने वाले भक्तों के वाहनो को सुचारू रुप से लगवाकर यातायात सुचारू रहे साथ ही घाट पर भी भक्तो को बनी सीढियों पर ही स्नान करने को  कहाँ जा रहा है


Post A Comment:

0 comments: