मुरैना~~शादी का कार्ड लगाने गए युवक का 70 दिन बाद मिला बीहड़ों में नरकंकाल~~

मुरैना~~(चम्बल संभाग ब्यूरो चीफ संजय दीक्षित)



मुरैना~~अम्बाह थाना क्षेत्र में  अपनी ही शादी के कार्ड बांटने निकले युवक का कंकाल 70 दिवस बाद चम्बल के बीहड़ों में मिला है। परिजनों ने कपड़ों व सामान के आधार पर शिनाख्त भी की है। उसी गांव की गायब लडक़ी के खून से बिगड़े कपड़े तथा सिर के बाल वहां मिले हैं, इससे घटना आँनरकिलिंग की संभावित हो सकती है। लेकिन लडक़ी का कंकाल बीहड़ में 5 घंटे की तलाशी के बाद भी नहीं मिला है। पुलिस के एफएसएल व डॉगस्कोड दल ने भी घटना स्थल पर जांच भी की है। जानकारी के अनुसार
मुरैना जिले की अम्बाह तहसील के खिरेंटा गांव निवासी कालीचरण माहौर का 22 वर्षीय पुत्र वीरेन्द्र अपनी शादी के कार्ड बांटने के लिये 1 अप्रैल 2019 को मोटरसाइकिल से घर से निकला था। 2 अप्रैल को उसकी मोटरसाइकिल लावारिश हालत में महासुख का पुरा रोड़ पर चम्बल के बीहड़ों के किनारे मिली, लेकिन वीरेन्द्र का कोई पता नहीं चल सका। आज सुबह चम्बल के बीहड़ों में एक कंकाल के पास विवाह की चिट्ठियां पड़ी होने की सूचना पर पुलिस ने तलाशी की। उन आमंत्रण पत्रों के आधार पर पुलिस ने कालीचरण माहौर को बुलाकर तस्दीक कराई। उसने स्वीकार किया कि यह सामग्री व कपड़े, मोबाइल वीरेन्द्र के ही हैं। लापता युवक के कंकाल मिलने की सूचना मिलते ही पुलिस के अधिकारी घटना स्थल पर एफएसएल दल व डॉगस्काड को लेकर पहुंचे। 4 घंटे की मशक्कत के बाद एफएसएल दल व पुलिस ने नरकंकाल व सामग्री एकत्रित कर ली। इस  घटनास्थल पर ही  वीरेन्द्र के गांव की गायब एक लडक़ी के खून से बिगड़े कपड़े तथा सिर के बाल नरकंकाल के पास मिले।जिससे यह घटना आनर किलिंग की होने की संभावना दिख रही है । पुलिस अभी नरकंकाल के डीएनए कराने की बात कह रही है।


Post A Comment:

0 comments: