इंदौर~ दुखी लोगों की मदद ही सच्ची इंसानियत की ख़िदमत~~


इंदौर।आज के इस दौर में जब सगे सम्बन्धी पराये हो रहे हैं, ऐसे वक्त में दुखी लोगों की मदद करना इंसानियत की सच्ची ख़िदमत,सच्ची सेवा है।उक्त विचार शहर काजी डाक्टर इशरत अली ने खजराना में हाजी नूर मोहम्मद पटेल चेरिटेबल ट्रस्ट द्वारा गरीबों की मदद के उद्देश्य से स्थापित खजराना विज़न सेन्टर के शुभारंभ अवसर पर व्यक्त किये।गरीबों को आंखों की जांच के लिए परेशान न होना पड़े इस उद्देश्य से खजराना में पहली बार  आधुनिक मशीनों से आंखों की जांच और इलाज करने के लिए खजराना विज़न सेंटर की स्थापना की गई है। उदघाटन कार्यक्रम में मुख्य अतिथि  शहर काज़ी डॉ इशरत अली ने उदबोधन दिया।हाजी यूनुस पटेल ने किसी की ज़िंदगी को रोशन करना बड़ी सेवा है।  हाजी नूर मोहम्मद पटेल चेरिटेबल ट्रस्ट के ट्रस्टी हाजी शरीफ पटेल कर्नल,सलीम कर्नल भी उपस्थित थे। मैनेजिंग ट्रस्टी हाजी उस्मान पटेल फेमस ने आभार प्रदर्शन किया।कार्यक्रम का संचालन इक़बाल अहमद इब्बी किया।इस सेंटर पर गरीबों का इलाज रियायत के साथ और मोतियाबिंद का ऑपरेशन मुफ्त में किया जाएगा।हाजी नूर मोहम्मद पटेल चेरिटेबल ट्रस्ट द्वारा खजराना को नेत्र चिकित्सा की बड़ी सौगात मिलने से रहवासियों में हर्ष व्याप्त है।
हाजी नूर मोहम्मद पटेल चेरिटेबल ट्रस्ट और इंदौर  आई हॉस्पिटल, सेवा अंतरराष्ट्रीय, श्री गोविंदराम सेकसरिया एडवांस्ड केटरेक्ट सर्जरी सेंटर और नाहरशाह वली इन्तेज़ामिया कमेटी के सदर के परस्पर सहयोग से यह विज़न सेंटर रोज़ाना दिन में निश्चित समय पर संचालित होगा। जिससे क्षेत्र के लाखों लोग लाभान्वित होंगें।डॉ. सुहास पांड़े और डॉ इरशाद  खान ने बताया कि वो खजराना क्षेत्र में कई वर्षों से किसी सहयोग की अपेक्षा में थे फिर नाहरशाहवाली दरगाह इन्तेज़ामिया कमेटी के अध्यक्ष हाजी यूनुस पटेल से मुलाक़ात हुई तो उन्होंने अपने चेरिटेबल ट्रस्ट के माध्यम  से ज़मज़म चौराहे पर निजी जगह उपलब्ध करवाई और अन्य तरह से सहयोग भी किया।
इस सेंटर पर बहुत ही रियायती दर 30 रु में आधुनिक मशीनो द्वारा आंखो की जांच की जायेगी। जरुरी होने पर मोतियाबिंद का ऑपरेशन भी इंदौर आई हॉस्पिटल द्वारा किये जायेंगे। गरीब एवं बेसहारा लोगों का सभी तरह का इलाज फ़्री मे किया जायेगा। यह सेंटर रोजाना सुबह 10 बजे से शाम 4 बजे तक लोगों की सेवा के लिए खुला रहेगा।ऐसे व्यक्ति जो इलाज के खर्च मे असमर्थ होंगे उनका सारा खर्च संस्था वहन करेगी।


Post A Comment:

0 comments: