खण्डवा~15 से 17 जुलाई तक डी.जे. साऊण्ड के उपयोग पर प्रतिबंधित~~
 
रवि कुमार खण्डवा~~



जिले में गुरूपूर्णिमा का पर्व आगामी 15 से 17 जुलाई तक परम्परागत तरीके से मनाया जायेगा। गुरूपूर्णिमा पर्व के दौरान खण्डवा की सुविधा को दृष्टिगत रखते हुए तथा ध्वनिप्रदूषण को नियंत्रित किये जाने हेतु तीव्र संगीत बजाने वाले डी.जे. साउण्ड से उत्पन्न होने वाले कोलाहल को प्रतिबंधित किया गया है। कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी  तन्वी सुन्द्रियाल ने सम्पूर्ण खण्डवा शहर में 15 से 17 जुलाई तक कोई भी व्यक्ति डी.जे. साऊण्ड का उपयोग बिना विहित प्राधिकारी की अनुमति के नहीं कर सकेगा। अधिनियम के प्रयोजन के लिए खण्डवा नगर निगम क्षेत्र के लिए अनुविभागीय  अधिकारी एवं दण्डाधिकारी खण्डवा को विहित प्राधिकारी घोषित किया गया है। डी.जे. साउण्ड चलाए जाने की अनुमति दो घन्टे से अधिक अवधि के लिए नही दी जायेगी। इन आदेषों का उल्लघन करने वाले व्यक्तियों को 6 माह का कारावास एवं एक हजार रूपये का जुर्माना लगाया जायेगा एवं बिना अनुमति उपयोग में लाये जाने वाले उक्त प्रकरण व सामग्री को जप्त भी किया जायेगा।
उल्लेखनीय है कि गुरूपूर्णिमा पर्व के दौरान निकटवर्ती महाराष्ट्र राज्य एवं इस जिले के आसपास के अन्य जिलों से लाखों की तादाद में धूनीवाले दादाजी के दर्षनार्थ भक्तगण खण्डवा आते है। भक्तगणों के स्वागत में खण्डवा शहर को जोड़ने वाले चारों दिषाओं के मार्ग तथा खण्डवा शहर के मुख्य मार्गो पर चाय तथा नाष्ते हेतु पोहा, जलेबी, हलवा-पुड़ी, साग-पुरी इत्यादि के स्टाल का लगाते है तथा भक्तगणों का इन स्टालों की ओर ध्यान आकर्षित किये जाने हेतु ध्वनि विस्तारक यंत्रो का उपयोग करते है। उक्त प्रयोजन के लिये कई स्थानों पर तीब्र संगीत वाले डी.जे. साऊण्ड का प्रयोग किया जाता है। विगत वर्षो में डी.जे. साऊण्ड के परिणाम स्वरूप शहर में ध्वनिप्रदूषण अत्यधिक हो जाता है तथा अन्य व्यवस्थाएं प्रभावित होती है। इस कारण से यह प्रतिबंध लगाया गया है। 


Post A Comment:

0 comments: