बड़वानी~समावेशी शिक्षा के साथ कौशल सीख रहे बच्चों ने बनाई तिरंगा राखी~~



बड़वानी /संकल्प व हौसले के दम पर जो मंजिल पर पहुंचते हैं ऐसे राही का समय स्वयं अभिनंदन करता है। विशेष बच्चों ने न केवल समावेशी शिक्षा में उत्कृष्ठ स्थान प्राप्त किया बल्कि कौशल में भी वे किसी से कम नहीं है, उक्त बातें जिला एवं सत्र न्यायाधीश श्री रामेश्वर कोठे ने आशाग्राम ट्रस्ट द्वारा संचालित विशेष आवश्यकता वाले बच्चों के संदर्भ में कही। उन्होने बच्चों के द्वारा स्वतंत्रता दिवस एवं रक्षाबंधन पर बनाई गई स्वनिर्मित तिरंगा राखियों को बच्चों का नवाचार बताया।
कल तक जो बच्चे कौशल तो दूर शिक्षा की मुख्य धारा में भी मुश्किल से जुड़ पा रहे थे उनके लिए सर्व शिक्षा अभियान आशा की किरण लेकर आया जब विशेष बच्चों की शिक्षा में सामान्य बच्चों के साथ समावेशन की पहल की गई। इस महती कार्य का जिम्मा आशाग्राम ट्रस्ट ने भी बखुबी निभाकर जहाँ बच्चों का शिक्षा में समावेशन कराया  वहीं बच्चों की प्रतिभा को मंच प्रदान करने में कोर कसर नहीं छोड़ी, आज बच्चे चाहे राज्य स्तर पर अपनी प्रतिभा का मंचन हो या जिला स्तरीय सामथ्र्य प्रतिस्पर्धा सभी में बच्चों ने जिले को गौरान्वित किया है। बच्चों के द्वारा रक्षा बंधन त्यौहार एवं स्वतंत्रता दिवस एक साथ होने से बच्चों मंे भी दुगुना उत्साह है। विशेष बच्चों ने आर्ट एंड क्राॅफ्ट शिक्षक श्रीमती ज्योति नायडू के मार्गदर्शन में आयोजन को तिरंगा उत्सव का स्वरूप देने के लिए भाईयों की कलाईयों पर बांधी जाने वाली रक्षासूत्र को भी तिरंगा बनाकर मानों त्यौहार का उत्सव दुगुना कर दिया है। बच्चों के द्वारा निर्मित राखियों एवं गृहशोभा के लिए बनाई गई वस्तुओं का अवलोकन जिला एवं सत्र न्यायाधीश श्री रामेश्वर कोठे एवं विशेष न्यायाधीश श्री दिनेशचन्द्र थपलियाल, सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण श्री हेमन्त जोशी एवं मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेड श्री उत्तम कुमार डार्वी, प्रशिक्षु न्यायाधीश श्री राहुल सोनी के साथ उपस्थित सभी न्यायाधीशगणों के द्वारा किया जाकर उनके द्वारा प्रसन्नता व्यक्त करते हुए बच्चों को प्रोत्साहित किया गया।
इस अवसर पर देश की रक्षा करने वाले वीर जवानों को समर्पित विशाल तिरंगा राखी विशेष आर्कषण का केन्द्र रही। विशेष बच्चों ने डीजे श्री कोठे सहित सभी न्यायाधीशगणों को तिलक लगारकर रक्षासुत्र बांधा जिसपर न्यायाधीश कोठे ने कहा आज से हम भी आपके भाई बन गए हैं। उन्होने कन्याओं को विशेष भेंट देकर सभी बच्चों को स्टेशनरी भेंट की।
इस दौरान आशाग्राम ट्रस्ट के पीआरओ एवं पैरालिगल वाॅलेन्टियर सचिन दुबे, कर्मशाला पर्यवेक्षक मणीराम नायडू, प्रशासकीय अधिकारी श्रीमती नीता दुबे, मनीष पाटीदार, पूजा कौर सलूजा, वार्डन पन्नालाल पटेल आदि उपस्थित थे।


Post A Comment:

0 comments: