*भोपाल~90 दिन में निराकरण का वचन निभाएं वर्तमान सरकार ..*~~


भोपाल :- विगत 15 वर्षों से सत्ता का सूखा झेल रही वर्तमान कांग्रेस सरकार द्वारा विधानसभा चुनावों से पहले घोषणा पत्र के बदले वचनपत्र  तैयार किया जिसमें कर्मचारियों के लिए विभिन्न सौगातें मध्यप्रदेश कांग्रेस कमेटी द्वारा अपने वचनपत्र में दी ..

चूंकि वर्तमान भाजपा सरकार से त्रस्त कर्मचारियों ने जिसमें से निष्कासित साक्षरता संविदा प्रेरक भी शामिल हैं ने युद्ध का बिगुल बजाया औऱ पुरजोर तरीके से मामा शिवराज सिंह जी को सत्ता से बेदखल कर दिया कारण स्पस्ट था कर्मचारियों की अनदेखी ..!

शायद इसी पथ पर वर्तमान कांग्रेस सरकार अग्रसर हो रहीं हैं जो आश्वासन में वचन तो देती हैं वचन स्वरूप बोला भी जाता हैं कि साक्षरता प्रेरकों का अगर कांग्रेस सरकार बनी तो 90 दिवस में निराकरण किया जाएं ...


तय वचन के आधार पर प्रदेश के 23930 प्रेरकों एवं प्रेरक परिवार द्वारा दिल खोलकर सहयोग किया लेकिन सत्ता में आते ही सत्ता एवं भोग विलासिता के कारण वर्तमान सरकार शायद उन साक्षरता प्रेरकों को ही भूल गयीं जिन्होंने उन्हें सत्ता के शीर्ष मुर्खर पर सजाया कारण यही है तभी तो सरकार को अपने ही दिए वचन पर विल्कुल भी ध्यान नहीं आ रहा ..

*वचन देकर भूली वर्तमान सरकार*

ऐसा भी नहीं कि साक्षरता प्रेरकों ने वर्तमान में 90 दिन में सरकार को याद न दिलाया हो याद दिलाने के लिए साक्षरता संविदा प्रेरकों ने अपनी एड़ी चोटी का जोर लगाते हुए 10 कैविनेट मंत्रियों एवं 18 सत्ता रूढ़ विधायकों से अपने लिए अनुसन्सा पत्र लिखवाए सबने अपने पत्रों में स्पस्ट लेख दिया कि साक्षरता सविदा प्रेरकों की मांगे जायज है और वचन पत्र के आधार पर इसका तय समय मे उचित निराकरण किया जाएगा लेकिन समय तो गुजर गया लेकिन हालात जस के तस अभी भी बनें हुए हैं ...

ऐसे में साक्षरता संविदा प्रेरक एक बार फिर 90 दिन में निराकरण का वचन याद दिलाने के लिए पुनः कमर कस रहा है इसके लिए साक्षरता प्रेरक आंदोलन की राह पकड़ सकतें हैं ...


Post A Comment:

0 comments: