बड़वानी~ अच्छी पुस्तकें पढ़ने को बनायें रुचि, इसमंे है आनंद भी, सफलता भी~~


बड़वानी/शहीद भीमा नायक शासकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय, बड़वानी के कॅरियर सेल द्वारा आज 25 वें विष्व पुस्तक दिवस के अवसर पर प्राचार्य डाॅ. आर. एन. शुक्ल के मार्गदर्षन में विद्यार्थियों को छोटे-छोटे समूहों में अच्छी पुस्तकें पढ़ने के लिए प्रेरित किया गया। पुस्तकालय विषेषज्ञ कार्यकर्ता मास्टर आॅफ लायब्रेरी एंड इन्फोर्मेषन साइंस प्रीति गुलवानिया ने कहा कि अच्छी पुस्तकें पढ़ने को अपनी हाॅबी बनायें। इनसे अच्छा कोई मित्र नहीं होता है। यु पुस्तकें आनंद देने के साथ ही जीवन के हर क्षेत्र में सफलता भी देंगी। कॅरियर काउंसलर डाॅ. मधुसूदन चैबे ने बताया कि संयुक्त राष्ट्र संघ के अभिकरण यूनेस्को द्वारा सन् 1995 में पहली बार 23 अप्रैल को विष्व पुस्तक दिवस के रूप में मनाया गया था। भारत में यह 2001 से मनाया जा रहा है। आज 25 वां विष्व पुस्तक दिवस है। दुनिया के महान नाटककार शेक्सपियर की मृत्यु 23 अप्रैल, 1616 को हुई थी। शेक्सपियर की पुण्यतिथि अर्थात् 23 अप्रैल को यूनेस्को ने विष्व पुस्तक दिवस के रूप में चुना है। एम. ए. अंग्रेजी साहित्य करने के दौरान शेक्सपियर पर विषेष अध्ययन कर चुके डाॅ. चैबे ने बताया कि शेक्सपियर के नाटक और सोनेट बहुत प्रसिद्ध हैं। उन्होंने लगभग 37 नाटक लिखे। इनमें सुखांत तथा दुखांत दोनों प्रकार के नाटक सम्मिलित हैं। कॅरियर सेल आगामी दिनों में विद्यार्थियों को अध्ययन योग्य उच्च कोटि की पुस्तकों की जानकारी देकर उन्हें अध्ययन के लिए प्रेरित करता रहेगा। व्यक्तियों और पुस्तकों को परस्पर जोड़ना ही विष्व पुस्तक दिवस का उद्देष्य है। आयोजन में सहयोग किरण वर्मा, ग्यानारायण शर्मा, शुभम सेन, आवेष खान ने किया।


Post A Comment:

0 comments: