खातेगांव ~नेमावर में नर्मदा नदी खतरे  के निशान से 3 फीट ऊपर ~~

कलेक्टर एसपी पहुंचे नेमावर लिया व्यवस्थाओं का जायजा,~~

नेमावर के वार्ड क्रमांक 3 ,13 ,व 14  के नागरिकों को शासकीय भवनों में सुरक्षित पहुंचाया ,|~

नगर परिषद एवं प्रशासन की टीम जुटी भोजन वितरण में~~

अनिल उपाध्याय
खातेगांव ~~

क्षेत्र में बीते 3 दिनों से हो रही लगातार बारिश के चलते जहां नदी नाले उफान पर है! वही नेमावर में नर्मदा नदी खतरे के निशान से 3 फीट ऊपर बह रही है!  बुधवार को कलेक्टर श्रीकांत पांडेय बुधवार को कलेक्टर श्रीकांत पांडेय एसपी चंद्रशेखर सोलंकी नेमावर पहुंचे आपने नेमावर के बाढ़ प्रभावित वार्ड का निरीक्षण किया तथा नागरिकों से चर्चा की, आप मोटर बोट से बाढ़ ग्रस्त ग्रामों भी पहुंचे जहां आप ने ग्रामीणों से चर्चा की आपने कहा कि आम नागरिकों को किसी प्रकार की कोई तकलीफ ना हो इसके लिए भोजन पानी दूध तथा ठहरने की पर्याप्त व्यवस्था की गई है!

अधिकारियों की बैठक लेकर दिए आवश्यक दिशा निर्देश
  ----------------------
कलेक्टर डॉ. श्रीकान्त पाण्डेय एवं पुलिस अधीक्षक चंद्रशेखर सोलंकी अधिकारियों की बैठक लेकर बाढ़ आपदा प्रबंधन  की समीक्षा की व आवश्यक दिशा निर्देश भी दिए बैठक में कलेक्टर डॉ. पाण्डेय ने निर्देश दिए कि नर्मदा नदी के जल स्तर को सतत देखें तथा ब्रिज पर लाइ‍टिंग की व्यवस्था  करें। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि खाने पीने की व्यवस्था पर्याप्त मात्रा में हो इसका विशेष ध्यान रखे। उन्होंने कहा कि आमजन को समझाइश दे कि नर्मदा नदी व ब्रिज पर कोई भी सेल्फी न ले। ब्रिज पर गड्ढे हों तो उन्हें तुरंत भरे जाएं।कलेक्टर डॉ. पाण्डेय ने निर्देश दिए कि कंट्रोल रूम बनाकर उसमें अधिकारियों एवं कर्मचारियों की ड्यूटी लगाए। नावों के संचालकों के पास लाइफ जैकेट होना जरूरी है। नावें केवल लाइसेंस धारक ही चलाएं। बिना लाइसेंस वाले नावों को नदी के अंदर न जाने दें। कलेक्टर ने निर्देश दिए कि गांवों में डॉक्टरों की व्यवस्था  करना सुनिश्चित करें। साथ ही खाद्य सामग्री, दूध  आदि भी पर्याप्त मात्रा  में रखा जाएं। कलेक्टर डॉ पाण्डेय ने निर्देश दिए कि अधिकारीगण हर स्थिति से अवगत भी कराएं।

नागरिको ने प्रशासन
की तारिफ,
------------------
नेमावर के  बाढ़ ग्रस्त वार्डौ के नागरिकों को प्रशासन ने बड़ी तत्परता के साथ सुरक्षित स्थान पर शिफ्ट कर उनके लिए भोजन दूध की व्यवस्था की है !नागरिकों द्वारा प्रशासन की इस व्यवस्था की सराहना की जा रही है ! नर्मदा तट से लगे बाढ़ ग्रस्त  ग्रामों में प्रशासन द्वारा सुरक्षा के तमाम इंतजाम किए गए हैं!जीवनदायिनी मां नर्मदा के तट पर इन दिनों मां नर्मदा खतरे के निशान से साढे 3 फीट ऊपर बह रही है !नर्मदा के दोनों तरफ पर पानी ही पानी दिखाई दे रहा है . मां नर्मदा के किनारे निवास करने वाले निचली बस्ती के लोगों को प्रशासन के द्वारा सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है !कुछ लोगों को प्रशासन ने पहले ही सुरक्षित स्थान पर पहुंचा दिया !नेमावर नगर के वार्ड क्रमांक 3 , 13,व14  में निवास करने वाले लोगों को शासकीय भवनों में सुरक्षित ठहराया गया जहां जिला प्रशासन के अधिकारियों के मार्गदर्शन में खातेगांव एसडीएम शोभाराम सोलंकी ,तहसीलदार अलका एक्का, नगर परिषद सीएमओ अनिल जोशी एवं नगर परिषद की टीम के द्वारा भोजन के पैकेट वितरित किए जा रहे हैं !
समय पर भोजन उपलब्ध कराने पर नागरिकों ने प्रशासन की सराहना की है l नेमावर नगर परिषद अध्यक्ष प्रतिनिधि मंगलेश यादव ने बताया कि मां नर्मदा16 9.1961,1973.1984,1999,2013,2019 वर्तमान में यह रुप मां नर्मदा का दिखाई दे रहा है सबसे विकराल रूप 2013 में था वर्तमान में वार्ड क्रमांक 13 ,14 एवं 3 में जहां निचली बस्ती में पानी पहुंचा है! उन लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया जिन्हे प्रशासन नगर परिषद द्वारा भोजन उपलब्ध कराया जा रहा है l. मां नर्मदा के नाभि स्थल पर लगातार बढ़ रहे जल स्तर से निपटने के लिए प्रशासन की पूरी तैयारियां है बाढ़ के हालात से निपटने के लिए जिला प्रशासन एवं स्थानीय प्रशासन मुस्तैदी के साथ नर्मदा तट पर तैनात हैं l नेमावर के खाई पार में नाव का सहारा लेकर लोगो को सुरक्षित स्थान पर पहुंचाया गया है l

लापरवाही किसी भी कर्मचारी की बर्दाश्त नहीं की जाएगी कलेक्टर पांडे
----------------------
पिछले 3 दिनों से खातेगांव क्षेत्र में लगभग 18 मिलीमीटर वर्षा हुई है उसी को देखते हुए एसपी साहब और मे स्वय व्यवस्था का जायजा लेने नेमावर पहुंचे हैं! हम किश्ती से नर्मदा तटों के ग्रामों में पहुंचे हैं! सारी व्यवस्था चाक-चौबंद है !आम नागरिकों को किसी प्रकार की तकलीफ ना हो इसके लिए हमने भोजन पानी एवं ठहरने की पर्याप्त व्यवस्था की है! डॉक्टरों की टीम तैनात हैं !साथ ही मैंने और एसपी साहब ने एनडीआरएफ टीम के लिए भोपाल बात की है !वैसे उसके आवश्यकता नहीं है! लेकिन फिर भी हमने एनडीआरएफ की टीम की मांग की है !साथ ही 3 किसकी और उस पर तैनात बल की मांग भी की है !वह भी हमको मिल जाएगा !यह बात कलेक्टर श्रीकांत पांडेय ने मीडिया से मुखातिब होते हुए नेमावर में कहीं, तवा और बरगी डैम के गेट खोले जाने से नर्मदा का जलस्तर लगातार बढ़ रहा है! उसी को देखते हुए प्रशासन पूरी तरह अलर्ट एवं सतर्क है! पुलिस के जवान गोताखोर नगर सैनिक तथा ग्राम सुरक्षा समिति के साथ ही सभी विभागों के अधिकारी एवं कर्मचारी वादग्रस्त ग्रामों एवं नेमावर की निचली बस्तियों में तैनात किए गए हैं! जो नागरिकों से सतत संपर्क में है ड्यूटी पर नहीं पहुंचने के कारण डॉ अरविंद पवार को निलंबित किया गया है !और निर्देशित किया गया है कि कोई भी अपनी ड्यूटी में लापरवाही ना बरतें अन्यथा उसके खिलाफ निलंबन की कार्रवाई की जाएगी,  पर्सनल मोटर बोर्ड से दूध लेकर नेमावर आ रहे चार लोगों को जिला पुलिस अधीक्षक के निर्देश पर पुलिस ने हिरासत में लिया है


डॉ अरविंद परमार को कलेक्टर
ने किया निलंबित
-----------------------
बाढ़ ग्रस्त ग्रामो में ड्यूटी में लापरवाही बरतने पर खातेगांव सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में पदस्थ डॉ अरविंद परमार को कलेक्टर  श्रीकांत पांडे ने नेमावर दौरे के दौरान मिली लापरवाही की शिकायत के आधार पर  निलंबित कर दिया है!, 1 माह पहले ही डॉक्टर परमार खंडवा से स्थानांतरित होकर खातेगांव आए थे! बीएमओ डॉ गणपत बघेल ने कलेक्टर के निर्देश पर उनकी ड्यूटी ने बाढ़ ग्रस्त ग्राम में लगाई थी लेकिन वह अपनी ड्यूटी पर नहीं पहुंचे थे!


बुधवार सुबह हुई गर्जना ने
सभी को दहला दिया,
---------------
बुधवार सुबह लगभग 5:00 बजे के करीब तेज गर्जना एवं बिजली की चमक के साथ बारिश का दौर चल रहा था !उसी दौरान तेज गर्जना ने लोगों को दहला दिया कई लोगों ने जहां अपने पलंग हिलते हुए महसूस किये वहीं कई लोगों के बिजली के उपकरण भी खराब हो गए बिजली कहां गिरी इस बात की जानकारी नहीं मिल पाई है लेकिन बिजली की चमक और गर्जना तथा बिजली की तेज आवाज ने लोगों को दहला दिया था !जिसकी दिनभर नगर में चर्चा चलती रही,

महिला बाल विकास की पर्यवेक्षको की सराहना,
------------------
नेमावर के कुछ वार्डों  में जलजमाव एवं बाढ़ के हालात निर्मित होने पर बाढ़ ग्रस्त ग्रामों में ड्यूटी पर तैनात महिला बाल विकास विभाग की पर्यवेक्षको ने
बड़ी तत्परता एवं सजगता के साथ अपनी ड्यूटी का ईमानदारी से निर्वहन करते हुए महिलाओं एवं बच्चों को सुरक्षित स्थान पर जहां शिफ्ट करने में सहयोग किया वहीं महिलाओं बच्चों के भोजन दूध तथा  उनको परेशानी नहीं आने दी महिला बाल विकास की  पर्यवेक्षकों की सराहना हो रही हे!  सेक्टर पर्यवेक्षक श्रीमती अमिता जाट, प्राची अलावे, जागृति वर्मा, करिश्मा अवासे, लतिता जाट , राजकुमारी जैन, स्नेह शुक्ला तथा सहयोगी आगनवाडी कार्यकर्ता थी

अधिकारी की निगरानी
में कंट्रोल रूम स्थापित
----------------------
नेमावर में बाढ़ पीड़ित एवं डूब क्षेत्र प्रभावित लोगों के लिए कंट्रोल रूम स्थापित किया गया है जिसका नंबर 072 74 2 77 008 है! तहसीलदार खातेगांव अलका एक्का का मोबाइल नंबर है 94 253 73 6 15


Post A Comment:

0 comments: