बड़वानी~कलेक्टर ने डूब प्रभावित ग्रामो में पहुंचकर सुनी रहवासियो की समस्या~~

बड़वानी /बड़वानी कलेक्टर श्री अमित तोमर ने शनिवार को भी सरदार सरोवर के बेक वाटर से डूब प्रभावित ग्राम मोरकट्टा, बोरखेड़ी, बिजासन एवं छीपाखेड़ी पहुंचकर जहाॅ डूब प्रभावितो की समस्या सुनी वही उन्हें समझाया कि नर्मदा का जल स्तर सत्त बढ रहा हैं इसके मद्देनजर वे अविलम्ब अपने गृहस्थी सामान एवं पालतू पशुओं के साथ सुरक्षित स्थानो पर चले जाये जिससे कोई जन धन हानि न होने पाये ।
कलेक्टर श्री अमित तोमर ने शनिवार को डूब प्रभावित ग्राम मोरकट्टा के देवगोला फलिया के घरो एवं खेतो का निरीक्षण किया । इस दौरान उन्होने रहवासियो को बताया कि अगर उन्हें किसी पैकेज की पात्रता है तो वह डूब क्षेत्र से बाहर जाने के पश्चात् भी मिलेगी । इसलिये वे अविलम्ब अपने गृहस्थी एवं पालतू पशुओं के साथ डूब की सीमा से बाहर उपलब्ध वैकल्पिक स्थानो पर चले जाये । जिससे कोई जन धन हानि न होने पाये ।
इस दौरान मौके पर उपस्थित सरपंच श्री सीताराम निंगवाल ने बताया कि अधिकांश लोग डूब की सीमा से बाहर स्थानांतरित हो गये है। जबकि अभी भी कुछ लोग 5.80 लाख के पैकेज के मद्देनजर यहाॅ पर रह रहे है इन लोगो को भी समझाया जा रहा है।
तत्पश्चात् कलेक्टर डूब प्रभावित ग्राम बोरखेड़ी पहुंचकर ग्रामवासियो एवं सरपंच श्री सुरेश डावर से चर्चाकर समुचित जानकारी प्राप्त की । इस दौरान ग्रामवासियो द्वारा ग्राम के चार फलियो तक जाने वाले कच्चे मार्ग के डूब जाने की जानकारी देने पर कलेक्टर ने मौके पर पहुंचकर स्थल का निरीक्षण किया । साथ ही मौके पर उपस्थित जनपद पंचायत पाटी के सीईओ श्री अभिषेक तिवारी को निर्देशित किया कि वे अविलम्ब प्राक्कलन बनवाकर सुदूर सड़क के तहत नवीन पहुंच मार्ग का निर्माण करवायेंगे। जिससे इन चार फलियो में रहने वाले लोगो को पुनः सुगम आवागमन का रास्ता मिल सके ।
इन ग्रामो का निरीक्षण पश्चात् बिजासन के पुर्नवास स्थल पर पहुंचकर कलेक्टर श्री तोमर ने नर्मदा बचाओं आन्दोलन की प्रमुख सुश्री मेधा पाटकर के साथ, लगे शिविर में डूब प्रभावितो की समस्याओं को भी सुना । साथ ही उपस्थितो को विश्वास दिलाया कि सर्वे के दौरान यदि कोई पात्र छूट गया था तो उसके आवेदन का परीक्षण करवाया जायेगा और जो लोग पात्र होंगे उन्हें शासन के निर्देशानुसार लाभान्वित कराया जायेगा । इस दौरान कलेक्टर ने सुश्री मेधा पाटकर एवं डूब प्रभावितो को बताया कि बोरखेड़ी, छीपाखेड़ी सहित अन्य स्थानो पर बने टापू की स्थिति का निवारण नवीन पहुंच मार्ग बनवाकर किया जा रहा है।
शिविर के दौरान कलेक्टर ने उपस्थितो से भी पुनः अनुरोध किया कि वे अपनी शिकायतो, मांगो से संबंधित आवेदन दे जिससे इन आवेदनो का परीक्षण करवाकर पात्रता ज्ञात की जा सके ।

कलेक्टर श्री तोमर ने अपने दौरे के दौरान छीपाखेड़ी के डूबे हुये पहुंच मार्ग के स्थान पर बन रहे नवीन वैकल्पिक मार्ग का भी निरीक्षण किया । इस दौरान उन्होने मौके पर उपस्थित एनव्हीडीए के कार्यपालन यंत्री श्री एसएस चैगड को भी निर्देशित किया कि बन रहे नवीन वैकल्पिक मार्ग का निर्माण दु्रतगति से पूर्ण करवाया जाये । जिससे वर्तमान समय में बोट के माध्यम से हो रहे आवागमन की अनिवार्यता को समाप्त करवाया जा सके ।


Post A Comment:

0 comments: