पाटी~पाटी सिलावद  मार्ग के बीच ग्राम थेंनचा में पुलिया हुई टूटकर क्षतिग्रस्त*~~

कमल खरते पाटी~~

*पाटी:-*- नगर से 10 किलोमीटर दूर पाटी से सिलाद मार्ग में ग्राम  थैनचा में सड़क की पुलिया टूट कर क्षति ग्रस्त होने से पुलिया के बीच गड्ढे हो गए । जिससे पुलिया पर पानी रुक जाता है ,लोगों को आने-जाने में परेशानी का सामना करना पड़ रहा है ,ग्राम  थैनचा के निवासी बूट सिंह सोलंकी ने बताया कि रोड निर्माण कार्य के समय निर्माण एजेंसी को पुलिया की उचाई लेनी थी । लेकिन ठेकेदार द्वारा उसकी मनमर्जी से पुलिया का निर्माण करवाया, ओर पुलिया की ऊंचाई नहीं ली उसी लेवल में पुलिया निर्माण कर दिया जिससे बारिश का पानी वही पर ठहर जाता है , पुलिया निर्माण के समय उसे उसी ढलान में बनाना था, ताकि पुलिया ऊपर पानी का रुकाव न हुए, गड्ढे में ही पुलिया का निर्माण कर दिया। जिससे बारिश के समय लोगों को आने जाने में खासी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है । जब दो पहिया वाहन चालक अपना वाहन एक किनारे से दूसरे किनारे ले जाने के लिए वाहन को पानी से भरे उस टूटे हुए पुलिया से वाहन निकालते है तो वाहन बीच में ही बंद हो जाता है क्योंकि दोपहिया वाहन पानी की गहराई होने के कारण डूब जाता है बीच में पुलिया भी क्षतिग्रस्त हो गई है जिससे बड़े-बड़े गड्ढे होने से वाहन चालकों का संतुलन भी बिगड़ जाता है और वह बीच में ही अपने वाहन को गिरा देते हैं । ऐसे कई वाहन चालक गिर चुके हैं और उन्हें चोटें भी आई है प्रशासन की इस की इस लापरवाही के कारण लोगों को आने-जाने में खासी परेशानी का सामना करना पड़ता है इस समस्या को लेकर ग्रामीणों ने प्रशासन से मांग की है कि टूटी हुई पुलिया को क्षति ग्रस्त करवाएं ताकि पुलिया के ऊपर पानी ना रुके और आने जाने वाले लोगों व दो पहिया वाहनों को परेशानी का सामना नही करना पड़े । ऐसी स्थिति में जब कोई गांव में बीमार हो जाता है तो उसे दो पहिया वाहन से अस्पताल लाना पडा तो वह उसे पुलिया कैसे पार करायेगा जिससे बीमार की हालत भी ओर खराब हो सकती है इस स्थिति में घटना दुर्घटना की भी आशंका बनी हुई है इसकी जिम्मेदार प्रशासन होगी। सामाजिक कार्यकर्ता पांडु सोलंकी ने बताया कि रोड़ निर्माण कार्य मे भी अनियमितता पाई गई है, रोड़ को गुणवत्तापूर्ण नही बनाया गया जिसकी वजह से कई जगह डामर उखड़ गया, संबंधित विभाग इसे अवगत कराकर रोड़ सहित पुलिया को सुधारें।


Post A Comment:

0 comments: