खंडवा~निजी स्कूलो के हौसले बुलंद नियम मुताबिक ना तो परिसर ना खेल मेंदान ~~

जांच हो तो आंधी स्कुले बंद होने की कंगार पर ...आंखे मुंद बैढे जवाबदार ~~

रवि कुमार 9826012055~~



खंडवा।। जिले के पुनासा ब्लाक अंतर्गत संचालित निजी स्कूलों की मनमानी चरम पर है शिक्षा के अधिकार अधिनियम का ना तो पालन  करते है और  खुलेआम उसका मखौल उड़ाया जा रहा है।  इस और शिक्षा विभाग का सुस्त रवैया निजी स्कूल संचालकों को यह सब करने से उनके हौसले बुलंद हो ते जा रहे है ऐसी क ई स्कूले जांच को दस्तक दे रही है बताते हैं कि इस प्रकार का खेल कई सालो  से जारी है पर सबसे बड़ी विडंबना है कि शिक्षा देने वाली स्कूल शिक्षा का मखौल उड़ाने से उन पढने वाले  नन्हे मुन्ने बच्चों का भविष्य अंधकार मय होता जा रहा है  शिक्षा का स्तर क्या होगा यह सोचनीय प्रश्न है , इस और उच्च स्तर के अधिकारीयो व  जवाबदार जनप्रतिनिधियों को ध्यान देने की जरूरत है । पुनासा तहसील के अंतर्गत बीड़ ,मुंदी ,पुनासा, सहित गांवो  में संचालित निजी स्कूले है जहां नियम मुताबिक इसमें बच्चों की शिक्षा का स्तर होना चाहिए अच्छी शिक्षा जिससे वह बच्चे पढ़ लिख कर अच्छे पदों पर पहुंचे , पर महंगी महंगी फिस लेने के बावजूद भी शिक्षा का स्तर इतना गिर हुआ है कि खुद ही शिक्षा का ज्ञान नहीं  वह स्कूलों में शिक्षा दे रहे हैं बताते हैं कि यह सब शिक्षा विभाग के जिम्मेदारों की जानकारी में होने के बावजूद संचालित हो रहा है वही  शिक्षा देने के लिए बने कमरे ,परिसर, ग्राउंड, पेयजल व्यवस्था ,शौचालय, खेल मैदान, शिक्षा देने के लिए होने वाली योग्यता बी एड ,डीएड  नियमों का पालन स्कूलो में नही हो रहा है या नही  वह शिक्षा देने वाले किस वेतन पर निजी स्कूलों में अपनी सेवाएं दे रहे हैं ऐसे कई सवाल है जो अपने आप में जवाब के लिए खड़े नजर आते हैं वही सूत्र बताते हैं कि गांव गांव खुल गई निजी स्कूले अपना व्यापार बढ़ाने के चक्कर में ड्रेस, कोड ,पाठ्यपुस्तक सहित महंगी  व्यवस्थाओं को तो लागू कर देती है पर जब मौके पर शिक्षा ले रहे  बच्चो से सवाल जवाब करने पर पूरे मामले की पोल खुल जाती है शिक्षा के क्षेत्र में समय रहते बिगड़ी अव्यवस्था को क्षेत्र में चलने वाली निजी स्कूलों पर लगाम लगाने की जरूरत है इसकी शुरुआत कब और कैसे होगी अभी नहीं कहा जा सकता है ।शिक्षा विभाग में बैठे जिम्मेदार कब जागेगे  और कब और स्कूलों की  ओर रूख कर जांच कर सुधार लाने कोशिश करेंगे यह सब देखने योग्य होगा ।

शिक्षा के  स्तर मे सुधार की आवश्यकता ...

जानकारी से पुनासा की तहसील अंतर्गत क्षेत्र में चल कई निजी स्कूलों के हाल बेहाल है मौके पे जाकर संचालित स्कूल की यदि सही ढंग से जांच हुई तो शिक्षा के नियमों की पोल खुलना तय  है ।और सबसे बड़ी बात है कि निजी स्कूल की मनमानी चरम पर है ,और शिक्षा के स्तर में सुधार लाने की बहुत जरूरी आवश्यकता है । पालक गणों में इसको लेकर खासा मलाला हमेशा रहता है  कि पढ़ने वाले हमारे बच्चे की शिक्षा में कोई सुधार नहीं है।  बस महंगी से महंगी ही फिस ही भर रहे हैं , बच्चे के भविष्य को लेकर पालकों को  हमेशा चिंता सताती रहती है ।पर विडंबना जिम्मेदार इस और जानकर अनजान है , पढ़ने वाले शिक्षा के स्तर में सुधार की राह देख रहे हैं, इस ओर शिक्षा  के स्तर में सुधार के लिए अति आवश्यक कदम उठाने  की जरूरत है ।


Post A Comment:

0 comments: