बड़वानी~माॅ-बेटे के पवित्र रिश्ते को कलंकित करने वाले कलयुगी कुपुत्र को न्यायालय ने 10 वर्ष के सश्रम कारावास से दण्डित किया ~~

बड़वानी / प्रथम अपर सत्र न्यायाधीश श्री उदयसिंह मरावी सेंधवा ने पारित अपने फैसले मे दुष्कर्म करने के आरोपी को धारा 376, 506 भादवि में 10 वर्ष के सश्रम कारावास एवं 2500 रूपये के जुर्माने से दण्डित किया है। अभियोजन की ओर से पैरवी सहायक जिला अभियोजन अधिकारी सेंधवा श्री संजयपाल मोरे द्वारा की गई।
  श्री संजयपाल मोरे से प्राप्त जानकारी अनुसार  पीड़िता 52 वर्षीय प्रोढ़ महिला होकर आरोपी की सगी माता है। आरोपी के तीन बच्चे है परंतु उसकी पत्नी ने उसे त्यागकर दो वर्ष पूर्व दूसरा विवाह कर लिया था। आरोपी के पिता विकलांग है। आरोपी अपने तीनों बच्चो सहित माता-पिता के साथ रहता था एवं शराब पीने का आदि था। घटना 02 सितम्बर 2018 की है जब रात्रि 11.00 बजे आरोपी ने अपने पिता की अनुपस्थिति में अपनी माता को दराते से मार देने की धमकी देकर दुष्कर्म कर पवित्र रिश्ते को कलंकित किया था । जिस पर से थाने में अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना पश्चात अभियोग पत्र न्यायालय मे पेश किया गया था।


Post A Comment:

0 comments: