खातेगांव ~संदलपुर में कुंडल परिवार में प्रेम की सच्ची गाथा दोनों बुजुर्ग पति-पत्नी में 11 दिन के अंतराल में ही दम तोड़ा,~~

अनिल उपाध्याय खातेगांव ~~

इंदौर बैतूल नेशनल हाईवे 59 पर स्थित 8000 की आबादी वाले  ग्राम संदलपुर जो की छोटी काशी के नाम से भी प्रसिद्ध है! यहां रहने वाला कुंडल परिवार बरसों से दादा जी की सेवा में लगा हुआ है और इनके परिजन ग्राम संदलपुर में दादाजी धाम पर वर्षों से सेवा दे रहे ,दादा जी के परम सेवक श्री बाबूलाल जी कुंडल व उनकी धर्मपत्नी श्रीमती श्यामा बाई कुंडल का निधन 95 वर्ष की आयु में ग्राम संदलपुर में हो गया! आपको बता दें विगत 11 दिन पूर्व श्रीमती श्यामा कुंडल का निधन 95 वर्ष की आयु में अचानक हो गया था! उनके वियोग में उनके पति श्री बाबूलाल जी कुंडल जैसे पत्नी के निधन के वाद  उसी रोज से वह भी यही रट लगाए बैठे थे कि हम भी बहुत जल्दी हमारी श्यामा के पास जाएंगे और आज वही भी वैकुंठ धाम को चले गए,शनिवार
को मृतक मां श्यामा बाई  की रसोई का आयोजन था !परिजन ने सब तैयारी पूर्ण कर चुके थे! पर शुक्रवार को अचानक दोपहर 4:00 बजे श्री बाबूलाल जी कुंडल 98 वर्ष की उम्र में श्री दादाजी धाम को चले गए वही कुंडल परिवार में या बज्र प्रांत तो हुआ है !साथ ही क्षेत्र में एक मिसाल भी दी जा रही है! आपको बता दें उनके पीछे भरा पूरा परिवार बड़े बेटे हरिओम कुंडल राजेंद्र प्रसाद कुंडल जो कि बिजली विभाग के वरिष्ठ अधिकारी हैं! पूरे परिवार में एक बार फिर दुख का पहाड़ टूट पड़ा है पूरा सुंदरपुर ग्राम गमगीन है


Post A Comment:

0 comments: