*झाबुआ~मेघनगर कठपुतलियों की तरफ कौन नचा रहा है आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं को*~~

*बारिश हाई अलर्ट के बाद भी आयोजन करने की तानाशाही*~~

*जनप्रतिनिधियो को क्यों रखा है आयोजन से दूर*~~

झाबुआ से दशरथ सिंह कट्ठा की रिपोर्ट~~

झाबुआ जिले के मेघनगर की परियोजना अधिकारी अपनी हठधर्मिता के कारण हमेशा सुर्खियों में रही है , जिससे के फलस्वरूप उनके अधिनसथ कार्य करने वाले कर्मचारी भी परेशान है , या यूं कहें कि अपने ऑफिस में बैठ कर ही पूरी परियोजना की कमान संभाल रखी है , कहि कुछ भी हो उनको उससे क्या , ऐसा ही एक मामला सज्ञान में आया है जहाँ परियोजना मेघनगर द्वारा स्थानीय कम्युनिटी हाल में किशोरी बालिका का कार्यक्रम का आयोजन किया गया । इस आयोजन को लेकर समस्त आगनवाडी  कार्यकर्ताओं से अपने इलाके की किशोरी बालिकाओ को लाने के लिए कहा गया था मगर आयोजक को यह भी पता नही की पिछले कई घण्टो से लगातार बारिश हो रही ऐसे में  कौन  परिवार चाहेगा कि वह अपनी बेटी को भेजे क्योकि ऐसे में कई जगह तो वाहन सुविधा भी बंद हो गई थी ऐसे में  जैसे तैसे आगनवाडी कार्यकर्त्ता पानी मे भीगते हुवे कम्युनिटी हाल पहुँची , बताते है कि मेघनगर सेक्टर सुपर वाईजर के खोफ के चलते कई कार्यकर्त्ता जैसे तैसे इस कार्यक्रम में पहुची तो कुछ शाम तक अपने घर जाने के लिए वाहनों का इंतजार करती नजर आई ,


Post A Comment:

0 comments: