झाबुआ~देव मुरारी बापू को मिली जान से मारने की धमकी,~~

कांग्रेस के खिलाफ  प्रचार करने पर-पुलिस थाने पर आवेदन देकर बापू ने दर्ज करवाई शिकायत~~





झाबुआ। संजय जैन~~

कांग्रेस के खिलाफ  प्रचार के लिए झाबुआ आए आचार्य देव मुरारी बापू को 18 अक्टूबर, शुक्रवार दोपहर करीब 3 बजे उनके मोबाईल पर एक कॉल आया, जिसमें एक युवक ने उनके साथ अपशब्दों का प्रयोग करते हुए उन्हें कांग्रेस के विपक्ष में प्रचार नहीं करने के लिए धमकाते हुए तथा नहीं मानने पर जान से मारने की भी दी। घटना के बाद कॉल आडियों तेजी से सोश्यल मीडिया पर वायरल हुआ और बापू ने देर शाम तक पुलिस थाना झाबुआ पहुंचकर इस संबंध में लिखित षिकायत दर्ज करवाई।





-धोखा किया संत-साधु समाज के साथ कांग्रेस की कमलनाथ सरकार ने .......





आचार्य देव मुरारी बापू से बातचीत की जिसमें उनके झाबुआ आने का कारण पूछने पर उन्होंने बताया कि झाबुआ में पिछले 3 दिनों से वे झाबुआ विधानसभा उप-चुनाव में कांग्रेस के खिलाफ  प्रचार करने आए है। कारण पूछने पर उन्होंने बताया कि कांग्रेस की कमलनाथ सरकार ने मप्र में संत-साधु समाज के साथ धोखा किया है। उन्होंने सरकार में आने से पूर्व जो वादे इस समाज के लिए किए थे उसे पूरे नहीं किए। कम्प्यूटर बाबा आज जो कमलनाथ सरकार की चापलूसीगिरी कर रहा है। उन्हें कमलनाथ द्वारा लोक-लुभावन देने से वे उनके पीछे घूम रहा है, लेकिन असलियत में प्रदेश में साधु-संत समाज में कमलनाथ सरकार के खिलाफ  तीव्र आक्रोश है।





-पूजारियों के परिवारों को नहीं मिले मकान और ना मिल रहीं पेंशन.....





जब उनसे पूछा गया कि वह भाजपा के लिए अपनी क्या राय रखते है.... ? तो उन्होने कहा कि भाजपा से भी उनका तामलेल कभी नहीं बैठा। दरअसल दोनो ही पार्टियां चुनाव से पूर्व लोक लुभावन वादे तो करती है और चुनाव जीतने के बाद हिन्दू समाज, विशेषकर संत-साधु समाज के लिए कुछ नहीं करती। बापू ने कहा कि कमलनाथ सरकार में प्रदेश में मंदिरों में पूजारियों की हत्याएं हो रहीं है। पूजारियों को परिवारों को आजभी सरकार ने रहने के लिए मकान और सरकारी पेंशन देने आदि देने की व्यवस्था नहीं की है, केवल थोथी घोषणाएं कर उन्हे उपेक्षित किया जा रहा है।





-पुलिस थाने पर दिया है लिखित आवेदन, एफआईआर नहीं की दर्ज.....





बापू से पूछने पर कि क्या आपको मोबाईल पर कोई धमकी मिली है ....? तो बापू ने बताया कि शुक्रवार दोपहर करीब 3 बजे उनके मोबाईल पर अननोन नंबर से फोन आया और उसमें युवक की आवाज में मुझसे पूछा गया कि तू झाबुआ में किसके खिलाफ  प्रचार कर रहा है.....? प्रचार बंद कर दे, नहीं तो जान से मारा जाएगा। बापू द्वारा पूछने पर कि कौन बोल रहा है....? तो कहा तेरा बाप जमीन से बोल रहा हूॅ। साथ ही वार्तालाप के दौरान लगातार अपशब्दों का भी प्रयोग किया गया। बाद देव मुरारी बापू ने पुलिस थाना झाबुआ पहुंचकर इस संबंध में लिखित आवेदन देकर शिकायत दर्ज करवाई, श्री बापू ने बताया कि उनकी एफआईआर करने की मांग थी, लेकिन पुलिस ने एफआईआर नहीं लिखी।





 




Post A Comment:

0 comments: