।।  *सुप्रभातम्*   ।।
               ।।  *संस्था  जय  हो*  ।।
        ।।  *दैनिक  राशि  -  फल*  ।।
        आज दिनांक 12 सितम्बर 2019 गुरूवार मास भाद्रपद शुक्ल पक्ष की चतुर्दशी तिथि अगले दिन प्रातः 07:38 बजे तक रहेगी उपरांत पूर्णिमा तिथि लगेगी । आज सूर्योदय प्रातः काल 06:06 बजे एवं सूर्यास्त सायं 06:35 बजे होगा । धनिष्ठा नक्षत्र अपराह्न 04:51 बजे तक रहेंगा पश्चात शततारा नक्षत्र आरंभ होगा । आज का चंद्रमा कुंभ राशि में दिन रात भ्रमण करते रहेंगे । आज का राहू काल दोपहर 01:57 से 03:29 बजे तक रहेंगा । दिशाशूल दक्षिण दिशा में रहेंगा यदि आवश्यक हो तो जीरा का सेवन कर यात्रा आरंभ करें । जय हो

                   -:  *विशेष*  :-

*अनंत चतुर्दशी कब? गणेश विसर्जन, जानें व्रत विधि, शुभ मुहूर्त और इस दिन का महत्व*

भाद्रपद के शुक्ल पक्ष की चतुर्दशी तिथि को अनंत चतुर्दशी मनाई जाती है जो इस बार 12 सितंबर को है। इस दिन भगवान हरि की पूजा की जाती है और पूजा के बाद 'अनंत धागा' धारण किया जाता है। चतुर्दशी तिथि का आरंभ 12 सितंबर को सुबह 5 बजकर 6 मिनट से हो जायेगा और इसकी समापन 13 सितंबर सुबह 7 बजकर 35 मिनट पर होगा।
ज्योतिषाचार्य डाँ. अशोक शास्त्री ने एक जानकारी में बताया है कि दिनांक 12 सितंबर को है अनंत चतुर्दशी।
 सितंबर महीने में आने वाले बड़े त्यौहारों और व्रतों में एक अनंत चतुर्दशी भी है। जो 12 सितंबर को पड़ रही है। भाद्रपद के शुक्ल पक्ष की चतुर्दशी को ये पर्व मनाया जाता है। इस दिन भगवान हरि की पूजा की जाती है और पूजा के बाद ‘अनंत धागा’ धारण किया जाता है। जिसे रक्षा सूत्र कहा जाता है।ज्योतिषाचार्य ने कहा कि मान्यता है कि इस धागे को बांधने से समस्त परेशानियों से मुक्ति मिल जाती है। अनंत चतुर्दशी के दिन कई जगह गणपति का विजर्सन भी किया जाता है और इसी के साथ गणेशोत्सव का समापन भी इसी दिन हो जाता है।
*अनंत चतुदर्शी तिथि और के शुभ मुहूर्त* 

तिथि: 12 सितंबर 2019
पूजा मुहूर्त – चतुर्दशी तिथि आरंभ – सुबह 5 बजकर 6 मिनट से (12 सितंबर 2019)
चतुर्दशी तिथि समाप्त – सुबह 7 बजकर 35 मिनट तक (13 सितंबर 2019)
ज्योतिषाचार्यडाँ अशोक शास्त्री ने कहा कि गणेश चतुर्थी के दिन गणेश जी की स्थापना की जाती हैं तो वहीं अनंत चतुर्दशी गणेश जी अपनें घर वापस लौट जाते हैं , अनंत चतुर्दशी के दिन गणपति विसर्जन की परंपरा सबसे ज्यादा प्रचलित हैं ।
गणेश जी की प्रतिमा विसर्जित करने शुभ मुहूर्त - प्रातः 06:16 से 07:51 , 10::51 से दोपहर 03:27 , सायं 04:59 से 06:30 बजे तक ।

*अनंत चतुर्दशी व्रत का महत्व* डाँ. अशोक शास्त्री ने कहा कि अनंत चतुर्दशी व्रत का जिक्र महाभारत में भी मिलता है। इस व्रत को सभी संकटों मुक्ति दिलाने वाला माना जाता है। ऐसा मान्यता है कि भगवान कृष्ण की सलाह से पांडवों ने भी इस व्रत को उस समय किया था जब ने वन-वन भटक रहे थे। माना जाता है कि इस व्रत को करने से दरिद्रता का नाश होता है और ग्रहों की बाधाएं भी दूर होती है। यह दिन भगवान विष्णु की पूजा अर्चना का होता है। इस दिन सूत या रेशम के धागें में चौदह गांठ लगाकर उसे कुमकुम से रंगकर पूजा उसकी विधि विधान पूजा के बाद उसे कलाई पर बांधा जाता है। कलाई पर बांधे गए इस धागे को ही अनंत कहा जाता है। भगवान विष्णु का रूप माने जाने वाले इस धागे को रक्षासूत्र भी कहा जाता है।
*अनंत चतुर्दशी व्रत कैसे करें?*  दिन व्रत रखने वालों को सुबह जल्दी उठना चाहिए और स्नान के बाद कलश स्थापित कर लेना चाहिए। इसके पूजा घर में भगवान विष्णु की तस्वीर लगाएं और अनंत धागे को भी रखें। फिर विधिवत पूजा करें और अनंत व्रत की कथा पढ़ें या सुनें। पूजन में रोली, चंदन, अगर, धूप, दीप और नैवेद्य का होना जरूरी है। इन चीजों को भगवान को समर्पित करते हुए ‘ॐ अनंताय नमः’ एवं । अनंत संसार महासमुद्रे मग्रं समभ्युद्धर वासुदेव । अनंतरूपे विनियोजयस्व ह्रानंतसूत्राय नमो नमस्ते ।। मंत्र का जाप करें। पूजा संपन्न करने के बाद अनंत सूत्र को अपने हाथों में बांध लेना चाहिए और उसके बाद प्रसाद ग्रहण करना चाहिए। इस व्रत के दिन दान करना चाहिए। व्रती इस दिन आटे की रोटियां या पूड़ी बनाते हैं, जिसका आधा भाग वे किसी ब्राह्मण को दान करते हैं और आधा हिस्सा वे स्वयं ग्रहण करते हैं। जय हो

                  *ज्योतिषाचार्य*
          डाँ. पं. अशोक नारायण शास्त्री
         श्री मंगलप्रद् ज्योतिष कार्यालय
245,एम.जी.रोड (आनंद चौपाटी)धार, एम.पी.
                   मो.नं.  9425491351

                   *आज का राशि फल*

          मेष :~ आप स्नेहीजनों, आत्मजनों एवं मित्रों के साथ सामाजिक कार्यों में व्यस्त रहेंगे। मित्रों की ओर से लाभ होगा एवं उनके पीछे धन भी खर्च होगा। बड़े-बुजुर्गों तथा स्नेहीजनों का संपर्क होगा और उनके साथ व्यवहार भी बढ़ेगा। किसी रमणीय स्थल की सैर का सौभाग्य प्राप्त होगा। आकस्मिक धन लाभ है एवं संतान से लाभ होगा।

          वृषभ :~ आज आप नए कार्यों का आयोजन कर पाएँगे। नौकरी करने वालों एवं व्यावसायिकों के लिए दिन अच्छा है। नौकरी-पेशा लोगों पर उच्चाधिकारियों की कृपादृष्टि रहेगी। पुराने अपूर्ण कार्य की पूर्ण होने की संभावना है। पदोन्नति से आर्थिक लाभ हो सकता है। गृहस्थ जीवन में भी आपका वर्चस्व एवं माधुर्य बढ़ेगा। उपहारों एवं मिले मान-सम्मान से मन प्रसन्न रहेगा।

          मिथुन :~ शारीरिक रूप से अशक्त होने और आलस्य के कारण कार्य में उत्साह नहीं रहेगा। पेट के दर्द से परेशानी होगी। धन का अपव्यय होगा। व्यवसाय में बाधाएँ उपस्थित होंगी। सहकर्मियों का सहयोग नहीं मिलेगा। संतानों की चिंता रहेगी। राजकीय बाधाएँ परेशान करेंगी अतः आज किसी भी कार्य का प्रारंभ न करें और प्रतिस्पर्धियों के साथ किसी गहनचर्चा में न उतरें।

          कर्क :~ आप का दिन प्रतिकूलताओं भरा प्रतीत होता है। अतः सुझाव देते हैं कि किसी नए कार्य का प्रारंभ ना करें व उपचार एवं शल्यचिकित्सा आज न करवाएँ। क्रोध से दूर रहें ।  चोरी जैसे अनैतिक विचारों पर संयम रखें क्योंकि असंयमी होने से कार्य बिगड़ सकते हैं। सरकारी कार्यों में विघ्न आएँगे। परिवार में झगड़े-फसाद न हों इसका ध्यान रखें। मानसिक अस्वस्थता रहेगी।

          सिंह :~ आज का दिन मध्यम फलदायी है। दांपत्य जीवन में तू-तू मैं-मैं होगी एवं व्यापार के क्षेत्र में भागीदारों के बीच मनमुटाव हो सकता है । आप का स्वास्थ्य अच्छा रहेगा पर जीवन साथी के आरोग्य को लेकर मन चिंतातुर होगा। सामाजिक जीवन में सफलता मिलेगी।

          कन्या :~ आज आपके लिए दिन शुभ है। घर में सुख-शांति का वातावरण छाया रहेगा। और मन भी प्रसन्न रहेगा। सुखप्रद प्रसंग बनेंगे। आप का आरोग्य अच्छा रहेगा। बीमारी से पीड़ितों की परिस्थिति में सुधार आएगा। आर्थिक रूप से लाभ होगा एवं यश भी मिलेगा। सहकर्मियों का पूर्ण सहयोग मिलेगा। 

          तुला :~ आज आप का दिन सुख पूर्वक बीतेगा। बौद्धिक प्रवृत्तियों एवं चर्चाओं में दिन बीतने की संभावना है। आज कल्पना शक्ति एवं सृजनात्मक शक्ति का श्रेष्ठ उपयोग आप कर पाएँगे । आपकी प्रगति होगी और स्त्री मित्रों से सहयोग मिलेगा। शारीरिक स्फूर्ति एवं प्रफुल्लित मन का आभास होगा पर आने वाले अधिक विचार मन को विचलित कर सकते हैं।

          वृश्चिक :~ आज का दिन शांतिपूर्ण रूप से व्यतीत करें, क्योंकि मन चिंताग्रस्त रहेगा एवं निजी सम्बंधियों से अनबन के योग हैं। स्वास्थ्य के विषय में चिंता होगी, धनहानि एवं यशहानि हो सकती है। स्त्रीयों एवं पानी से भय रहेगा। दस्तावेजी कार्यवाहियों में खास सावधानी बरतें।

          धनु :~ बंधु-बाँधवों के साथ आप का व्यवहार अच्छा रहेगा। नए कार्यों के प्रारंभ के लिए समय अच्छा है। मित्रों एवं स्नेहीजनों से मुलाकात होगी। कार्य सफलता एवं प्रतिस्पर्धियों से होड़ में विजय मिलेगी। छोटे प्रवास पर जा सकते हैं। भाग्यवृद्धि के साथ-साथ सामाजिक मान-सम्मान भी मिलेगा।

          मकर :~ आज आप शेयरमार्केट के सट्टों एवं व्यापार में पूँजी लगाएँगे। आकस्मिक धनलाभ होगा। परिवारजनों के साथ विवाद से गृहस्थ वातावरण बिगड़ सकता है। गृहिणियों को किसी कारणवश मानसिक असंतोष रहेगा। विद्यार्थियों को अधिक परिश्रम करना पड़ेगा। शारीरिक आरोग्य मध्यम रहेगा एवं आँखों में पीड़ा होने की संभावना है। न साहसिक प्रवृत्तियों के लिए दिन अच्छा है।

          कुंभ :~ आज आप शारीरिक एवं मानसिक रूप से उत्साहित रहेंगे। आर्थिक रूप से दिन लाभदायी है। कुटुंबीजनों एवं मित्रों के साथ सैर-सपाटे पर जा सकते है। आध्यात्मिकता एवं चिंतनशक्ति अच्छी रहेगी। मित्रों एवं स्वजनों की तरफ से उपहार मिलने की संभावनाएँ हैं। दांपत्यजीवन सुखमय होगा। मन से नकारात्मक विचारों को दूर रखें।

          मीन :~ आज मानसिक व्याकुलता अधिक रहेगी अतः एकाग्रता की कमी रहेगी। धार्मिक कार्यों में धन खर्च हो सकता है। पूँजी निवेश में आज विशिष्ट ध्यान रखने की जरूरत है। स्वजनों से आज आप दूर रहें, क्योंकि उनसे मनमुटाव हो सकते हैं। किसी छोटे लाभ के पीछे बड़ी हानि न हो जाए ध्यान रखें, अतः कोर्ट-कचहरी के कार्यों को सावधानी पूर्वक करें। आध्यात्मिक कार्यों में ही दिन पूर्ण हो जाएगा । ( डाँ. अशोक शास्त्री  )

।।  शुभम्  भवतु  ।।  जय  सियाराम  ।।
।।  जय  श्री  कृष्ण  ।।  जय  हो,,,,,,,,,।।


Post A Comment:

0 comments: