खंडवा~कलेक्टर श्रीमती सुन्द्रियाल ने पुनासा क्षेत्र में अतिवर्षा प्रभावित फसलों का लिया जायजा~~

एक दर्जन से अधिक ग्रामों का किया दौरा, अधिकारियों को सर्वे करने के दिए निर्देश~~

खंडवा रवि सलुजा ~~

कलेक्टर श्रीमती तन्वी सुन्द्रियाल ने गुरूवार को पुनासा तहसील के एक दर्जन से अधिक ग्रामों का दौरा कर वहां अतिवृष्टि के कारण प्रभावित कपास व सोयाबीन की फसल का जायजा लिया। इस दौरान मांधाता विधायक श्री नारायण पटेल भी मौजूद थे। भ्रमण के दौरान कलेक्टर श्रीमती सुन्द्रियाल ने खैगांव, मूंदी, पलसूद माल, जलवा बुर्जुग, देवला रैयत, खुटलाकलां, अटूटखास, सुलगावं, रिछफल, दौलतपुरा, धमनगांव, बांगरदा, मोहना, दियानतपुर, मकड़कक्ष, धारकवाड़ी, पलसूद रैयत आदि ग्रामों का दौरा किया। भ्रमण के दौरान कलेक्टर श्रीमती सुन्द्रियाल ने एसडीएम पुनासा व उपसंचालक कृषि  को निर्देश दिए कि राजस्व व कृषि विभाग के क्षेत्रीय कर्मचारियों के संयुक्त दल बनाकर फसल क्षति का सर्वे आज से ही प्रारंभ किया जाये। उन्होंने निर्देश दिए कि हर गांव में दो दल बनाकर सर्वे कराया जायें, जिसमें से एक दल बीमित फसल की जानकारी संकलित करें तथा दूसरा दल ऐसी फसल की जानकारी का सर्वे करें जिसका फसल बीमा किसानों ने नही कराया है।
कलेक्टर श्रीमती सुन्द्रियाल ने ग्राम खैगांव में बालाराम के खेत में जाकर कपास की फसल देखीं, जहां बालाराम ने बताया कि खेत में सफेद मक्खी का प्रकोप होने से फसल बिल्कुल खराब हो गई है। उन्होंने उपस्थित किसानों से कहा कि यदि फसल का बीमा है तो बीमा कम्पनी से राहत दिलाई जायेगी तथा यदि बीमा नही है तो राजस्व पुस्तक परिपत्र के नवीनतम प्रावधानों के तहत किसानों को हरसंभव मदद सरकार दिलायेगी। कलेक्टर श्रीमती सुन्द्रियाल ने किसानों से कहा कि बीमा कम्पनी के टोल फ्री नम्बर पर अपनी फसल क्षति की जानकारी नोट करायें। किसानों ने बताया कि टोल फ्री नम्बर पर कोई रिस्पोंस नही मिलता है, जिस पर कलेक्टर श्रीमती सुन्द्रियाल ने कहा कि फोन लगाने के बाद पटवारी की उपस्थिति में अन्य फसल बीमा अभिकर्ताओं के निर्धारित मोबाइल नम्बर पर भी फोन लगाए तथा इस बात का पंचनामा भी बना ले, ताकि यह रिकार्ड रहे कि किसानों ने बीमा कम्पनी को फोन लगाया था।
कलेक्टर श्रीमती सुन्द्रियाल ने भ्रमण के दौरान सभी ग्रामों के पटवारियों को निर्देश दिए कि वे सुबह 7 बजे से रात के 7 बजे तक अपने अपने क्षेत्र के ग्रामों में ही रूककर किसानों की फसल क्षति का सर्वे कर जानकारी संकलित करें तथा सुनिश्चित किया जाये कि 3 दिवस में सभी तहसीलों की जानकारी एकत्र हो जायें, ताकि फसल क्षति अनुसार किसानों को बीमा कम्पनी व राजस्व पुस्तक परिपत्र के निर्धारित प्रावधानों के अनुरूप राहत राशि दिलाने की कार्यवाही की जा सकें। उन्होंने ग्राम जलवा बुर्जुग में स्वरूप राठौर की सोयाबीन की फसल तथा मनोहर गेंदा की कपास की फसल का जायजा लिया। जबकि ग्राम पलसूदमाल में अशोक गेहलोत की सोयाबीन की फसल देखी।
कलेक्टर श्रीमती सुन्द्रियाल ने ग्राम अटूटखास , दियानतपुर में भारत सिंह पवार के खेत में जाकर कपास की फसल देखी तथा ग्राम सुलगांव में हरिराम देवकरण व रामचन्द्र ठाकुर की कपास की फसल तथा मथेला में चेतराम मौजीलाल की फसल का जायजा लिया। ग्राम देवला रैयत में किसान गणेश के कपास के खेतों में जाकर कलेक्टर श्रीमती सुन्द्रियाल ने फसल क्षति का जायजा लिया और उसे आश्वस्त किया कि फसल क्षति के लिए हर संभव राहत राशि उन्हें दिलाई जायेगी। कलेक्टर श्रीमती सुन्द्रियाल ने ग्राम अटूटखास में इंदर सिंह, जगराम, राधेश्याम व रमेश आदि किसानों के खेत में जा जाकर फसल क्षति का जायजा लिया। उन्होंने एसडीएम पुनासा को निर्देश दिए कि सोयाबीन व कपास की फसल के संबंध में बीमा कम्पनी के प्रावधानों की जानकारी ग्राम पंचायतों के सूचना पटल पर चस्पा की जाये, ताकि किसानों को फसल बीमा योजना की जानकारी रहे। भ्रमण के दौरान उपसंचालक कृषि के अलावा उपसंचालक पशु चिकित्सा, मुख्य कार्यपालन अधिकारी, जिला सहकारी बैंक, उपसंचालक उद्यानिकी, जनपद के मुख्य कार्यपालन अधिकारी सहित विभिन्न विभागीय अधिकारी मौजूद थे।


Post A Comment:

0 comments: