खातेगांव ~नेमावर में नर्मदा का जलस्तर बढ़ने से लोग चिंतित~~

लगातार बरस रहे बदरा से
नर्मदा उफान पर~~

खतरे के निशान से 1फिट ऊपर ~~

अनिल उपाध्याय
खातेगांव ~~

जीवन दायिनी मां नर्मदा का जल  स्तर बुधवार को जहां रौद्र रूप मैं 889 फीट था। वही खबर लिखे जाने तक शुक्रवार शाम  तक जल स्तर  886 फिट  हो गया हैं। बताया जा रहा हैं की बरगी डेम के 17 गेट गुरुवार दोपहर 1बजे के बाद खोले गए। लगातार हो रही बारिश के चलते जन जीवन अस्त व्यस्त हो गया हैं।
हालांकि  नर्मदा का जलस्तर खतरे के निशान से 1 फिट ऊपर हैं। जिसको लेकर पुलिस प्रशासन अलर्ट  हैं।और तमाम प्रशासनिक अमला मुस्तैद होकर पेऩी नजर बनाए रखे हैं।

नेमावर मे नर्मदा का जल स्तर  फिट बडा,
---------------
गुरुवार को दोपहर के बाद कलकल बहती जीवन दायिनी मां नर्मदा के जल स्तर मैं 5 फीट की गिरावट आई।  उसके बाद प्रशासन ने राहत की सांस ली थी क्योंकि 3 दिन से लगातार प्रशासन के नुमाइंदे बाढ़ ग्रस्त ग्रामों में डेरा डाले हुए थे! स्थिति यह थी कि अधिकारियों ने एक पल भी नर्मदा के घाटों को नहीं छोड़ा वही पूरा प्रशासन हमला  अलर्ट था !लगातार कंट्रोल रूम से एवं बाढ़ ग्रस्त ग्रामों में बनाए गए सूचना तंत्र के संपर्क में बना हुआ हे! प्रशासन ने जहां नेमावर के 3 से अधिक वार्डों के लोगों को जलजमाव के बाद अन्य स्थानों पर शिफ्ट किया उनके लिए दूध भोजन एवं अन्य व्यवस्था जुटाई वहीं कुछ गांव में लोगों को भी कैंप तक पहुंचाया! प्रशासन की त्वरित कार्रवाई की नागरिकों द्वारा तारीफ की गई है! क्योंकि इन विषम परिस्थितियों में भी प्रशासन ने बड़ी सजगता के साथ नागरिकों से जीवित संपर्क बनाए रखा !उल्लेखनीय है कि तेज बारिश के कारण जहां बुधवार को मां नर्मदा के रौद्र रूप के चलते जल स्तर 889 फीट था। वही अब जल स्तर घटकर 886 फीट हो गया हैं। बताया जा रहा हैं की बरगी और तवा डेम के गेट खोलने के कारण नर्मदा के जल स्तर पुन बढने की संभावना व्यक्त की जा रही हैं। इसी को देखते हुए प्रशासन पूरी तरह से अलर्ट है

शुक्रवार  को फिर एक बार नर्मदा का जलस्तर बढ़ने लगा
-------------
गुरुवार शाम को नर्मदा का जलस्तर कम होने से प्रशासन ने जहां राहत की सांस ली थी लेकिन गुरुवार रात से बारिश शुरू हुई जो शुक्रवार शाम तक अनवरत जारी रहने के कारण नर्मदा का जलस्तर एक बार फिर बढ़ गया जो खतरे के निशान से एक से डेढ़ फीट ऊपर बह रहा है

नेमावर में बनाए गए कंट्रोल रूम का एसडीएम श्री सोलंकी ने किया निरीछण,
-----------------------
जिलाधीश श्रीकांत पांडेय के द्वारा दिए गए दिशा-निर्देश में अधिकारी कर्मचारी नर्मदा के घाटों पर अभी भी डटे हुए हैं !!नेमावर में बनाए गए कंट्रोल रूम का एसडीएम शोभाराम सोलंकी ने पहुंचकर निरीक्षण किया और आवश्यक दिशा निर्देश जारी किए


तहसीलदार अलका एक्का भी कर्मचारियों के संपर्क में लगातार
---------------------------
तहसीलदार श्रीमती अलका एक्का लगातार बाढ़ ग्रस्त ग्रामों के ड्यूटी पर तैनात कर्मचारियों के संपर्क में है तथा उनसे पल-पल की जानकारी कलेक्ट कर रही हैं श्रीमती एक्का के मुताबिक ग्राम चीचली एव अन्य ग्रामों में स्वास्थ्य विभाग की टीम पहुंची और ग्रामीणों का स्वास्थ्य परीक्षण कर उन्हें उन्हें आवश्यक दवाई गोली उपलब्ध कराई गई

एनडीआरएफ की टीम पहुंची बाढ़ ग्रस्त ग्रामों में,,
---------------------
नर्मदा नदी में बाढ़ की स्थिति को देखते हुए प्रशासन के द्वारा एनडीआरएफ की टीम नेमावर पहुंची ,टीम ने नेमावर से बिजलगांव तक नर्मदा नदी में सर्चिंग की और देखा कि कहीं किसी टापू या अन्य स्थानों पर ग्रामीण तो नहीं है नदी पर सर्चिंग की । तथा नर्बदा घाटो पर मौजूद लोगों से चर्चा का उन्हें घाटों से दूर रहने के लिए सजग किया


Post A Comment:

0 comments: