बड़वानी~कन्या महाविद्यालय में गुरूनानक देवजी की 550वीं वर्षगाँठ पर हुआ व्याख्यान माला का आयोजन~~

बड़वानी / शासकीय कन्या महाविद्यालय बड़वानी व्यक्तित्व विकास प्रकोष्ठ के अन्तर्गत गुरूनानक देवजी के 550वीं जयंती के अवसर पर व्याख्यान माला का आयोजन किया गया। जिसमें गुरूसिंघ सभा के अध्यक्ष श्री एच.पी.एस. भाटिया ने व्याख्यान दिया ।
संस्था के प्राचार्य डाॅ. पी गौतम से प्राप्त जानकारी कार्यक्रम के दौरान सुश्री सीमा भाटिया ने सिक्ख धर्म के बारे में, डाॅ. कविता भदौरिया ने प्रकाश पर्व की व्याख्या करते हुए लंगर प्रथा के बारे में, श्री देवेन्द्र भाटिया ने सिक्ख धर्म की मुख्य बातों पर प्रकाश डाला । इस दौरान  श्री एच.पी.एस. भाटिया ने बताया कि गुरूनानक जी  ने गृहस्थ जीवन को भी प्राथमिकता दी है और स्त्रीयों को समाज में समान दर्जा दिये जाने पर जोर दिया  है । सारे धर्म के लोग उनके शिष्य थे, जब गुरू नानक देवजी ने समाधी ली तो उनके अंतिम संस्कार में हिन्दु और मुसलमान दोनों ने अपने - अपने तरीके से संस्कार किया। कार्यक्रम का संचालन डाॅ. दिनेश सोलंकी एवं आभार सुश्री शिवाली पटेल द्वारा किया गया।
इस अवसर पर महाविद्यालय के प्राध्यापक डाॅ. कविता भदौरिया, डाॅ. स्नेहलता मुझाल्दा, डाॅ. जगदीश मुजाल्दे, डाॅ. कुँवर सिंह चैहान, डाॅ. महेश कुमार निंगवाल, डाॅ. मनोज वानखेड़े, डाॅ. विक्रम सिंह चैहान, डाॅ. दिनेश सोलंकी,  प्रो. सीमा भाटिया, प्रो. अंकिता भावसार, प्रो. दिपाली पाटीदार, प्रो. दिपाली निगम, प्रो. देवहूति खण्डाईत,  प्रो. प्रियंका शाह, प्रो. मीनाक्षी वर्मा व छात्राएँ उपस्थित थी ।


Post A Comment:

0 comments: