*बुरहानपुर~मुमताज महल फेस्टिवल की गोल्डन जुबली पर दो दिवसीय समारोह का आयोजन 16 और 17 जून 2019 को बुरहानपुर में*~~
         
बुरहानपुर ( मेहलका अंसारी) 


50 साला ताजमहल फेस्टिवल का गोल्डन जुबली समारोह 16 और 17 जून 2019 रविवार एवं सोमवार को अपनी शानदार परंपरा और रीति रिवाज के अनुसार संपन्न होगा । मुमताज महल फेस्टिवल के पुरोधा शहजादा मोहम्मद आसिफ पान खान गौरी, मोहतरमा रफत आसिफ ख़ान  और उनके उत्तराधिकारी पुत्र एवं कार्यक्रम संयोजक  डॉक्टर वासिफ यार ने  बताया कि कार्यक्रम का शुभारंभ 16 जून 2019 रविवार को होगा। इसमें सगीरा  बानो वेलफेयर सोसायटी बुरहानपुर के सौजन्य से 100 मुस्लिम जोड़ो और 15 नॉन मुस्लिम जोड़ों इस प्रकार कुल 115 जोड़ों का सामूहिक निकाह/विवाह  मुख्यमंत्री निकाह योजना के तहत हुसैन मैरिज हॉल सिंधी बस्ती बुरहानपुर में प्रातः 10:00 बजे संपन्न होगा। इस सामूहिक विवाह में शामिल होने वाले प्रत्येक जोड़े को मुमताज महल की आकृति जैसा ताज, कुरान पाक, जा नमाज आदि भी भेंट स्वरूप दिया जाएगा। दूसरे दिन 17 जून 2019 महत्वपूर्ण कार्यक्रम में फिल्म इंडस्ट्री मुंबई के कलाकारों की गरिमामय  उपस्थिति में भारतीय धरोहरों की सुरक्षा पर सेमिनार का आयोजन और प्राचीन ऐतिहासिक सामानों  की प्रदर्शनी का कार्यक्रम प्रातः 9:00 बजे से मैक्रो विजन अकैडमी मोहम्मद पुरा बुरहानपुर में आयोजित किया गया है। शाम  4:00 बजे बेगम मुमताज महल की अस्थाई आराम गाह  पाइन बाग में मुमताज बेगम की 388 वीं बरसी पर कुरान खानी , हलीम और जलेबी के प्रसाद का वितरण होगा। इसी के साथ राजा जयसिंह की छतरी पर भारत की शांति और सद्भावना खुशहाली और तरक्की के लिए सर्व धर्म प्रार्थना सभा होगी। रात्रि में 8:00 बजे गोल्डन जुबली के अवसर पर फिल्मी अवॉर्ड फंक्शन 50 साला इतिहास की जानकारी पर शहजादा आसिफ खान स्वागत भाषण के साथ अपनी बात जनता के सम्मुख प्रस्तुत करेंगे। रात्रि 10:00 बजे पूर्व मंत्री सरदार तनवंत  सिंह कीर की स्मृति में अखिल भारतीय मुशायरा व कवि सम्मेलन का आयोजन गुलमोहर मार्केट में होगा। जिसमें भारत के प्रख्यात शायर और कवि गण शरीक होंगे। शहजादा मोहम्मद आसिफ आन खान गौरी, श्रीमती रफत आसिफ खान गौरी और डॉक्टर वासिफ यार और गौरी खानदान के समस्त सदस्यों ने सर्वसाधारण जनता से दो दिवसीय आयोजन में हजारों की संख्या में शिरकत करके गोल्डन जुबली समारोह को सफल बनाने की अपील की है। कार्यक्रम में पुरातत्व विभाग दिल्ली और भोपाल के वरिष्ठ अधिकारियों के शामिल होने की भी संभावना है। विगत वर्ष फिल्म अभिनेत्री अर्जुमंद मुगल और फिल्मी शायर एम ए एतराज ने भी शिरकत की थी। शहजादा मोहम्मद आसिफ ख़ान गौरी के प्रयासों से देश के प्रख्यात महानुभाव इस प्रोग्राम में आ चुके हैं और बुरहानपुर का नाम देश और दुनिया के मानचित्र पर लाने में शहजादा मोहम्मद आसिफ खान गौरी की महत्वपूर्ण भूमिका है।


Post A Comment:

0 comments: