बड़वानी~आशाग्राम में उपचार के साथ स्वावलंबन का जीवन जियेगा भोला~~

बड़वानी /आज भी सुदूर अंचल में कुष्ठ रोग के प्रति लोगों में नकारात्मक सोच, चिन्तनीय है । जबकि इस बीमारी के सफल उन्मूलन हेतु शासन दशको पूर्व से गुणवत्तायुक्त दवाईयांे का वितरण निःशुल्क कर रहा है। साथ ही विभिन्न प्रचार माध्यमो एवं सर्वे के दौरान भी घर-घर समुचित जानकारी भी देकर लोगों को जागरूक कर रहा है।
ऐसे ही अनभिज्ञता के कारण कहें या अंधविश्वास के शिकार खेतिया के निवासी भोला (परिवर्तित नाम व पता) को लगभग आधा दर्जन परिजन, उसे वाहन से लेकर आशाग्राम बड़वानी पहुंचे। यहां उन्होने ट्रस्ट के सचिव डाॅ. शिवनारायण यादव से मिलकर भोला को स्थाई रूप से आशाग्राम में रखने के लिए पत्र सौंपा। इस पर डाॅ. यादव ने उनसे मरीज के पूर्ण उपचार एवं स्वस्थ्य होने के बाद पुनः अपने घर ले जाने की लिखित सहमति लेने के पश्चात् ‘‘भोला‘‘ का पंजीयन जिला कुष्ठ विभाग में करवाकर उसका उपचार प्रारंभ करवाया व आशाग्राम में उसे कुष्ठ अंतःवासी के रूप में आश्रय दिया । इस वाक्ये के द्रवित डाॅ. यादव बताते है कि हमारा प्रयास होता है कि मरीज पूर्ण उपचार एवं स्वस्थ्य होने के पश्चात् अपने घर-परिवार में लौट जाए। जिससे वह समाज की मुख्य धारा में रहकर परिवार के अपनत्व एवं सहयोग से सामान्य जीवन जी सके।


Post A Comment:

0 comments: