खण्डवा~’बाबा रामदेव की कम्पनि पतंजलि के नाम पर हुई धोखाधड़ी~~

’टीवी में बाबा रामदेव की कम्पनि पतंजलि के प्रोडक्ट का एड देख एजेंसी लेनें के लिये गूगल से निकाला नम्बर~~

’4.25 लाख का चूना लगा गया गूगल का पतजंलि नम्बर वाला,केस दर्ज~~

’खण्डवा के कोतवाली थानें का मामला~~

खण्डवा रवि कुमार~~



फरियादी रविंद्र पिता श्री कृष्ण शर्मा निवासी हनुमान नगर,नवचंडी के पास खंडवा ने स्थानीय कोतवाली थाने में पतंजलि कंपनी के प्रोडक्ट की एजेंसी देने के नाम पर 4.25 लाख रूपये की धोखाधड़ी करने का प्रकरण पंजीबद्ध कराया है ।

रविंद्र शर्मा ने कोतवाली थाने की पुलिस टीम को बताया कि उन्होंने बाबा रामदेव की कंपनी पतंजलि का एक मिल्क प्रोडक्ट का ऐड टीवी में देखा जिसके बाद उनके मन में खंडवा जिले के लिए एजेंसी लेने का विचार आया। इसके पश्चात उन्होंने गूगल में पतंजलि कंपनी का नंबर सर्च किया और सर्च इंजन पर दिए गए नंबर पर फोन लगाने पर रविंद्र शर्मा को लगाए गए फोन से बात करने वाले आदमी ने खुद को पतंजलि का अधिकारी बताया व रविंद्र शर्मा को खंडवा जिले में एजेंसी देने की बात कही । कुछ प्रक्रिया पूरी करने के पश्चात उनकी एजेंसी के लिए कंपनी द्वारा स्वीकृति देने की बात कहते हुए पहले ₹100000 खाते में ट्रांसफर कराए गए।,₹100000 ट्रांसफर होने के पश्चात पतंजलि कंपनी का अधिकारी बन कर  बात कर रहे व्यक्ति ने  1000000 रुपए का माल भेजने की बात कहते हुए 30 परसेंट सिक्योरिटी डिपॉजिट कराने की बात कही,जिसके पश्चात रविंद्र शर्मा ने कंपनी के अधिकारी द्वारा दिए गए अकाउंट नंबर पर ₹300000 भी ट्रांसफर कर दिए ।

कुल मिलाकर ₹425000 ट्रांसफर कराने के बाद सामने वाले ने 9500000 रुपए का बीमा कराने की बात कहकर ओर ₹200000 देने की मांग की । जब ₹200000 की मांग ओर की गई । तब रविंद्र शर्मा को लगा कि उनके साथ कहीं ना कहीं फ्रॉड हुआ है। इस आशंका के साथ जब उन्होंने दोबारा गूगल किया और पतंजलि का नंबर लिया तो उन्हें असली पतंजलि के असली अधिकारी ने बताया कि उनके पास इस तरह की ना ही कोई एप्लीकेशन आई है और ना ही वह इस तरीके से किसी भी प्रकार की एजेंसी किसी भी जिले में देते हैं ।

पेशे से दवाई विक्रेता रविंद्र शर्मा के साथ हुई धोखाधड़ी के बाद उन्होंने इस बात की शिकायत खंडवा एसपी डॉ.शिवदयाल के समक्ष दर्ज कराई । डॉक्टर शिव दयाल सिंह ने तत्काल संबंधित थाने को इस संबंध में प्रकरण पंजीबद्ध करने के निर्देश दिए। थाना प्रभारी बी एल मंडलोई ने बताया कि कथित फोन धारक के खिलाफ प्रकरण पंजीबद्ध कर पडताल की जा रही है।


Post A Comment:

0 comments: