धार/सरदारपुर~ राजगढ़-लेडगाँव रोड़ पर पलटी मीनी बस~~

धड़ल्ले से दौड़ रही थी अनफिट बस परमीट लेकर~~

लगभग 10 बस यात्री हुए घायल~~

धार/सरदारपुर (शैलेन्द्र पँवार)



     जिले का यातायात भले ही यातायात नियमों को सख्ती से पालन करने का दाँवा ठोकता हो लेकिन सरदारपुर तहसील के राजगढ़-दसई मार्ग पर हुई घटना ने यातायात विभाग कि पौल खौलकर रख दी है! सरदारपुर तहसील मे स्कूल बसों कि बात करे या यात्री बसों की, कई बस व मीनी बस यातायात के नियमों को ताक मे रखकर सरपट रफ्तार से सड़कों पर दौड़ती देखी जाती रही है! यातायात अधिकारी भी प्रतिवर्ष की औसतन कार्यवाई कर अपने कर्तव्यों की इतिश्री कर लेते है और लक्ष्मीनारायण के प्रलोभन मे आकर अनफिट वाहनों तक को परमीट दे डालते है, जिसका खामीयाजा यात्रायो को भरना पड़ता है!
       जी हाँ हम आपको बता दे कि मीनी बस क्रमांक आर.जे.-03 पीए 2667 माडल वर्ष 2007 कि बताई जा रही है जो राजस्थान पासींग होकर अनफिट कन्डीशन मे राजगढ़-दसई रूट के परमीट पर चलाई जा रही थी! इस मीनी बस के अनफिट होने के चलते बीना किसी रौक रूकावट के ही रोड़ पर चलती बस पलटी खा गई जिसमें बीना किसी रशीद पर्ची दिये शासन का टैक्स भी चुराया जा रहा था! इस दुर्घटना मे लगभग 15 बस यात्री घायल हुए, जिन्हें सरदारपुर एवं अमझेरा कि स्वास्थ्य कैन्द्रो पर रैफर किया गया तो वही गम्भीर घायलों को भोज चिकित्सालय धार रैफर किया! क्षैत्र मे अब भी ऐसी कई अनफिट स्कूल बस एवं यात्री बस यातायात अधिकारी शैलेन्द्र निगम कि लापरवाही को स्पष्ट कर रही है जो अनफिट होकर भी परमीट लिये स्कूली बच्चों एवं यात्रायो कि मौत को न्यौता दे रही है! अब देखना ये होगा कि यातायात अधिकारी शैलेन्द्र निगम इस घटना से भी सबख लेंगे या पिछली मर्तबा कि भाँति इस मर्तबा भी कुम्भकर्णीय निन्द मे ही सौये रहेंगे!


Post A Comment:

0 comments: