राजोद~  गुमशुदा के माता-पिता ने अपनाया सत्यागृह का रास्ता,~~

शशांक को धार एसपी ने 7 दिवस में ढूंढ निकाला~~

पवन वीर राजोद 9993688124~~

राजोद~  गुमशुदा के माता-पिता ने अपनाया सत्यागृह का रास्ता, शशांक को धार एसपी ने 7 दिवस में ढूंढ निकाला। पांच माह पूर्व गायब हुए नाबालिग को धार एसपी ने 7 दिन में खोज निकाला है। 5 माह पूर्व बरमण्डल के समीप गांव पडुनी कला से गायब शशांक जाट को राजोद पुलिस ने किया दस्तयाब, उज्जैन जिले के बड़नगर से निकाला ढूंढ। बेटे को पाकर पिता के खुशी से झलके आंसूं, शशांक के पिता ने धार एसपी, राजोद पुलिस, विचार न्यूज़,  संझा लोकस्वमी, धार न्यूज़,पीपुल्स समाचार को दिया धन्यवाद।
उल्लेखनीय है कि पांच माह पूर्व 1 मई 19 को राजोद थाना अंतर्गत पडूनिकला का शशांक अपने घर से पंखा लाने का कह कर निकला था जो वापस घर नहीं आया। शशांक के इस प्रकार से गायब होने पर पिता सेवाराम जाट ने थाना राजोद पर रिपोर्ट दर्ज करवाई थी। समय गुजरता देख शशांक के माता-पिता का सब्र टूटने लगा व थक हार कर माता-पिता को सत्यागृह का रास्ता अपनाने का दृढ़ संकल्प लेना पड़ा, जिसमे उन्होंने थाना राजोद से दिल्ली तक की पद यात्रा करने का मन बनाया। इस सत्यागृह पैदल यात्रा के लिए सेवाराम द्वारा बाकायदा थाना राजोद, पुलिस अधीक्षक धार, मुख्यमंत्री भोपाल, प्रधानमंत्री दिल्ली को निवेदन के साथ सूचित किया व तय समय पर थाना राजोद से अधिकारियों को गुलाब का फूल भेंट कर मूसलाधार बरसात में अपना सत्यागृह शुरू किया व दो रात तीन दिन में 70 किलोमीटर पैदल चलकर सेवाराम, उसकी पत्नी रेखा बाई तथा शशांक की वृद्ध नानीमां  जिला मुख्यालय धार पहुंची जहां पर 29 अप्रेल को धार एसपी आदित्य प्रताप सिंह ने माता-पिता की वेदना को गंभीरता लिया व तत्काल शशांक की खोजबीन के लिए एक टीम गठित की जिसमे टीम प्राभारी सरदारपुर एसडीओपी ऐश्वर्य शास्त्री के साथ सायबर सेल प्राभारी संतोष पांडे, राजोद थाना प्रभारी राजू मकवाना को मुख्य रूप से सम्मिलित किया गया व खोजबीन शुरू की। विचार न्यूज़ ,लोकप्रिय अखबार संझा लोकस्वामी ,धार न्यूज़,पीपुल्स समाचार ने भी अपना पत्रकारिता धर्म निभाते हुए अपनी दमदार कलम से निराश माता-पिता की आवाज को जिला स्तर से लेकर केंद्र व प्रदेश तक पहुँचाया था। धार एसपी द्वारा गठित टीम ने अपने अथक प्रयास से महज 7 दिन में गायब शशांक को उज्जैन जिले के बड़नगर से ढूंढ निकाला है। राजोद के थाना प्रभारी राजू मकवाना ने 4 सितंबर रात्रि 10 बजे पत्रकार वार्ता में बताया कि घटना दिनांक 1/5/19 को फरियादी सेवाराम जाट निवासी पडूनिकला ने अपने नाबालिक लड़के शशांक उर्फ विवेक जाट उम्र 17 वर्ष नि. पडूनिकला का घर से बिना बताये कहीं चले जाने की रिपोर्ट करने पर थाना राजोद पर अपराध क्रमांक 156/19 धारा 363 भादवि का दर्ज किया गाया था। अपहृत की पतारसी के काफी प्रयास किये गये। पुलिस अधीक्षक धार आदित्य प्रताप सिंह के दिशानिर्देश पर एवं  अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक ऊंकार सिंह कनेश के मार्गदर्शन में एसडीओपी सरदारपुर ऐश्वर्य शास्त्री,  थाना राजोद एवं सायबर सेल धार से एक टीम गठित कर अपहृत शशांक की पतारसी के अथक प्रयास किये गये। पुलिस अधीक्षक धार एवं एसडीओपी सरदारपुर के निर्देशन में दिनांक 4/9/19 को अपहृत शशांक उर्फ विवेक जाट निवासी पडूनिकला को दस्तयाब किया गया। जिसमें एसडीओपी सरदारपुर ऐश्वर्य शास्त्री (टीम प्राभारी) एवं थाना राजोद से उपनिरीक्षक राजू मकवाना, सहायक उपनिरीक्षक जालमसिंह चौहान, प्रधान आरक्षक 728 लक्षमणसिंह, आरक्षक 712 रितेंद्रसिंह राजावत, आरक्षक 611 संजय शिवहरे एवं सायबर सेल धार से सायबर सेल प्राभारी संतोष पांडे, आरक्षक 223 प्रशांत, आरक्षक 201 शुभम का सराहनीय योगदान रहा।


Post A Comment:

0 comments: