बड़वानी~नेशनल लोक अदालत है आपसी द्वेष मिटाने का सशक्त माध्यम - न्यायाधीश जोशी~~

बड़वानी /हमारी प्राचीन परंपरा मध्यस्थता के माध्यम से आपसी विवाद के समाधान की रही है तथा इस कार्य में परिवार एवं समाज के वरिष्ठजन महत्वपूर्ण भूमिका का निर्वाह करते है, किन्तु बदलते दौर में इस परम्परा का भी धीरे-धीरे हृास हो रहा है, फलस्वरूप मध्यस्थता के नए मानक के रूप में जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के माध्यम से आपसी विवादों एवं लंबित प्रकरणों के निराकरण में महत्वपूर्ण भूमिका का निर्वाह किया जा रहा है। उक्त बातें जिला एवं सत्र न्यायाधीश श्री रामेश्वर कोठे के मार्गदर्शन में आयोजित विधिक साक्षरता शिविर सह स्वास्थ्य  प्रशिक्षण में जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव न्यायाधीश श्री हेमन्त जोशी ने कही। उन्होने 14 सितम्बर को जिला न्यायालय सहित सभी तहसील स्तर पर न्यायालय में नेशनल लोक अदालत आयोजन की जानकारी देकर अधिक से अधिक लोगों को लाभान्वित करने की अपील की।
इस दौरान न्यायाधीश सुश्री आभा गवली ने महिला संरक्षण, बाल संरक्षण, घरेलू हिंसा एवं पास्को एक्ट की जानकारी आशा कार्यकर्ताओं एवं सहयोगिनियों को देकर हेल्पलाईन नंबर बताए।
प्रशिक्षण में मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ. अनिता सिंघारे ने कहा कि प्रशिक्षण के दौरान सीखीं गई बातों को अमल में लाकर बालमृत्यु रोकने एवं संपूर्ण टीकाकरण के साथ पोषण पर घर-घर जागरूकता लाने का आव्हान किया। उन्होने जमीनी स्तर पर ट्रीपल-ए समन्वय को स्वास्थ्य और पोषण का आधार बताया। इस दौरान अतिथियों के द्वारा सभी प्रशिक्षणार्थियों को प्रमाण-पत्र देकर सम्मानित किया। कार्यक्रम का संचालन जिला कम्युनिटी मोबीलाईजर श्री अशोक कनाड़े ने किया।
इस अवसर पर जिला दिव्यांग पुनर्वास केन्द्र के श्रीमती नीता दुबे, श्रीमती माधुरी भण्डारी आदि उपस्थित थे।


Post A Comment:

0 comments: