*मनावर ~मनावर सिंघाना गंधवानी बाकानेर के कपास व्यापारियों ने दी अनिश्चितकालीन हड़ताल की चेतावनी* ~~
                                    
*जब देश में एक राष्ट्र एक कर की धारणा बन रही है तो फिर एमपी में अन्य राज्यों  की तुलना में मंडी टैक्स क्यो बढे हुए है*~~

निलेश जैन मनावर ~~

आज मध्यांचल कॉटन जिंनीग एंड ट्रेडर्स एसोसिएशन तथा संपूर्ण मध्य प्रदेश में कॉटन उद्योग की एसोसिएशन द्वारा कपास उद्योग तथा कृषकों के हीत में प्रदेश कृषि उपज मंडी के रतलाम, कुक्षी ,अंजड़, बड़वाह, खरगोन, करही , खंडवा, धामनोद , मनावर , गंधवानी, बाकानेर ,सनावद के व्यापारियों एवं उद्योगपतियों द्वारा सर्वसम्मति से निर्णय लिया गया । विगत वर्ष में कपास पर टैक्स कम करने का मध्यप्रदेश शासन एवं कृषि मंत्री से आग्रह किया गया था। जिस पर मध्य प्रदेश सरकार एवं कृषि मंत्री द्वारा व्यापारियों के हित में अभी तक कोई निर्णय नहीं लेने के कारण एवं व्यापारियों की उपेक्षा करने के कारण कॉटन एसोसिएशन द्वारा दिनांक 18 अक्टुबर से अनिश्चितकालीन हड़ताल कर मंडी नीलामी कार्य में भाग नही लेकर खरीदी बंद करने की बात कही है। ज्ञापन में कहा कि अन्य राज्यों की तुलना मे मध्य प्रदेश मे मंडी टैक्स बहुत ज्यादा है। इसे उनके समकक्ष करने के क्षेत्र के कपास और जीनिंग व्यापारियो ने मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन दिया । ज्ञापन में बताया कि सीमावर्ती राज्यो मे जो टैक्स है, उसके अनुसार एमपी में उसे लागू किया जाए।जब देश में एक राष्ट्र एक कर की धारणा बन रही है तो फिर एमपी में अन्य राज्यों  की तुलना में मंडी टैक्स क्यो बढे हुए है।व्यापारियो ने कपास पर मंडी टैक्स एक समान करने की माँग की है। आज 11                               अक्टूबर शुक्रवार को एसडीएम सत्यनारायण दर्रो को कपास जीनिंग एसोशियन के मोहनलाल खंडेलवाल गंधवानी, विनोद दोषी बाकानेर रमेशचंद्र खटोड़ मनावर, मनीष गर्ग सिंघाना, सतीश खण्डेलवाल, उदित माली,पंकज गोधा, चिराग खण्डेलवाल,अनिल गोले आदि कॉटन एसोसिएशन द्वारा ज्ञापन दिया गया इस अवसर पर क्षेत्र के कई व्यापारी मोजूद थे ।


Post A Comment:

0 comments: