खातेगांव ~बिजलगांव, कुंडागांव खुर्द, मंडलेश्वर ,मेलपीपला में कंट्रोल रूम रहेगा, ~~

वायरलेस सेट के साथ एक कर्मचारी 24 घंटे रहेगा तैनात,~~

नेमावर में बाढ़ की तैयारी को लेकर बैठक संपन्न,~~

अनिल उपाध्याय खातेगांव ~~



बीते 3 दिन पहले प्रदेश सहित क्षेत्र में हुई भारी बारिश के चलते जहां नदी नाले उफान पर थे, वही नर्मदा नदी में भी तेजी से पानी बड़ा  !जिसके चलते नाभि कुंड पानी में समा गया ! आगामी दिनों में भारी बारिश की संभावना को देखते हुए साथ ही
मौसम विभाग की आगामी दिनों में  बारिश की चेतावनी को  प्रशासन ने गंभीरता से लिया है! देवास डीएम  श्रीकांत पांडेय ने अधीनस्थ अमले को बाढ़ से निपटने के लिए व्यापक तैयारी करने के साथ ही बाढ़ ग्रस्त ग्रामों का दौरा करने के निर्देश जारी किए हे!  उसी तारतम्य  गुरुवार को  एसडीएम  शोभाराम सोलंकी ने  सभी विभागों के कर्मचारियों के साथ ग्राम सुरक्षा समिति,  चौकीदार,  रोजगार सहायक, सचिव ,पटवारियों,  वन विभाग के कर्मचारी  के साथ ही सभी विभाग के अधिकारी एवं कर्मचारियों के साथ  नेमावर के नर्मदा तट पर बाढ़ के संबंध में
बैठक आयोजित की बैठक में  तहसीलदार अल्का एक्का, सीईओ अफसर खान, सीएमओ आंन्दीलाल वर्मा, नायब तहसीलदार अर्पित जेन, परमार महिला बाल विकास अधिकारी रामप्रवेश तिवारी, वन परिक्षेत्र अधिकारी खुमानसिह सौलकी, नेमावर टीआई अविनाश सेंगर, सज्जनसिह मुकाती,पशु चिकित्सक  रितु कोठे, डा  पवन तिवारी, विद्युत अधिकारी विजय जी ,वी एम ओ गणपत सिह बघैल, नेमावर नगर पंचायत परिषद अध्यक्ष मनोरमा यादव, जिला पंचायत सदस्य बलराम सेवलिया सहित अनेक जनप्रतिनिधि कर्मचारी, विशेष रूप से उपस्थित थे!

2 दर्जन से अधिक गांवों में बाढ़ ने कहर बरपाया था!
-----------------------------
2013 में नेमावर बेल्ट से लगे 2 दर्जन से अधिक गांव में बाढ़ ने कहर बरपाया था! जिससे चलते नेमावर को पानी ने चारों तरफ से घेर लिया था ,हजारों एकड़ फसल तहस-नहस हो गई थी ,आपदा से निपटने के लिए सेना के जवानों को मोटर बोट और हेलीकॉप्टर तक का सहारा लेना पड़ता था उसी को ध्यान में रखते हुए स्थानीय प्रशासन अभी से ही आपदा प्रबंध को व्यवस्थित करने में जुटा है ,इन बातों को गंभीरता से लेते हुए एसडीएम शोभाराम सोलंकी ने बाढ़  से संबंधित बैठक में अमले को पूरी तरह अलर्ट रहने के निर्देश जारी किए हैं, साथ ही जिन जिन विभागों कर्मचारियों को जो भी दायित्व सौंपा गया है वे अपने दायित्व का ईमानदारी के साथ सतर्कता से निर्वहन करें ,किसी प्रकार की कोई कोताही ना बरतें आपने संबंधित कर्मचारियों को पूरी तरह से सतर्क रहने के निर्देश दिए हैं,

2013 हालात देखकर किया आपदा प्रबंधन कार्य,
----------------------
गौरतलब है कि 2013 में नर्मदा एवं सहायक नदी जामनेर के बेग वाटर से नेमावर नगर के 15 वार्डों में से करीब 11 वार्ड पूरी तरह से प्रभावित हुई थे, उक्त  बाढ़ से प्रभावित ग्रामों का करीब 4 दिन तक मुख्य मार्ग मुख्यालय से संपर्क टूट गया था उसके बाद से भारी बारिश अब तक नहीं हुई 2013 में बने हालातों को ध्यान में रखकर प्रसासन आपदा प्रबंध कार्य कर रहा है,

ऐसे समझे कब बनती है
संकट पूर्ण स्थिति,
-------------------------
नर्मदा की सहायक नदी जामनेर एवं गोनी के बैग वाटर से नर्मदा क्षेत्र के गांव से नेमावर नगर ज्यादा प्रभावित होता है! जब नर्मदा का जलस्तर समुद्र तल के जल स्तर से 890 मीटर के ऊपर पहुंचता है तब नर्मदा की सहायक नदी जामनेर व गोनी नदी का पानी नर्मदा में सम्मिलित नहीं होने के कारण गांव का रुक कर तबाही मचाने लगता है !नेमावर पश्चिम दिशा के गांव को चपेट में ले लेता है जिससे विकराल स्थिति उत्पन्न हो जाती है!

नर्मदा का जलस्तर 885 मीटर पर होता है हाईअलर्ट,
---------------------------
प्रशासन के मुताबिक 885 मीटर पर नर्मदा का जलस्तर पहुंचता तब हाई अलर्ट जारी किया जाता है निचली बस्तियों को खाली करा कर लोगों को राहत शिविरों में पहुंचाया जाता है!

बाढ़ से तुरंत प्रभावित होने
वाले ग्राम,
---------------
तमखान ,मेलपीपला सिराला रेवातीर , नेमावर कुण्डगांव खुर्द, तुरनाल ,दैय्यत, करौंदमाफी
चिचली बिजलगांव पीपलनेरिया,

प्रभावित गांव
----------
नवाड़ा ,बजवाड़ा ,मंडलेश्वर, निमनपुर

अत्यधिक बाढ़ की स्थिति में प्रवाहित गांव
----------------
मिर्जापुर ,रवलास, दुलवा,कार्णा
बुजुर्ग ,अकवलिया, दुधाखेड़ी  मवासा,

कंट्रोल रूम पर तैनात रहेंगे कर्मचारी,
--------------
बाढ़ से निपटने के लिए प्रशासन पूरी तरह से तैयार है इसके लिए बिजलगांव कुंडगांव खुर्द, मंडलेश्वर ,मेलपिपलिया में कंट्रोल रूम बनाया गया है बाढ़ के हालात बनते हैं तो वायरलेस सेट के साथ एक कर्मचारी 24 घंटे वहां तैनात रहेगा वहीं नेमावर थाना और नगर परिषद में भी कंट्रोल रूम रहेंगे अलग-अलग विभागों के कर्मचारियों को जिम्मेदारी सौंपी जा रही है!


Post A Comment:

0 comments: