बड़वानी~कलेक्टर पहुंचे डूब प्रभावित ग्राम पिपलूद, 
ग्रामवासियो के साथ किया उनके घरो एवं खेतो का निरीक्षण~~

बड़वानी  / बड़वानी कलेक्टर श्री अमित तोमर ने डूब प्रभावित ग्राम पिपलूद का शुक्रवार को दौरा किया । इस दौरान उन्होने ग्रामवासियो से चर्चाकर जहाॅ उन्हें समझाया कि बढ़ते हुये नर्मदा के जल स्तर के मद्देनजर अविलम्ब डूब की सीमा से बाहर शिफ्ट हो जाये । जिससे कोई जन - धन हानि न होने पाये । इस दौरान उन्होने घरो तक पहुंच गये पानी को भी मौके पर पहुंचकर देखा ।
ग्राम के निरीक्षण के दौरान कलेक्टर श्री अमित तोमर ने चैपाल पर एकत्रित डूब प्रभावित महिलाओं से चर्चाकर उनकी समस्याओं को जाना । इस दौरान महिलाओं द्वारा पात्र होने के बाद भी उनका नाम 5.80 लाख वाले पैकेज में सम्मिलित नही होने की शिकायत पर कलेक्टर ने उन्हें विश्वास दिलाया कि यदि वे पात्र है तो यहाॅ से शिफ्ट होने के बाद भी उन्हें पैकेज की राशि दिलवाई जायेगी और अगर वे अपात्र है तो यहाॅ पर रहने के पश्चात् भी उन्हें पैकेज की राशि नही मिलेगी । इसलिये अच्छा है कि वे अविलम्ब डूब की सीमा से बाहर शिफ्ट हो जाये । जिससे बाद में उन्हें किसी प्रकार की परेशानी न उठाना पड़े ।
मौके पर उपस्थित ग्रामवासियो द्वारा यह बताने पर की ग्राम में कई ऐसे मकान भी डूब रहे है जिन्हें अपात्र की श्रेणी में रखकर उनके आवेदन निरस्त कर दिये गये थे । इस पर कलेक्टर ने ग्रामवासियो के साथ सम्पूर्ण ग्राम का दौराकर डूब रहे घरो का भी निरीक्षण किया । साथ ही मौके पर उपस्थित नोडल अधिकारी श्री अजय चैहान एवं तहसीलदार राजपुर श्री बीएस वाखला को निर्देशित किया कि वे प्रभावित परिवारो से उनकी शिकायत का आवेदन लेकर जिला कार्यालय में भेजेगे  जिससे एनव्हीडीए के  पदाधिकारियो से इनका सत्यापन रेकार्ड से करवाया जा सके । इस दौरान कलेक्टर ने ग्रामवासियो को विश्वास दिलाया की जो पात्र है किन्तु गलती से छूट गये है उन्हें परीक्षण उपरान्त समुचित पैकेज का लाभ दिलवाया जायेगा । किन्तु  डूब प्रभावित बढ़ते हुये नर्मदा के जल स्तर के मद्देनजर अविल्ब अपने परिवार के सदस्यों एवं गृहस्थी का सामान सुरक्षित स्थानो पर शिफ्ट करें । अगर इस कार्य में कोई मद्द की आवश्यकता है तो समुचित संसाधन उन्हें नोडल अधिकारी उपलब्ध करायेंगे ।
ग्राम के निरीक्षण के दौरान कुछ कृषको द्वारा उनके खेतो तक पहुंच मार्ग के डूब जाने की जानकारी मिलने पर कलेक्टर ने स्वयं स्थल का निरीक्षण कर मौके पर उपस्थित राजस्व निरीक्षक को निर्देशित किया कि वे आज ही प्रभावित कृषको के साथ उनके खेतो तक पहुंचकर वैकल्पिक मार्ग उपलब्ध कराने हेतु स्थल का चयन कर जिला कार्यालय को अवगत करायेंगे । जिससे इंजिनियरो से प्राक्कलन बनवाकर नवीन पहुंच मार्ग का निर्माण करवाया जा सके ।


Post A Comment:

0 comments: