*अलीराजपुर~70 बच्चो की जान को खतरे मे  डाल कर चला रहे आंगनवाड़ी जिम्मेदार मौन*~~

*जर्जर भवन मे हो रही संचालित आँगन वाडी लटकती छत तो कही टपकता पानी*~~

*क्या इतनी सस्ती है आदिवासियों के बच्चो की जान आखीर क्यो है मजबुर आदिवासी अपने हक के लिये।* ~~

✍जुबेर निज़ामी की रिपोर्ट ✍
अलीराजपुर 📲9993116518~~


अलीराजपुर शिक्षा और स्वास्थ्य से पिछड़े इस जिले की आँगन वाडी केन्द्र की भी हालत बदतर जहा शिक्षा और महिला बाल विकास विभाग आँगन वाडी केन्द्र  चला रहे है जिसकी जमीनी हकीकत देखकर दंग रहजाऔगे जब की शासन द्वारा करोडों रुपये  शिक्षा और आँगन वाडीयो पर खर्च करने के लिये बजट आ रहा है मगर खर्च करने के बजाए अधिकारी जेब भर रहे है।

👉*कहा है जर्जर भवन*
आपको बता दे अलीराजपुर जिले के जोबट तहसील के ग्राम चमारबेगडा कै खाडी फलिया की आँगन वाडी केन्द्र के भवन की हालत बदतर नजर आ रही है जिसमे सर्वे के हिसाब से 116 बच्चे दर्ज है। इन 116 बच्चो की जान के साथ जानकर भी खिलवाड़ किया जा रहा है। जब की भवन मे चारो तरफ से पानी टपक रहा है साथ ही भवन की छत के गिरने का कोई भरोसा नही छत के सरिये तक साफ दिखाई दे रहे है। जब हमने इसकी जानकारी कल्पना बघैल से जानकारी प्राप्त की तो पता चला की उनके द्वारा सूचना देदी गयी है साथ ही सरपंच और मंत्री को भी लिखित मे जानकारी दे दी गयी है। मगर अभी तक कोई कार्यवाही नही हुई है।
इसका मतलब साफ है जिम्मेदार किसी बडे हादसे का इन्तजार कर रहे है।

👉अब सवाल यह उठता है की या तो आँगन वाडी केन्द्र जबतक नही बनती वहा तक या तो बंद की जाऐ या कही और भवन मे संचालित की जाऐ। क्या कारण है जो इतनी पस्ता हालत मे भी इतने बच्चो की जान को जोखम मे डाला जा रहा है। क्या आदिवासियों की जान की कोई किम्मत नही है। गरीब आदिवासी  जो ऐसे भवन मे पढ़ाने के लिये मजबूर है। क्या इसी तरह सोसड होता रहेगा।
शाशन प्रशासन कहता है की शिक्षा को बढ़ावा देना चाहिये। मगर शिक्षा मे इतनी ला परवाही होगी तो कौन अपने बच्चों  को मौत के मुह मे भेजेग।

👉*एक किलोमिटर का सफर पैदल करना पडता है।*
जी हम बात कर रहे है चमारबेगडा की खाडी फल्या की आँगन वाडी कार्यकर्ता कल्पना बघैल की जो तकरीबन एक किलो मीटर का सफर पैदल तय करके बच्चो को शिक्षा  दे रही है। खास बात ये है की महिला कार्यकर्ता लम्बा सफर टेढ़े मेढ़े रास्ते और फिर नंदी को पार करके एक फीट पानी से होते हुऐ और वो भी जर्जर भवन मे शिक्षा  देना वाकैय बडी चुनोती है। जब हमारे प्रतिनिधि वहा पहुचे तो थक गये। और कार्यकर्ता की सराहना की।

👉 *क्या बोले जिम्मेदार जन प्रतिनिधि*
शिक्षा और स्वास्थ्य को लेकर कोई भी समझोता नही किया जाऐगा। मेरे द्वारा इस आँगन वाडी के नवीन भवन को बनाने की रिपोर्ट आगे भेज दी जाएगी जल्द  से जल्द नवीन भवन का कार्य आरम्भ करदिया जाऐगा।
🙏🏻 *सु श्री कलावती भूरिया, विधायक जोबट*🙏🏻

Post A Comment:

0 comments: