*धार~ जिले में 176 कालोनी अवैध केवल मनावर में 35 कालोनी अवैध*~~ 

*कालोनाईजरों पर एफआईआर दर्ज कराई जायेगी विधायक डाँ हीरालाल अलावा* ~~                                

निलेश जैन मनावर ~~

विधायक डाँ हीरालाल अलावा द्वारा विधानसभा में धार जिले तथा मनावर नगर की अवैध कालोनियों के संबंध में सवाल पूछा था । जिसमें जानकारी अनुसार करीब धार जिले में 176 कालोनी अवैध बताई गई है तथा मनावर नगर में 35 अवैध कालोनियाँ अवैध बताई गई है। अवैध कालोनियों के संबंध में विधायक डाँ हीरालाल अलावा ने कहा कि आदीवासीयों की जमीन जो 165 के तहत भूराजस्व की जमीन गेर आदीवासीयों को ट्रासफर नही की जा सकती है किन्तु अधिकारीयों द्वारा नियमों को ताख में रखकर जमीनों पर जो सांठगाट करके कालोनी बनाई गई है उन पर भी कारवाई की जाने की मांग की गई है । कहा कि कालोनाईजर सिर्फ कालोनी का नाम रखकर भोले भोले लोगों को प्लांट बेचना जानते है जबकि प्लाट मालिकों से पूरी राशी लेने के बाद भी कालोनीयों में न तो रोड , न पानी, न बिजली की कोई व्यवस्था नही की जाती है । विधायक द्वारा कालोनी मालिको पर कारवाई किये जाने हेतु धार कलेक्टर से मांग कर कालोनाईजरों पर एफआईआर दर्ज करवाने की बात कही गई है । विधायक ने कहा कि हाल में हाईकोर्ट ने माना है कि अनुसूचित क्षेत्र में जनजाति की भूमि कलेक्टर की अनुमति के बाद भी नहीं खरीदी जा सकती है । इसके साथ मामले में भूमि की खरीदी बिक्री को शून्य कर दिया है। दंतेवाड़ा जिले के बड़े बचेली में गैर अनुसूचित जनजाति वर्ग के कुछ लोगों ने कलेक्टर से अनुमति प्राप्त कर अनुसूचित जनजाति वर्ग की भूमि को खरीदा । बस्तर कमिश्नर ने प्रावधान नहीं होने के कारण कलेक्टर द्वारा दी गई अनुमति को निरस्त कर दिया । इसके खिलाफ खरीदारों ने हाई कोर्ट में याचिका दाखिल की  इसमें कहा गया । मःप्रः भू राजस्व संहिता 1959 165 ( 6 ) , ( 1 ) के अनुसार कक्षत्र में कलेक्टर से अनुमति प्राप्त कर अनुसूचित जनजाति वर्ग की जमीन गैर आदिवासी भी खरीद सकते हैं । इसलिए खरीदी अवैध नहीं है। हाई कोर्ट ने सुनवाई उपरांत आदेश में कहा कि मःप्रः भू राजस्व संहिता 1959 की धारा 165 ( 6 ) , ( 1 ) के अनुसार अनुसूचित क्षेत्र में कलेक्टर से अनुमति प्राप्त होने के बाद भी अनुसूचित जनजाति की जमीन गैर अनुसूचित जनजाति का व्यक्ति नहीं खरीद सकता है । प्लांट खरीदी बिक्री के लिए हुए व्यवहार का शून्य घोषित किया जा सकता है।


Post A Comment:

0 comments: