बड़वानी~~नई पीढ़ी को संस्कृति से जोड़े रखना मुख्य लक्ष्य है स्पीक मैके का~~

बड़वानी / नई पीढ़ी को अपनी गौरवशाली संस्कृति व परम्परा से जोड़े रखना ही स्पीक मैके का मुख्य लक्ष्य है । इसी उद्देश्य के तहत स्पीक मैके अपने मिशन को आगे बढ़ा रही है।
संस्था के बड़वानी चेप्टर के कार्यक्रम संयोजक श्री अनिल जोशी ने बताया की नई पीढ़ी को शिक्षा के साथ - साथ संस्कारवान बनाना अत्यन्त आवश्यक है। राष्ट्र के संर्वागीण विकास के लिए जरूरी है कि युवा पीढ़ी जीवन मूल्यों को आत्मसात करें। इसमें भारतीय शास्त्रीय संगीत की भूमिका महत्वपूर्ण है। साहिल्य, संगीत और विज्ञान के अंत तत्वो का ज्ञान ही जीवन का मूल्य है। उन्हीं मूल्यो से समाज का निर्माण होता है।
युवाओं का रूझान अपनी संस्कृति व परम्परा के प्रति बना रहे इसी दिशा में दिल्ली स्पीक मैके सत्त प्रयत्नशील है। जिसके कारण आज बहुत से युवा पाश्चात्य संस्कृति व संगीत को तिलाजंली  देकर शास्त्रीय संगीत से जुड़ रहे है। इसी क्रम में स्कूल, कालेजो में चरण बद्ध ढंग से शास्त्रीय संगीत के कार्यक्रम आयोजित किये जा रहे है। 
उन्होने बताया कि 14 से 19 अक्टूबर तक बड़वानी जिले की विभिन्न शैक्षणिक संस्थाओं, स्कूलो तथा कालेजो में स्पीक मैके की अंतर्राष्ट्रीय कत्थक नृत्यांगना सुश्री मोउमाला नायक कत्थक नृत्य कार्यशालाओं का आयोजन कर विद्यार्थियो को भारतीय नृत्य शैली एवं उसकी बारीकियो से अवगत करायेंगी ।


Post A Comment:

0 comments: