खण्डवा~प्रभारी मंत्री सिलावट ने आशापुर व सुन्दरदेव में बाढ़ पीडि़तों की समस्याएं सुनी~~

बाढ़ से हुई क्षति का घर-घर जाकर लिया जायजा, और अधिकारियों को दिए निर्देश~~

रवि कुमार खण्डवा~~



प्रदेश के स्वास्थ्य विभाग मंत्री तथा खण्डवा जिले के प्रभारी मंत्री तुलसीराम सिलावट ने शुक्रवार खालवा विकासखण्ड के ग्राम आशापुर व सुन्दरदेव ग्रामों में गत दिनों अतिवृष्टि के कारण आई बाढ़ से हुई क्षति का जायजा लिया। उन्होंने दोनों ग्रामों में पीडि़त परिवारों के घर-घर जाकर बाढ़ से हुई क्षति के संबंध में जानकारी ली तथा परिवारजनों को विश्वास दिलाया कि दुःख की इस घड़ी में प्रदेश सरकार उनके साथ है। उन्होंने कहा कि बाढ़ पीडि़तों को राजस्व पुस्तक परिपत्र के नवीनतम प्रावधानों के तहत अधिकतम सहायता स्वीकृत की जा रही है। इस अवसर पर कलेक्टर  तन्वी सुन्द्रियाल, पुलिस अधीक्षक डॉ. शिवदयाल सिंह, जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी रोशन सिंह, एसडीएम हरसूद  अशोक जाधव सहित विभिन्न अधिकारी मौजूद थे।
प्रभारी मंत्री  सिलावट ने आशापुर में पीरू भाई, गब्बूर हुसैन, गुलाब खां, मासूम बी, नवसी बाई, रेखा बाई, सुनील पेंटर, महेश, सेवकराम, कृष्णाबाई, संतोष, भागीरथ, कड़वा भाई व रामेश्वर के घर जाकर वर्षा से हुए नुकसान के संबंध में जानकारी ली। उन्होंने वन विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए कि जिन लोगों के मकान गिर गए है उनके पुनः निर्माण के लिए पीडि़त परिवारों को पर्याप्त मात्रा में तीन दिवस की समय सीमा में बांस व बल्ली उपलब्ध कराई जायें। उन्होंने आशापुर में भारी वर्षा से पुराने पुल में हुई क्षति को भी देखा तथा सेतू निगम व सड़क विकास निगम के अधिकारियों से दूरभाष पर चर्चा कर कल से ही पुल मरम्मत का कार्य प्रारंभ करने के निर्देश दिए। इस अवसर पर बताया गया कि लगभग 55 लाख रू. इस पुल की मरम्मत के लिए स्वीकृत किए गए है। उन्होंने जनपद पंचायत के सीईओ  सुरेश टेमने को निर्देश दिए कि जो परिवार प्रधानमंत्री आवास की पात्रता रखते है उन्हें इस योजना में मदद दी जायें। प्रभारी मंत्री  सिलावट ने एसडीएम हरसूद को निर्देश दिए कि शनिवार को आशापुर में ग्राम सभा आयोजित कर सभी पीडि़त परिवारों की समस्याएं सुने तथा जो परिवार सर्वे से छूट गए उनके नाम भी बाढ़ राहत प्रकरणों के लिए जोड़ें जायें। उन्होंने गांव की पटवारी को निर्देश दिए कि एक-एक घर जाकर सर्वे करे और प्रयास करे कि कोई भी बाढ़ पीडि़त परिवार राहत से वंचित न रहे। 
प्रभारी मंत्री  सिलावट ने आदिवासी बहुल ग्राम सुन्दरदेव में रामलाल व कालू के घर भी गए। उन्होंने सुन्दरदेव में अधीक्षण यंत्री विद्युत वितरण कम्पनी को निर्देश दिए कि तेज वर्षा से जो बिजली के खम्बे टूट गए है उनके स्थान पर अगले एक सप्ताह में नये खम्बे लगाये जायें। उन्होंने मुख्य वन संरक्षण श्री एस.एस. रावत से कहा कि वन ग्राम सुन्दरदेव के ग्रामीणों की पेयजल समस्या व आवास समस्या के लिए हर संभव मदद करें। उन्होंने गांव में दो अतिरिक्त ट्रांसफार्मर लगाने के निर्देश भी विद्युत कम्पनी के अधिकारियों को दिए। प्रभारी मंत्री श्री सिलावट ने वन विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए कि बाढ़ प्रभावित परिवारों को गेहूं, चावल व केरोसिन के अलावा तुअर की दाल भी दिलाई जाये। उन्होंने लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों की अनुपस्थिति पर नाराजगी प्रकट की। ग्रामीणों ने इस अवसर पर बताया कि गांव के बाहर स्टॉप डेम के बनने से अतिवर्षा का पानी गांव में घुस गया था जिससे बाढ़ की स्थिति बनी, जिस पर प्रभारी मंत्री सिलावट ने स्टॉप डेम को तोड़ने के निर्देश जल संसाधन विभाग के अधिकारियों को दिए। 


Post A Comment:

0 comments: