*झाबुआ~लव जिहाद के चलते मुस्लिम लड़के ने भगाया हिन्दुविवाहिता को*~~

*लव जिहाद को लेकर हिन्दू समाज ने एसडीएम को सौंपा महामहिम राज्यपाल के नाम ज्ञापन*~~

*(मामला मुस्लिम लड़के का हिन्दू विवाहिता को घर से भगाकर ले जाने का)*~~

झाबुआ से दशरथ सिंह कट्ठा ब्यूरो~~



झाबुआ - झाबुआ जिले के थान्दला नगर में लव जिहाद का यह दूसरा मामला सामने आया है। पिछले चार दिन पूर्व झाबूआ निवासी मुस्लिम युवक रईस खान अपने कुछ साथियों के साथ थान्दला कि हिन्दू विवाहिता स्त्री को भगा ले जाने से हिन्दू समाज आक्रोशित हो गया है। थान्दला सकल हिन्दू समाज संगठनों ने एक जुट होकर इसे लव जिहाद मान कर मुस्लिम युवक के द्वारा षडयंत्र पूर्वक हिन्दू विवाहिता स्त्री को बरगला कर अपहरण कर ले जाने का आरोप लगाते हुए थान्दला पुलिस में आवेदन दिया था परंतु उक्त आवेदन के चार दिन गुजर जाने पर न तो पुलिस उनका कुछ पता लगा पाई है व न ही नामजद आरोपी रईस व उसके साथियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज करा पाई है। हिन्दू संगठनों ने इस प्रकरण पर पुलिस प्रशासन की नाकामी पर रोष व्यक्त करते हुए नगर की मुख्य गलियों में उनके खिलाफ नारेबाजी करते हुए रैली के रूप में तहसील कार्यालय पहुँच कर महामहिम राज्यपाल, जिला कलेक्टर, जिला पुलिस कप्तान के नाम एक ज्ञापन दिया। ज्ञापन के माध्यम से उन्होंने बताया कि लव जिहाद साजिश के तहत मुस्लिम युवक व उसके साथियों द्वारा हिन्दू विवाहिता महिला को भगाकर ले जाना निन्दनीय है। उन्होंने पुलिस प्रशासन को भी चेतावनी देते हुए कहा यदि वे यदि 24 घण्टे में महिला को सही सलामत ढूंढ कर नही लाते है तो उग्र आंदोलन के लिये प्रशासन स्वयं जिम्मेदारी होगा। एसडीएम को ज्ञापन देने के बाद सभी जन एसडीओपी पुलिस की अनुपस्थिति में पुलिस थाना प्रभारी एम एल मीणा से मिले व उनकी कार्यवाही जानते हुए उन्हें बिना किसी दबाव के सख्त कार्यवाही करते हुए नगर का माहौल नही बिगड़े इसके लिये जल्द से जल्द उन्हें ढूंढ कर लाने की बात कही।


*लव जिहाद को लेकर राजनीतिकरण की कोशिश*
प्रदेश में कांग्रेस सरकार आने के साथ ही लव जिहाद जैसी घटनाओं से इसका राजनीतिकरण भी होने लगा है।आगामी 9 अगस्त को विश्व आदिवासी दिवस पर प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ झाबूआ जिले के दौरे पर भी रहेंगे वही अल्पमत की सरकार के लिये झाबूआ विधानसभा उप चुनाव भी प्रतिष्ठा का प्रश्न है ऐसे में किसानों के कर्जमाफी के नाम पर छलावा, मुख्यमंत्री कन्यादान योजना में आंशिक राशि का भी नही आना जैसे आरोपो में घिरी सरकार पर मुस्लिम समाज के इन लव जिहादियों के संरक्षण का आरोप भी लगना तय है ऐसे में शासन व पुलिस प्रशासन को चाहिये कि जिलें व नगर के साथ यह आग पुरे प्रदेश में फैलें उसके पूर्व कोई ठोस कदम उठाये।


Post A Comment:

0 comments: