बड़वानी~‘‘तीसरा विष्व युद्ध पानी के लिए होगा’’~~

बड़वानी/ संयुक्त राष्ट्र संघ के महासचिव ने वर्षों पहले कहा था कि यदि भविष्य में तीसरा विष्व युद्ध होता है तो उसकी वजह पानी होगी। पानी की कमी और जल -भंडारों पर कब्जा करने के प्रयास विष्वयुद्ध के रूप में परिणत हो सकता है। इससे स्पष्ट होता है कि जल का कितना महत्व है और उसका संरक्षण करना आज की अपरिहार्य आवष्यकता है। युवाओं में जल संसाधन के प्रति जागरूकता उत्पन्न करने के लिए एक निबंध प्रतियोगिता का आयोजन किया जा रहा है। निबंध लेखन का विषय है- ‘पानी की बचत, आज की जरूरत’। ये बातें प्राचार्य डाॅ. आर. एन. शुक्ल के मार्गदर्षन में संचालित किये जा रहे शहीद भीमा नायक शासकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय, बड़वानी के स्वामी विवेकानंद कॅरियर मार्गदर्षन प्रकोष्ठ की

कार्यकर्ता प्रीति गुलवानिया और किरण वर्मा ने बताईं। उन्होंने कहा कि रोटरी क्लब और प्रतियोगिता घटनाचक्र, हिन्दी मासिक पत्रिका की ओर से यह प्रतियोगिता आयोजित की जा रही है। इसमें प्रथम पुरस्कार 5100, द्वितीय पुरस्कार 3100 और तृतीय पुरस्कार 2100 रुपये प्रदान किये जाएंगे। निबंध एक हजार से बारह सौ शब्दों में हिन्दी मंे लिखना है। निबंध घर से लिखकर कॅरियर सेल में जमा करायें। निबंध लेखन के संबंध में मार्गदर्षन प्राप्त करने और अन्य जानकारियों के लिए कॅरियर सेल में संपर्क किया जा सकता है। कॅरियर काउंसलर डाॅ. मधुसूदन चैबे ने बताया कि पीएससी और यूपीएससी की मुख्य परीक्षाओं में भी निबंध लेखन के प्रष्नपत्र होते हैं। यह प्रतियोगिता विद्यार्थियों में निबंध लेखन की समझ विकसित करेगी और उन्हें अपना आकलन करने का अवसर देगी।


Post A Comment:

0 comments: