*मनावर~जिस देश मे रहो उनके प्रति वफादार रहो सैय्यदना मुफद्दल सैफुद्दीन साहेब*~~

निलेश जैन मनावर~~

नगर के बोहरा समाज का धार्मिक पर्व मोहर्रम इमाम हुसैन के गम में मनाया जा रहा है।मोहर्रम की तारीख 5 को चौथी वाआज़ (प्रवचन) श्रीलंका के कोलंबो का रिकार्डेड वाआज़ का प्रसारण नगर की बोहरा बाखल स्थित जमाली मस्जिद में स्थानीय बोहरा समाज के आमिल साहेब जनाब यूसुफ भाई साहब ज़क़वी के नेतृत्व में बोहरा बाखल स्थित जमाली मस्जिद में ओडियो वीडियो बताया गया। सैय्यदना साहेब ने इस माह मोहर्रम पर कर्बला में 1400 साल पहले जो इमाम हुसैन(अ.स) और आपके अहलेबैत ओर असहाब पर जो जुल्मोसितम हुए याद में शहादत के बयान किये गए आपने बताया कि शरीयत के मुताबिक चलना चाहिये।नशा जैसे तम्बाखू सिगरेट शराब को हरगिज़ इस्तेमाल नही करना चाहिए। व्यापार करो तो हलाल का करो। सभी समाजजनो को संदेश देते हुए कहा कि ऐ व्यपारी कोम तुम खूब बिजनेस करते रहो और ईमानदारी से बिजनेस करो। बिजनेस माइंडेड रहो।सर्विस माइंडेड न रहो। किसी से धोखेबाज़ी न करो।ब्याज का व्यपार हरगिज़ न करो।बच्चों को कभी न मारना।बच्चों को कभी डॉटो न।नहलाने की खाने खाने की अदब सिखाओ खाना क़भी भी व्यर्थ न फेको।बच्चों को शराब खोरी, तंबाकू,जुआ जैसी चीज से हरगिज़ दूर रखो।वाआज़ के अंत मे आपने दुआई कलेमात में कहा खुदाताला तुम्हारे घर मालामाल से भर दे तुम्हे आबाद-शाद बाकी रखे एक मौला हुसैन के सिवा कोई गम न दिखाऐ। नबी मोहम्मद रसूलल्लाह का पैगाम है कि वतन की मोहब्बत ईमान का हिस्सा है।जिस देश शहर गाँव में रहो वहाँ की वफादार रहो।वहाँ की खुशहाली और तरक्की में पूरा योगदान दो।51वे दाई सय्येदना ताहेर सैफुद्दीन साहेब (रि.अ.) और 52 वे दाई सैय्यदना मोहम्मद बुरहानुद्दीन साहेब (री.अ)  का भी यह सन्देश रहता था कि जहाँ पर रहो वहाँ की तरक्की और खुशहाली में योगदान देते हुए उस देश के बेहतर नागरिक बनो।बोहरा समाज के अली असगर खड़किवाला ने बताया कि इस वर्ष मोहर्रम पर्व पर नगर में सामूहिक भोजन ताहेरी कमेटी के द्वारा किया जा रहा है।नगर की 2 कमेटी ताहेरी एवं बुरहानी कमेटी सबील हुसैन लगाकर दूध और शर्बत पिलाया जा रहा है।


Post A Comment:

0 comments: